16 साल के बच्चे ने भी कर दिया एप्पल का सर्वर हैक, सबसे सु​रक्षित का दावा निकला खोखला

50 year old man got free apple iphone se in the grocery basket

एप्पल विश्व के उन चुनिंदा ब्रांड में से एक है जिसे न सिर्फ हाई स्टेटस से जोड़ कर देखा जाता है ​बल्कि इसके प्रोडक्ट्स को टेक जगत में सबसे सुरक्षित और भरोसेमंद माना जाता है। अपनी पहचान के अनुरूप एप्पल भी अपने यूजर्स का खास ख्याल रखती है और उनके डाटा की सुरक्षा का भी ध्यान रखती है। एप्पल के फैन दुनियाभर में हैं लेकिन एक एप्पल फैन एप्पल के सर्वर हैक कर ​पूरे संसार में सनसनी पैदा कर दी। इस फैन की उम्र यूं तो सिर्फ 16 साल है लेकिन इसने एप्पल सर्वर को हैक कर एप्पल कंपनी के साथ साथ एफबीआई तक को हिलाकर रख दिया।

16 साल के इस हैकर को हम एप्पल फैन इसलिए कह रहे हैं क्यूंकि यह लड़का स्वयं एप्पल में काम करना चाहता था। इस 16 साल के बच्चे का सपना विश्व की प्रतिष्ठित कंपनी एप्पल में काम करने का था, लेकिन इस बच्चे ने एप्पल सर्वर को ही हैक कर पूरे टेक जगत को चौंका दिया है। मामला कुछ ऐसा है कि आस्ट्रेलिया में रहने वाले एक 16 साल के बच्चे ने अपने घर बैठे बैठे ही एप्पल सर्वर को हैक कर लिया और कंपनी सर्वर से एप्पल यूजर्स के 90 जीबी से अधिक डाटा को अपने कब्जे में कर लिया।

hacker-1

मीडिया रिपोर्ट अनुसार 16 साल के एक बच्चे ने एप्पल सर्वर में जाकर निजी जानकारी व पासवर्ड्स समेत कई जरूरी डाटा को हैक कर लिया। हैरानी की बात यह भी है कि एप्पल सर्वर से डाटा चुराने के दौरान कंपनी को इस बात की भनक तक नहीं लगी और इस बच्चे की पहचान पूरी तरह से गुप्त रही। इस किशोर ने इस डाटा का स्क्रीनशॉट लेकर अपने दोस्तों को व्हाट्सऐप पर शेयर भी कर दिया।

एक्सक्लूसिव : शाओमी मी 8 आने वाला भारत, कीमत होगी 30,000 रुपये से कम

एप्पल ने यह तो मान लिया कि कंपनी के सर्वर में सेंध लगी है लेकिन एप्पल का कहना है कि किसी भी यूजर का पर्सनल डाटा चोरी नहीं हुआ है। हैकिंग की गंभीरता को समझते हुए एप्पल ने सीधे एफबीआई (फैडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन) से संपर्क साधा और हैकिंग की शिकायती की। छानबीन के बाद एफबीआई ने इस मामले को ऑस्ट्रेलियन फैडरल पुलिस के सुपुर्द कर दिया और फिर इस एजेंसी ने बच्चे को ट्रैक कर उसके घर पर छापा मारा और उसे गिरफ्त में लिया।

apple-store

रिपोर्ट के अनुसार किशोर के घर छापा मारने पर दो लैपटॉप, एक मोबाइल फोन और एक हार्ड ड्राइव मिली। बच्चे की नादानी तो देखिए, इसने अपने लैपटॉप के डेस्कटॉप पर ही ‘हैक, हैक हैक’ नाम से फोल्डर बनाकर उसी में सारा हैक किया हुआ डाटा सेव किया हुआ था। सुरक्षा एजेंसी ने बच्चे के साथ ही उसका सारा सामान कब्जा लिया है और पुष्टि कर दी है कि इसी 16 साल के बच्चे के विश्व की सबसे बड़ी टेक कंपनियों में शुमार एप्पल के सर्वर को हैक किया है।

नॉच डिसप्ले के साथ 5 सबसे सस्ते एंडरॉयड स्मार्टफोन

नाबालिक होने के चलते सुरक्षा एजेंसी ने बच्चे की नाम व पहचान को गुप्त रखा है। मीडिया रिपोर्ट से पता चला है कि एप्पल सर्वर में सेध लगाने वाले इस 16 साल के मास्टरमाइंड को 20 सितंबर को सजा सुनाई जाएगी। जो बच्चा एप्पल में काम करना चाहता था उसी ने सर्वर को हैक क्यूं किया इस बात से अभी तक पर्दा नहीं उठ पाया है। वहीं दूसरी ओर एप्पल का यही कहना है कि बेशक सर्वर में हैकिंग हुई हो लेकिन यूजर्र का पर्सनल डाटा कंपनी के पास पूरी सुरक्षित है।