अगर आप हैं एंडरॉयड फोन यूजर तो ये 20 फीचर्स हैं बड़े काम के

Photo: norebobo.com

एंडरॉयड फोन आपके हाथ में हो तो अक्सर आप उससे कुछ नया करने की कोशिश करते हैं। फोन को लेकर खाली नहीं बैठ सकते। इसका कारण यह है कि एंडरॉयड फोन में सीखने के लिए इतना कुछ है कि आप छह महीने भी उपयोग करें तो भी कुछ न कुछ रह ही जाता है। फोन में कई ऐसी चीजें होती हैं जिससे आप न सिर्फ अपने फोन को उपयोग में आसान बना सकते हैं बल्कि उसे सुरक्षित भी रख सकते हैं। आगे हमनें एंडरॉयड फोन के ऐसे ही कुछ फीचर्स की जानकारी दी है जो आपके लिए बेहद उपयोगी हैं।

1. ब्लोडवेयर को करें डिसेबल या अनइंस्टॉल
आप फोन की खरीदारी करते हैं तो उसमें कई ऐसे ऐप्स होते हैं जो प्रीलोडेड होते हैं। उनमें से ढेर सारे ऐप्स आपके लिए बिना काम के होते हैं। ये ऐप फोन की इंटरनल मैमोरी, इंटरनेट और बैटरी चूसने का भी कार्य करते हैं। ऐसे में आप इन्हें अनइंस्टॉल कर दें तो ज्यादा बेहतर है। हालांकि कुछ ऐप अनइंस्टॉल नहीं होते। ऐसे में आप उन्हें डिसेबल कर सकते हैं जिससे वे डाटा और नोटिफिकेशन आदि का उपयोग नहीं कर सकेंगे।
android-smartphone-1
2. एंडॉप्टेबल स्टोरेज का करें उपयोग
शायद आपको मालूम नहीं कि आप अपने फोन में लगे माइक्रोएसडी का उपयोग भी इंटरनल मैमोरी के रूप में कर सकते हैं। हालांकि यह आॅप्शन एंडरॉयड आॅपरेटिंग सिस्टम 6.0 मार्शमेलो या इससे ऊपर के संस्करण में उपलब्ध है। जिन फोन में कम मैमोरी उपलब्ध है उसमें यह फीचर बड़े काम का होता है। आप कार्ड में ही आॅपरेटिंग सिस्टम सहित अन्य फाइलों को स्टोर करते हैं। यह आॅप्शन आपको स्टोरेज में मिलेगा।

10 कारण जानें आईफोन से क्यों बेहतर है एंडरॉयड फोन

3. रिस्ट्रिक्ट बैक ग्राउंड डाटा
यदि आपको लग रहा है कि आपके फोन का डाटा तेजी से खत्म हो रहा है तो आप फोन में बैकग्राउंड डाटा रिस्ट्रिक्ट कर सकते हैं। इससे वो ऐप जो यूज नहीं हो रहे हैं और डाटा का उपयोग कर रहे हैं वे नहीं करेंगे। डाटा का उपयोग तभी होगा जब आप ऐप्स को आॅन करेंगे। बैकग्राउंड डाटा को रिस्ट्रिक्ट करने के लिए सबसे पहले आपको फोन की सेटिंग में जाकर डाटा का चुनाव करना है और वहां से मेन्यू में जाना है।

4. डू नॉट डिस्टर्व
अक्सर ऐसा होता है कि आप चाहते हैं कि कोई कॉल न करें और या फोन में किसी तरह का मैसेज या नोटिफिकेशन की घंटी न बजे। अक्सर आप यह तब चाहते हैं जब आप सोने जा रहे हों या रेस्ट कर रहे हों। हालांकि ऐसे के जरूरी नहीं है कि आप फोन को आॅफ करें बल्कि आप डू नॉट डिस्टर्व का चुनाव कर सकते हैं। इसमें आपका फोन आॅन भी रहेगा, सभी तरह के मैसेज भी आएंगे और कॉल भी लेकिन जरा भी शोर नहीं होगा। डू नॉट डिस्टर्व का विकल्प वॉल्यूम बटन प्रेस करने पर आएगा।
android-security
5. स्मार्ट लॉक
आप घर में हैं और बार-बार फोन को अनलॉक करना नहीं चाहते। ऐसे में आप अपने फोन में ट्रस्टेड प्लेस का विकल्प सेट कर सकते हैं। घर में आते ही फोन खुद ही अनलॉक हो जाएगा। इतना ही स्मार्ट लॉक अपने फेस को सेट कर सकते हैं। आपका फोन आपका फेस देखकर की ही खुलेगा। दूसरे के फेस से नहीं। यदि फिंगरप्रिंट सेसर है तो भी आप ट्रस्टेड फेस सेट कर सकते हैं। स्मार्ट लॉक का विकल्प आपको सेटिंग में ​सिक्योरिटी के अंदर मिलेगा।

