चीनी ब्रांड Xiaomi को बड़ी राहत, भारतीय कोर्ट ने रिहा किए कंपनी के ब्लॉक हुए 37 अरब रुपये

Highlights
  • आयकर विभाग द्वारा ब्लॉक किए गए Xiaomi India के 37 अरब रुपये कर्नाटक कोर्ट ने रिलीज कर दिए हैं।
  • यह धनराशि शाओमी पर लगे टैक्स चोरी के आरोप में फ्रीज की गई थी।
  • चीनी कंपनी Xiaomi पर टैक्स चोरी के साथ ही मनी लॉन्ड्रिंग केस भी दर्ज है।
  • शाओमी पर आरोप है कि उसने फर्जी दस्तावेज बनाकर भारत के बाहर पैसा भेजा है।

चीन की मोबाइल कंपनी Xiaomi को भारतीय बाजार में बड़ी राहत मिली है। यह मामला मनी लॉन्ड्रिंग (Xiaomi Money Laundering Case) और टैक्स चोरी (Xiaomi Tax Evasion Case) से जुड़ा है जहां कर्नाटक कोर्ट ने आयकर विभाग (Income Tax Department) द्वारा फ्रीज किए गए कंपनी के तकरीबन 37 अरब रुपये को रिलीज करने का आदेश दिया है। यह फंड कंपनी (Xiaomi Corp) के फिक्स्ड डिपॉजिट में था जो फरवरी 2022 में ED द्वारा ब्लॉक किया गया था।

How to find Difference between Real and Fake Duplicate Copy Xiaomi Products in hindi

न्यूज़ एजेंसी रॉयटर के हवाले के खबर आई है कि कर्नाटक हाईकोर्ट ने शाओमी कंपनी के फिक्स्ट डिपॉजिट में रखे उन 37 अरब रुपयों को रिलीज़ करने का आदेश दे दिया है जो ईडी द्वारा फरवरी महीने में फ्रिज कर दिए गए थे। गौरतलब है कि प्रवर्तन निदेशालय ने चीनी कंपनी शाओमी को टैक्स चोरी का आरोपी पाया था तथा जिसके बाद कंपनी के तकरीबन 44 करोड़ डॉलर के डिपॉजिट पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ओर से लगा दी गई थी।

टैक्स चोरी के मामले में शाओमी को राहत

कर्नाटक की अदालत ने मनी लॉन्ड्रिंग और टैक्स चोरी के मामले में Xiaomi Corporation को बड़ी राहत दी है। इस आरोप की जांच के लिए आयकर विभाग ने कंपनी के तकरीबन 37 अरब रुपये के फिक्स्ड डिपॉजिट को फ्रीज कर दिया था। कोर्ट ने अब इस धनराशि पर लगी रोक हटाते हुए फंड फ्रीज करने के आदेश को खारिज कर दिया है। यानी शाओमी इस पैसे को खर्च भी कर सकेगी और इसके व्यापार भी कर सकेगी। कंफर्म तो नहीं है लेकिन शायद अब यह सारा पैसा किसी भी रूप में देश से बाहर भी भेजा जा सकता है।

653 crore rupee fine on xiaomi india for import duty evading

Xiaomi पर टैक्स चोरी का आरोप

शाओमी पर लगे आरोप में कहा गया था कि इस कंपनी ने स्मार्टफोंस को अधिक कीमत पर बेचा था लेकिन उनकी बिक्री से हुए प्रोफिट को कम करने दिखाया था। मुनाफा कम दिखाकर शाओमी ने थोड़ी राशि का ही टैक्स भरा था जो वास्तिवक टैक्स अमाउंट से काफी ज्यादा कम था। इस टैक्स चोरी के आरोप पर आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय ने चाइनीय कंपनी शाओमी कॉपोरेशन पर नकेल कसते हुए उसकी बड़ी धनराशि को ब्लॉक कर दिया था।

37 billion froze fund of xiaomi india released by karnataka court

Xiaomi पर मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप

टैक्स चोरी के आरोप में सिर्फ I-T Department या ED ही नहीं बल्कि FEMA के तहत शाओमी पर मनी लॉन्ड्रिंग केस की भी जांच चल रही है। Xiaomi India पर आरोप है कि इसने विदेश में काम करने वाली तीन कंपनियों को पैसे ट्रांसफर किए हैं। कहा गया है कि विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) की धारा-4 का उल्लंघन करते हुए शाओमी ने फर्जी दस्तावेज बनाए और झूठा कारण देते हुए बड़ी मात्रा में धनराशि को चीन और अमेरिका में भेज दिया।

LEAVE A REPLY