5G Services Launched in India: प्रधानमंत्री मोदी ने 5जी सेवाओं को दिखाई हरी झंडी, आज से शुरू होगा 5जी नेटवर्क

5G Services Launched in India by Modi in IMC 2022

5G Service Launch in India: 5G in India अब सिर्फ ख्याली पुलाव नहीं रहा है। आज 1 अक्टूबर के दिन भारत को 5G Services की सौगात मिल गई है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) ने इंडिया मोबाइल कांग्रेस (IMC 2022) India Mobile Congress के मंच से इंडिया में 5जी सर्विस का ऐलान कर दिया है। 5G Trials और 5G Spectrum Auction के पड़ाव को पार करते हुए आज 5जी नेटवर्क (5G Network in India) लाइव हो गया है। सिर्फ सुपर फास्ट 5जी इंटरनेट ही नहीं बल्कि यह 5जी नेटवर्क देश के विकास और प्रगति में बेहद बड़ी भागीदारी पेश करेगा। 5जी इन ​इंडिया डिजीटल इंडिया की राह में कारगर साबित होगा।

5G Services Launched in India by Modi

5G Services Launched in India by Modi in IMC 2022

5जी का फायदा

नरेन्द्र मोदी ने आज आईएमसी के मंच से क्या क्या घोषणाएं की है उसकी डिटेल जानने के पहले हम आपको बताना चाहेंगे कि 5जी एक नेक्स्ट जेनरेशन मोेबाइल कम्यूनिकेशन नेटवर्क है जो मौजूद 4जी की तुलना में बेहद ज्यादा विस्तृत और तेज है। 5जी नेटवर्क सिर्फ मोबाइल स्मार्टफोंस तक ही सीमित नहीं रहने वाला है बल्कि सुपरफास्ट इंटरनेट कनेक्टिविटी देने के साथ ही इसका फायदा क्लाउड गेमिंग (cloud gaming), एआर/वीआर तकनीक (AR/VR technology), आईओटी यानी इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) इत्यादि में भी होने वाला है।

नई दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित आईएमसी 2022 ईवेंट में नरेन्द्र मोदी ने देश की तीनों प्रमुख टेलीकॉम कंपनियों एयरटेल, जियो और वीआई की 5जी सर्विसेज़ का डेमो भी लिया है। इस दौरान मोदी ने 5जी ऐबुलेंस और 5जी ऐजुकेशन जैसी सर्विसेज को समझने के साथ ही ऑग्मेंटेड रियलिटी तथा वर्चुअल रियलिटी का एक्सपीरियंस भी किया। सिर्फ इतना ही नहीं 5जी टेक्नोलॉजी के जरिये प्रधानमंत्री ने दिल्ली में बैठकर स्वीडन में रखी कार को भी चलाकर दिखाया है।

Airtel 5G

IMC 2022 में भारती एयरटेल के मुखिया सुनिल भारती मित्तल ने भी शिरकत और मोदी के साथ मंच सांझा किया। देश में सबसे पहले 5जी नेटवर्क लाईव करने का ताज पहनते हुए एयरटेल की ओर से घोषणा कर दी गई है कि आज यानी 1 अक्टूबर से ही देश में Airtel 5G Service Launch हो जाएगी। एयरटेल 5जी सर्विस सबसे पहले देश के 8 शहरों में शुरू होगी जिसमें दिल्ली, मुबंई और वाराणसी जैसे शहर शामिल होंगे। वहीं मार्च 2023 के तक देश बड़े हिस्से को 5जी कवरेज देते हुए कंपनी मार्च 2024 तक पूरे राष्ट्र में हर शहर हर गांव में अपनी 5जी सेवाएं लागू कर देगी।

airtel-5g

Jio 5G

5जी लॉन्च के मौके पर रिलायंस जिओ के मुख्य Mukesh Ambani ने भी घोषणा की है कि कंपनी इस साल के अंत तक देश के बड़े हिस्से में Jio 5G Service शुरू कर देगी और दिसंबर 2023 तक पूरे देश में अपनी 5जी सेवाएं लागू कर देगी। अंबानी के मुताबिक जियो 5जी प्लान्स देश में सबसे ज्यादा सस्ते और किफायती होंगे। कंपनी ने अपने 5जी नेटवर्क को Jio True 5G का नाम दिया है।

5 reliance jio achievements mukesh ambani chairman

Internet use in India

5जी लॉन्च के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पहले एक 1जीबी डाटा के लिए 300 रुपये तक की रकम चुकानी पड़ती थी, लेकिन अब एक जीबी डाटा कॉस्ट 10 रुपये तक आ गई है। वहीं आज के वक्त में एक इंडियन औसनत महीने में कुल 14जीबी डाटा खर्च करता है। इस हिसाब से अगर पहले वाले दाम ही होते तो एक महीन इंटरनेट चलाने के लिए तकरीबन 4,200 रुपये खर्च करने पड़ते लेकिन ​अब इतना डाटा सिर्फ 125-150 रुपये में मिल जाता है।

5g-india-plan-price

दुनिया से 10 फीसदी सस्ते होंगे 5G Plans

आपको यह सुनकर गर्व होगा कि पूरी दुनिया में भारत 5वां ऐसा देश बन गया है जिसने एंड टू एंड 5जी सर्विस शुरू की है। इंडिया से पहले सिर्फ 4 देश ही ऐसा कारनामा कर पांऐ हैं। हालांकि इससे भी बड़ी बात यह है कि भारत में 5जी प्लान्स की कीमत बाकी दुनिया से 10 फीसदी तक कम होने वाली है। इतनी बड़ी जनसंख्या को लो लैटेंसी व ब्रॉड कवरेज वाला 5जी नेटवर्क कम कीमत में उपलब्ध कराना आम जनता के लिए हितकर साबित होगा।

SHARE
Previous article50MP Camera के साथ लॉन्च हुआ नया इनफिनिक्स मोबाइल, 6GB RAM वाले इस फोन का 12 हजार के करीब है प्राइस
Next article5जी हुआ इंडिया में लॉन्च, अब रॉकेट की स्पीड से चलेगा इंटरनेट
मेरे लिखने से आपके पढ़ने तक, सब तकनीक है। Kamal Kant का मानना है कि तकनीक नई हो या पुरानी हर रोज़ कुछ न कुछ नया ​दिखाती है, सिखाती है। टेक्नोलॉजी के प्रति इसी सोच ने कमल को तकनीक जगत में आने के लिए प्रेरित किया। पत्रकारिता के क्षेत्र में अपने 10 साल के अनुभव के दौरान ये विभिन्न प्रतिष्ठित संस्थानों से जुड़ते हुए मीडिया के तीनों मंच - प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक्स और डिजीटल मीडिया पर कार्य चुके हैं।

LEAVE A REPLY