चोरी होने से बचाना चाहते है अपना एंडरॉयड फोन तो ये 6 टिप्स हैं बड़े काम के

6. आॅटो फोटो बैकअप
फोन में सबसे ज्यादा स्पेस फोटो और वीडियो में चला जाता है। ऐसे में यदि आपके फोन की मैमोरी कम है तो गूगल पर अपने फोटो का आॅटो बैकअप ले सकते हैं। गैलेरी में ही फोटो को आॅटो बैकअप का विकल्प मिलेगा। इतना ही नहीं खास बात यह कही जा सकती है कि आॅटो बैकअप में आप क्वालिटी भी सेट कर सकते हैं कि आप को हाई रेजल्यूशन में आॅटो बैकअप चाहिए का लो रेजल्यूशन में इससे फोन की मैमोरी काफी खाली होगी। गूगल ड्राइव पर आप 15जीबी तक का बैकअप ले सकते हैं।

जानें कौन कर रहा है आपके वाईफाई की चोरी

7. स्क्रीन सर्च
गूगल में किसी शब्द या किसी चीज के बारे में सर्च करने के लिए आपको पहले ब्राउजर खोलने और उसमें टाइप करने की जरूरत नहीं है बल्कि किसी चीज को सर्च करना चाहते हैं तो बस उस पर कुछ दे टच करके रखना है। कुछ ही सेकेंड में नीचे गूगल का विकल्प दिखाई देगा आप उस पर टच करेंगे तो वहीं सर्च शुरू हो जाएगा।
pinning
8. स्क्रीन पिनिंग
यदि आप अपना फोन किसी दूसरे को देते हैं तो स्क्रीन पिनिंग बेहद खास है। यदि आप स्क्रीन पिनिंग कर आपना फोन किसी को देते हैं तो दूसरे व्यक्ति को सिर्फ इतना ही अधिकार होगा कि वह सिर्फ उसी फीचर का उपययोग कर सके। अन्य फीचर्स लॉक रहेंगे। स्क्रीन पिनिंग करने के लिए आपको सबसे पहले फोन की सेटिंग में जाना है। यहां से सिक्योरिटी का चुनाव करना है नीचे स्क्रीन पिनिंग का विकल्प मिलेगा उसे आॅन कर दें। अब होम पर आकर उस ऐप्लिकेशन को ओपेन करें जिसे पिन करना है। इसके बाद टास्क मैनेजर बटन को क्लिक करें यहां उस ऐप्लिकेशन के साथ पिन दिखाई देगा। आपको उस पिन को टच करना है। इसके साथ ही वह ऐप्लिकेशन खुलकर सामने आ जाएगी और फिर सिर्फ उसी ऐप्लिकेशन का उपयोग किया जा सकता है।

9. ​डी बगिंग
यदि आपके एंडरॉयड फोन सही तरह से यूसबी से कनेक्ट नहीं हो रहा है तो आप अपने फोन में डी बगिंग फीचर को आॅन कर सकते हैं। यदि आप अपने पीसी के माध्यम से अपने एंडरॉयड फोन को पूरी तरह से कंट्रोल करना चाहते हैं तो भी ​डी बगिंग आपके लिए कारगर है।

