पांच बातें जो बनाती है सैमसंग गैलेक्सी एस8 को सबसे बेस्ट

सैमसंग का लेटेस्ट फ्लैगशिप स्मार्टफोन गैलैक्सी एस8 और इसी का दूसरा मॉडल गैलेक्सी एस8 प्लस को भारत में लॉन्च कर दिया गया है। टेकवर्ल्ड में अपने पहले लुक के बाद से ही हलचल मचाए यह फोन सिर्फ स्पेसिफिकेशन्स ही नहीं बल्कि फीचर्स के मामले में भी सभी से आगे है। आईये नज़र डालते है गैलेक्सी एस8 की पांच ऐसी बातों पर जो इसे दूसरे फ्लैगशिप फोन से खास बनाती है।

1. डिजाईन
डिजाईन के मामले में सैमसंग गैलेक्सी एस8 ने नई तकनीक को जन्म दिया है। यह फोन ​इनफिनिटी डिसप्ले पर पेश किया गया है, जो 18:9 स्क्रीन टू बॉडी रेशियो के साथ डुअल ऐज डिसप्ले से लैस है। इस फोन से पहली बार सैमसंग ने पहली बार अपने होम बटन लेस डिजाईन को पेश किया है। फोन के मुख्य पैनल पर कोई भी बटन नहीं दिया गया है। सभी बटन स्क्रीन पर हैं। गैलेक्सी एस8 में जहां 5.8-इंच वहीं एस8 प्लस में 6.2-इंच की क्वॉडएचडीप्लस सुपर एमोलेड स्क्रीन दी गई है।

samsung-galaxy-s8-1

2. आईरिस स्कैनर
अब तक स्मार्टफोन व फोन डाटा सिक्योरिटी के नाम पर फिंगरप्रिंट सेंसर को ही उच्च तकनीक पर बनाया जाता था। लेकिन सैमसंग ने अपने इस फोन के साथ फिंगरप्रिंट सेंसर के साथ ही आईरिस स्कैनर भी दिया है, जो यूजर्स के आई कॉन्टेक्ट होते ही अनलॉक हो जाएगा।

3. ब्लूटूथ 5.0
सैमसंग गैलेक्सी एस8 में ब्लूटूथ 5.0 कनेक्टिविटी को बेहद एडवांस बनाता है। शायद ही आपने पहले किसी फोन में देखा होगा ​कि ब्लूटूथ के माध्यम से एक ही साथ दो डिवाईस कनेक्ट होते हों। लेकिन एस8 में आपको यह सुविधा मिलेगी। इसमें आप एक साथ दो ब्लूटूथ डिवाइस को कनेक्ट कर सकते हैं यानि एक ही फोन से दो हेडफोन या म्यूजिक प्लेयर जोड़कर गानों का लुफ्त उठा सकते हैं।

samsung-galaxy-s8

4. वाटर प्रूफिंग
आजकल लगभग हर फोन को आईपी रेटिंग के साथ बनाया जाता है और कहा जाता है कि यह पानी व धूल अवरोधक हैं। लेकिन आपको बता दें कि स्पलैश प्रूफ और वाटर रीज़िस्टन्ट दोनों में बेहद फर्क है और गैलेक्सी एस8 सही मायनों में वाटर रीज़िस्टन्ट है, जो आईपी68 रेटिड है।

5. सैमसंग पे
एक तरफ जहां डिजिटल इंडिया की बात हो रही है ऐसे में सैमसंग गैलेक्सी एस8 में सैमसंग पे सपोर्ट के साथ लॉन्च किया गया है। सैमसंग पे के साथ स्मार्टफोन यूजर्स अपने डेबिट या क्रेडिट कार्ड को फोन में इंटीग्रेट कर सकते हैं, जिसके बाद आपको किसी भी ट्राजेंक्शन पर कार्ड स्वाईप करने की जरूरत नहीं होगी।