भारत में बदल रही Samsung की सूरत, जानें क्यूं बन रही यह कंपनी खास

5 point best about samsung smartphone in india

मोबाइल तकनीक बेहद तेजी से बदल रही है। और इतनी ही तेजी से बदल रहा है भारत का स्मार्टफोन बाजार। पिछले कुछ महीने इंडियन टेक मार्केट के लिए काफी बदलाव वाले रहे हैं। कोरोना वायरस ने जहां कई नए मोबाइल्स फोंस के लॉन्च को रद्द करवा दिया वहीं भारत में पनपे ‘एंटी चाइना’ माहौल के चलते अनेंको बड़े ब्रांड्स को आलोचना का शिकार होना पड़ा। इन सबके बीच एक नाम ऐसा भी था, जिसे न सिर्फ बाजार में बेहद नुकसान झेलना पड़ा, बल्कि साथ ही स्मार्टफोन यूजर्स का प्यार व भरोसा भी मिला। यह नाम है डेढ़ दशक से भी अधिक समय से भारत के मोबाइल बाजार में बने हुए Samsung का। सैमसंग पर भारतीय यूजर्स का भरोसा कायम है और इन दिनों लगातार सैमसंग की फैन फॉलोइंग में भी ईजाफा हो रहा है। आगे हमने ऐसे ही कुछ बिंदुओं को समेटा है जो भारतीय मोबाइल यूजर्स की नज़रों में Samsung को बेस्ट बनाते हैं।

1.हर बजट में फोन

अगर Samsung स्मार्टफोन का अनुभव लेने वाले लोगों को गिना जाए तो, अधिकांश लोग ऐसे होंगे जो या तो अभी सैमसंग फोन यूज़ कर रहे हैं या फिर पहले कर चुके हैं। और इनके अलावा अनेंको ऐसे इंडियन भी है जो आने वाले दिनों में सैमसंग स्मार्टफोन लेने का प्लान बना रहे हैं। आज भारतीय बाजार में 5,000 रुपये के लेकर 1 लाख रुपये तक के बजट में सैमसंग के स्मार्टफोंस मौजूद है। और हर सेग्मेंट में सैमसंग स्मार्टफोंस की मौजूदगी यूजर्स को चुनने के लिए कई ऑप्शन प्रदान करती है, जो कोई भी नया फोन लेते वक्त बेहद जरूरी आस्पेक्ट होता है। लोग अपनी जेब के हिसाब से किसी भी कीमत पर अपनी पसंदीदा Samsung फोन चुन सकते हैं।

5 point best about samsung smartphone in india

2.ऑनलाईन और ऑफलाईन पर समान पॉलिसी

आज भारत में मौजूद कई स्मार्टफोन ब्रांड्स ऐसे हैं जो किसी स्पेशल शॉपिंग साइट पर ही अपने मोबाइल फोंस को एक्सक्लूसिवली बेचते हैं। इन स्मार्टफोंस की फ्लैश सेल होती है जिसमें कुछ लोगों तो फोन मिल जाता है लेकिन कईयों को निराश होकर अगली फ्लैश सेल का इंतजार करना पड़ता है। वहीं दूसरी ओर ये ब्रांड जब ऑफलाईन रिटेल स्टोर्स पर फोन मुहैया भी कराते हैं तो उनकी कीमत ऑनलाईन की तुलना में कुछ अधिक होती है। लेकिन Samsung की पॉलिसी में ऐसा कुछ नहीं है। यह कंपनी एक दिन के सेल रिकॉर्ड से ज्यादा यूजर्स के लिए भरपूर स्टॉक उपलब्ध कराने पर ज्यादा ध्यान देती है। कंपनी के फोन ऑनलाईन और ऑफलाईन दोनों प्लेटफॉर्म पर बिक्री के लिए उपलब्ध रहते हैं तथा दोनों जगह पर फोन की कीमत तथा Samsung की सेल नीति समान ही रहती है।

यह भी पढ़ें : पसंद है Nokia ब्रांड लेकिन फिर भी बना रहे दूरी, जानें क्या है भारतीयों की मजबूरी

