खुशखबरी: अल्ट्रा फास्ट 5जी है तैयार, जल्द देगा दस्तक

Vivo NEX 5G displayed at media event with Snapdragon 855 in hindi

2जी नेटवर्क के बाद 3जी और अब भारत में सुपर फास्ट 4जी नेटवर्क उपलब्ध हो चुका है। भारत में सबसे पहले एयरटेल ने इसकी शुरुआत की लेकिन बाद में वोडाफोन और आइडिया जैसी कंपनियों ने भी अपनी 4जी सेवाएं लॉन्च की। हालांकि इसमें सबसे ज्यादा तेजी रिलायंस जियो के आने के बाद देखने को मिली है। ​वर्ष 2016 में जब कंपनी ने अपनी सेवाएं लॉन्च की तो पूरा देश 4जी-4जी करने लगा। परंतु आपको यह जानकर और भी खुशी होगी कि अब 4जी के बाद जल्द ही 5जी नेटवर्क का अहसास करने वाले हैं।

3जीपीपी ने विश्व भर में 5जी नेटवर्क के लिए लोगो सहित टावर्स और स्मार्टफोन के मानकों का निर्धारण कर दिया है। अच्छी बात यह कही जा सकती है कि 5जी के लिए विश्व की लगभग सभी प्रमुख कंपनियों ने उत्सुकता दिखाई है और 2019 तक 5जी नेटवर्क की शुरुआत करने का भरोसा दिया है। अर्थात आज से 13 महीने बाद ही इसकी घोषणा हो सकती है। गौरतलब है कि 3जीपीपी ही संस्था है जो वैश्विक स्तर पर मोबाइल सर्विस प्रसार के लिए मानक तय करती है। जियो बनाएगा मोबाइल के लिए फिल्में और सीरियल, 18 प्रोडक्शन हाउस से की बातचीत

मानक तय करने का क्या होगा फायदा
5जी सर्विस मानक तय करने का फायदा यह है कि अब विश्व भर के आॅपरेटर्स इसके लिए नेटवर्क और रेडियो इंजीनियर इस पर कार्य कर सकेंगे। 3जीपीपी संस्था द्वारा अल्ट्राफास्ट 5जी नेटवर्क के लिए मानक तय करने के बाद अब फोन निर्माता और रेडियो इक्यूपमेंट निर्माता अपने 5जी प्रोडक्ट लॉन्च कर सकेंगे। अब कुछ ही दिनों में आप 4जी के साथ ही 5जी नेटवर्क सपोर्ट वाले फोन भी देख सकेंगे। हालांकि 5जी पर वह कार्य तभी करेगा जब 5जी नेटवर्क उपलब्ध होगा।
qualcomm-snapdragon-x50-5g-1
किन-किन कंपनियों ने लिया भाग
3जीपीपी द्वारा 5जी के लिए मानक तय किए जाने के बाद कई बड़ी दिग्गज कंपनियों ने जल्द ही इस पर कार्य करने के लिए प्रतिबद्धता जताई है। इसमें नोकिया, सैमसंग, क्वालकॉम, सोनी, एरिक्सन, वोडाफोन, एटीएंडटी, डोकोमो, एसके टेलीकॉम, चाइना मोबाइल, इंटेल, जेडटीई, हुआवई, स्प्रिंट और वेरियाइजन तक शामिल है। अब सैमसंग देगा शाओमी को मात, 3जीबी रैम पर लॉन्च किया गैलेक्सी जे7 नेक्स्ट

भारत में क्या है स्थिती
भारत में 4जी नेटवर्क लॉन्च करने के दौरान ही रिलायंस इं​डस्ट्रीन के चेयरमैन व मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी ने घोषणा की थी कि रिलायंस जियो विश्व की पहली कंपनी है जो सिर्फ 4जी नेटवर्क सेवा प्रदान कर रही है। वहीं उन्होंने यह भी जानकारी दी थी कि रिलायंस जियो नेटवर्क 5जी रेडी भी है। अर्थात भारत में 5जी सर्विस की शुरुआत होती है तो कंपनी जल्द ही अपनी सेवाएं शुरू कर सकती। वहीं इसी साल रिलायंस जियो ने 5जी नेटवर्क की तैयारी के लिए सैमसंग के साथ हाथ मिलाया है।
reliance-jio-mumbaioffice-91Mobiles
कंपनी ने आई एंड जी (इन​फीनल एंड ग्रेथ) नाम से एक प्रोजेक्ट की शुरुआत की है। जिसके तहत सैमसंग भारत में जियो नेटवर्क सर्विस के विस्तार और क्षमता के विकास में अहम भूमिका निभाएगा और कंपनी ने अपनी 5जी क्षममा का प्रद​र्शन भी किया था। जियो द्वारा 5जी रेडियो बेस स्टेशन और मोडेम चिपसेट आदि का प्रदर्शन किया गया।

वहीं 5जी नेटवर्क की दिशा में एयरटेल पीछे नहीं रहना चाहता। भारत की प्रमुख मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनी एयरटेल ने देश में 5जी सर्विस और आईओटी एप्लिकेशन के विस्तार के लिए नोकिया से साझेदारी की है। इस साझेदारी के तहत एयरटेल और नोकिया मिलकर भारत में 5जी सर्विस के विस्तार और विकास पर कार्य करेंगे।
girl-with-internet-phone
कैसा होगा 5जी का अहसास
जहां 4जी के लिए अधिकतम स्पीड 600 एमबीपीएस तक ही है जबकि 5जी स्पीड 1​जीबीपीएस से शुरू माना जाता है। ऐसे में आप खुद ही सोच सकते हैं कि यह अहसास कैसा होगा। बस चंद सेकेंड में मूवी डाउलोड होंगे और बिना बफर के चलेगा लाइव वीडियो। मल्टीप्लेयर गेमिंग और हेल्थ सेवाओं में भी गजब का बदलाव देखने को मिलेगा। हालांकि 3जीपीपी द्वारा 5जी के लिए मानक तय किये जाने में एक बात और खास थी कि कम बैटरी खपत पर जोर दिया गया था। ऐसे में कहा जा रहा है कि यह इसमें पावर कंजम्शन 4जी की अपेक्षा कम होगी।