10. नोटिफिकेशन करें डिसेबल
एंडरॉयड फोन में स्क्रीन नोटिफिकेशन से भरा मिलता है। इसमें सबसे ज्यादा नोटिफिकेशन न्यूज ऐप और ईकॉमर्स ऐप भेजते हैं। ऐसे में आप चाहें तो इन ऐप से नोटिफिकेशन को डिसेबल कर सकते हैं। इसके लिए सेटिंग में जाकर ऐप्स का चुनाव करें। इसके बाद उस ऐप का क्लिक करें जिसका नोटिफिकेशन बंद करना चाहते हैं। दाईं ओर उपर में ही आपको शो नोटिफिकेशन का विकल्प मिलेगा उसे अनचेक कर दें। इसके साथ ही आपका काम हो गया। कई फोन में अलग से नोटिफिकेशन का विकल्प होता है वहां से एक साथ कई ऐप के नोटिफिकेशन बंद किए जा सकते हैं।
sostware-update
11. फोन करें फैक्ट्री रिसेट
आपका फोन हैंग हो रहा है, गर्म हो रहा है या फिर बार—बार रिस्टार्ट हो रहा है। इन समस्याओं का निदान आप फैक्ट्री रिसेट करके कर सकते हैं। फोन को फैक्ट्री डाटा रिसेट करने के लिए आपके फोन की सेटिंग में जाकर बैकअप एंड रिसेट का चुनाव करना है। यहां आपको फैक्ट्री रिसेट का विकल्प मिल जाएगा। फैक्ट्री डाटा रिसेट करने से पहले आप एक बार फोन का डाटा बैकअप जरूर ले लें।

12. ऐप्स अपडेट को रखें मैनुअल मोड पर
अक्सर फोन में बिना कुछ किए भी डाटा खत्म हो जाता है और आप समझ नहीं पाते कि ऐसा क्यों है। तो बता दूं कि ऐसा इसलिए होता है क्योंकि फोन का सारा डाटा ऐप्स अपडेट में चला जाता है। इसलिए ऐप्स अपडेट को आाप मैनुअल मोड पर रखें। इसके लिए अपको प्ले स्टोर में जाना है और वहां से बाईं ओर उपर में दिए गए मेन्यू पर क्लिक करना है। इसी में नीचे आपको से​टिंग का विकल्प मिलेगा उसे क्लिक करें। यहां उपर में ही आॅटो—अपडेट ऐप्स का विकल्प मिलेगा। उसे क्लिक करें और डू नॉट आॅटो-अपडेट पर सेट कर दें।

13. अल्ट्रा पावर सेविंग मोड
एंडरॉयड फोन में पावर सेविंग मोड खास है लेकिन कुछ फोन में अल्ट्रा सेविंग मोड का विकल्प होता है। यह मोड कम बैटरी में भी आपको लंबी बैकअप देगा। हालांंकि इसका खासियत यह है कि जब तक इसे आॅन रखेंगे स्क्रीन को मोनोक्रोम कर देगा और कुछ जरूरी ऐप्लिकेशन को ही आॅन करने का विकल्प देगा। यदि बैटरी कम है और आप लंबा चलाना चाहते हैं तो इसे आॅन कर सकते हैं। यह विकल्प फोन की सेटिंग में जाकर बैटरी के अंदर मेन्यू में मिलेगा।
micromax-vdeo-2-os
14. डेवलपर्स आॅप्शन
एंडरॉयड स्मार्टफोन में डेवलपर्स आॅप्शन बेहद ही काम का फीचर है। इस फीचर से आप अपने फोन को फास्ट कर सकते हैं। कुछ खास फीचर्स जोड़ सकते हैं और कुछ को हटा सकते हैं। इसे देखकर ही आपको पता चल जाएगा कि यह कितना उपयोगी है। एंडरॉयड फोन में डेवलपर्स आॅप्शन को आॅन करने के लिए आपको फोन सेटिंग में जाना है और वहां से अबाउट फोन का चुनाव करना है। इसमें आपको बिल्ट नंबर दिखाई देगा उस पर तब तक क्लिक करें जब तक की डेवलपर्स आॅप्शन को आॅन होने का मैसेज न आ जाए। मैसेज आ जाने के बाद यह फीचर आपको सेटिंग में ही दिखाई देगा।

15. आॅटो डाटा बैकअप
आज से फोन से महंगा फोन का डाटा है। ऐसे में आप अपने फोन का डाटा बैकअप ले सकते हैं और यदि फोन खो भी जाए तो डाटा वापस पा सकते हैं। इसके लिए आपको फोन में डाटा बैकअप को आॅन करके रखना होगा। इसके लिए सेटिंग में जाएं। यहां बैकअप और रीसेट दिखाई देगा उसे आॅन करें। यहां डाटा बैकअप का विकल्प मिलेगा उसे आॅन कर दें। बैकअप आॅन करने के साथ यह भी ध्यान दें कि इसमें आपका जीमेल अकाउंट सेट हो।