3.नॉन चाइनीज होने का फायदा

यह भी सच ही है कि Samsung को नॉच चाइनीज कंपनी होने का भी फायदा मिला है। पिछले कुछ महीनों से भारतीय उपभोक्ता चीनी कंपनियों व मोबाइल ब्रांड्स का बहिष्कार कर रहे हैं तथा दूसरों को भी चाइनीज स्मार्टफोन लेने न लेने सलाह दे रहे हैं। देश में टॉप 5 स्मार्टफोन ब्रांड्स की बात करें तो इनमें 4 नाम चीनी कंपनियों के ही हैं। ऐसे में एंटी चाइना के माहौल का सबसे ज्यादा फायदा Samsung को हो रहा है। सैमसंग इंडियन कंपनी नहीं बल्कि कोरियन कंपनी है और भारतीय यूजर्स Xiaomi, Realme, OPPO और Vivo जैसे ब्रांड्स की बजाय Samsung के स्मार्टफोन खरीद भी रहे हैं और अपने जानकारों को भी सैमसंग स्मार्टफोन लेने की ही हिदायत दे रहे हैं।

5 point best about samsung smartphone in india

4.Make In India पर जोर

क्या आप जानते हैं कि Samsung की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री कहां पर है ? अच्छा यह पता है कि दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फोन प्रोडक्शन यूनिट कहां पर है ? इन दोनों सवालों का जवाब एक ही है, भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के नोएडा शहर में। अगर यह जानकर थोड़ा सा भी गर्व महसूस हुआ है तो इसकी वजह है सैमसंग। Samsung ने अपनी सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री के लिए भारत को चुना है और यह सिर्फ सैमसंग ही नहीं बल्कि दुनियाभर में सबसे अधिक मोबाइल फोन बनाने वाली फैक्ट्री है। इंडिया ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में Make In India टैग वाले सैमसंग फोन बिकते हैं। सैमसंग ने साल 2007 में भारत में फोन बनाना शुरू किया था और यह ही पहली मोबाइल कंपनी है जिसने PCBs का निर्माण भी भारत में किया और ट्रूली ‘Made In India’ कंपनी बनी। बता दें कि दुनिया का सबसे बड़ा मोबाइल एक्‍सपीरियंस सेंटर भी Samsung ने ही भारत के बेंगलुरु में खोला था।

यह भी पढ़ें : Android फोन की 5 शानदार बातें, जो महंगे iPhone में भी नहीं

5.लंबा साथ

Samsung ने साल 2004 में अपना पहला मोबाइल फोन इंडिया में लॉन्च किया था। एंडरॉयड का ईजाद होने के बाद जून 2009 में कंपनी ने अपना पहला स्मार्टफोन पेश किया था, जिसके साथ ‘गैलेक्सी सीरीज़’ की नई शुरूआत हुई थी। वहीं साल 1996 में सैमसंग ने इंडिया के बेंगलुरु में अपना पहला रिचर्स एंड डेवलेपमेंट (R&D) खोला था, जिसके बाद सिर्फ मोबाइल ही नहीं बल्कि कई अन्य प्रोडक्ट्स भी बनाए गए। आज सैमसंग को भारत में मोबाइल फोन बेचते हुए 16 साल का समय पूरा हो चुका है। आज की यंग जेनरेशन से लेकर वयस्क लोग सभी सैमसंग स्मार्टफोंस का यूज़ करते हैं। देश में मौजूद चाइनीज कंपनियों की तुलना में Samsung फोन के साथ भारतीयों का अनुभव लगभग दोगुना है। और यही लंबा साथ लोगों का भरोसा Samsung पर बनाए रखे हुए है, जिसे संभाले रखने की जिम्मेदारी सैमसंग की है। कम कीमत पर बेहतर स्पेसिफिकेशन्स वाले फोन और तसल्ली वाली ऑफ्टर सेल सर्विस ही इस भरोसे को बरकरार रख पाएगी।

LEAVE A REPLY