16. आॅफलाइन गेम
शायद आपको मालूम नहीं कि आपके एंडरॉयड फोन में एक गेम छुपाकर रखा जाता है। इसे आप बिना डाउनलोड के और बिना इंटरनेट के खेल सकते हैं। गूगल इस गेम को काफी छुपाकर पेश करती है। इसे खेलने के लिए सबसे पहले आपको फोन की सेटिंग में जाना है। वहां से अबाउट फोन में जाना है और यहां से आपको ओएस वर्जन पर कुछ देर क्लिक करना है। इसके साथ ही आपको लॉलीपॉप या मार्शमेलो का लोगो आ जाएगा। इस पर कुछ देर टच करके रखने के साथ ही गेम अनलॉक हो जाएगा जिसे आप खेल सकते हैं।

17. डेवलपर्स आॅप्शन
एंडरॉयड स्मार्टफोन में यह बेहद ही काम का फीचर है। इसमें अपको कई काम के विकल्प मिलेंगे जिससे आप फोन की सेटिंग में काफी कुछ बदल सकते हैं। एंडरॉयड फोन में डेवलपर्स आॅप्शन को आॅन करने के लिए आपको फोन सेटिंग में जाना है और वहां से अबाउट फोन का चुनाव करना है। इसमें आपको बिल्ट नंबर दिखाई देगा उस पर तब तक क्लिक करें जब तक की डेवलपर्स आॅप्शन को आॅन होने का मैसेज न आ जाए। मैसेज आ जाने के बाद यह फीचर आपको सेटिंग में ही दिखाई देगा।
gps-304842_960_720
18. नकली लोकेशन
आज आपका एंडरॉयड फोन और कई दूसरे ए​प्लिकेशन आपकी लोकेशन ट्रैक करते रहते हैं। ऐसे में यदि आप नहीं चाहते कि कोई लोकेशन ट्रैक करे तो मोक लोकेशन को आॅन कर सकते हैं। हालांकि इस सेवा को आॅन करने के लिए आपको डेवलपर्स आॅप्शन को आॅन करना होगा जिसे मैंने उपर में बताया है। डेवलपर्स आॅप्शन में जानें के बाद आप कुछ स्क्रॉल करके नीचे आएंगे तो मोक लोकेशन का विकल्प दिखाई देगा उसे आॅन कर दें। इसके बाद कोई भी आपका वास्तविक लोकेशन ट्रेस नहीं कर सकता।

19. गेस्ट मोड
प्राइवेसी और सिक्योरिटी के लिए एंडरॉयड फोन में गेस्ट मोड फीचर बेहद खास कहा जा सकता है। यह फीचर उस वक्त बेहद ही फायदेमंद होता है जब आप अपना फोन किसी को दे रहे हैं लेकिन यह नहीं चाहते कि वह आपकी सोशल नेटवर्किंग, ब्राउजिंग हिस्ट्री, मैसेज और कॉन्टैक्ट्स को देखे। ऐसे में आप गेस्टमोड को आॅन कर दूसरे को दें। यह आपको फोन की क्विक सेटिंग में ही मिल जाएगा।

20. डिवाइस मैनेजर
एंडरॉयड फोन का सबसे जरूरी फीचर में से यह एक है। डिवाइस मैनेजर न सिर्फ आपके फोन की सुरक्षा करता है बल्की फोन में उपलब्ध जरूरी डाटा को नष्ट होने से बचाता भी है। आपका फोन कहीं गिर गया है तो आप अपने फोन को वापस करने का मैसेज भेज सकते हैं। उसका लोकेशन देख सकते हैं। इतना ही नहीं यदि आपने गलती से फोन कहीं रख दिया है तो भी डिवाइस मैनेजर के माध्यम से आप उसे ढूंढ़ भी सकते हैं। फोन में डिवाइस मैनेजर फीचर आपको से​टिंग में जाकर, सिक्योरिटी के अंदर, डिवाइस एडमिनिस्ट्रेटर में दिखाई देगा। आपको उसे आॅन करके रखना है। याद रहे कि डिवाइस मैनेजर तभी कार्य करेगा जब आपने अपने फोन में जीमेल सर्विस इंटीग्रेट कर रखा हो।