5G से विमानों को नहीं कोई खतरा, Air India ने फिर से शुरू की उड़ानें

भारत में 5G इंटरनेट का इंतजार कर रहे यूजर्स उत्साहित हैं कब वह सुपरफास्ट इंटरनेट का मजा ले पाएंगे। लेकिन, 5G आने से पहले इसे लेकर ऐसी-ऐसी खबरें सामने आ रही है, जिससे 5G को काफी खतरनाक बताया जा रहा है। दरअसल, हाल ही में अमेरिका में 5जी इंटरनेट सेवा शुरू किए जाने के कारण एयर इंडिया ने भारत-अमेरिका मार्गों पर कई उड़ानें रद्द करनी पड़ीं। लेकिन, अब ITU APT India ने गुरुवार को घोषणा की कि भारतीय 5G स्पेक्ट्रम पर्याप्त सुरक्षा के साथ आएगा और यह altimeter के साथ हस्तक्षेप नहीं करेगा। इस खबर के सामने आने के बाद अब Airline ने कहा है कि वह 21 जनवरी यानी आज से से उड़ानें शुरू कर रही है।

Air India ने शुरू की उड़ानें

एयर इंडिया ने ट्वीट कर कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए उड़ान संचालन पिछले दो दिनों के दौरान प्रभावित हुआ। वहीं, हम संयुक्त राज्य अमेरिका में गंतव्यों के लिए उड़ान शुरू करने वाले हैं। हम अपने यात्रियों को सूचित करना चाहते हैं कि 21 जनवरी 2022 के प्रभावी 0001 बजे से यूएसए के लिए उड़ानें शुरू हो जाएंगी। इसे भी पढ़ें: 5G स्मार्टफोन्स की सेल में इस चीनी कंपनी ने कर दिया बड़ा कमाल, दर्ज की इतनी ग्रोथ

#FlyAI : Flight operations to/from destinations in USA were affected during last two days.

भारत में उड़ान के लिए 5G नहीं खतरा

आपको बता दें कि संयुक्त राष्ट्र निकाय अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ ITU APT India को मान्यता देता है और स्पेक्ट्रम से संबंधित मुद्दों पर काम करता है। इसके ITU APT के अध्यक्ष भारत भाटिया ने एक कहा, “भारत में, 5G सेवाओं से विमान को कोई जोखिम नहीं है और हम पूरी तरह से सुरक्षित हैं क्योंकि हम केवल 3300-3670 MHz आवंटित कर रहे हैं, जो कि नीचे 500 MHz से अधिक है। अल्टीमीटर स्पेक्ट्रम। इस प्रकार भारत में 5जी के लिए जिन सी बैंड फ़्रीक्वेंसी की नीलामी की जा रही है, वे पूरी तरह से सुरक्षित हैं और नागरिक उड्डयन रडार अल्टीमीटर के लिए कोई जोखिम नहीं है।

5g-network-deployment-american-airport-is-dangerous-air-india-cancel-flights-internet-service

बता दें कि अमेरिकी विमानन संघीय विमानन प्रशासन (एफएए) ने 14 जनवरी को कहा था कि विमान के रेडियो एल्टिमीटर पर 5जी के प्रभाव से इंजन और ब्रेकिंग प्रणाली रुक सकती है, जिससे विमान को रनवे पर रोकने में दिक्कत आ सकती है। इसके अलावा नगर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) प्रमुख अरुण कुमार ने कहा था कि भारतीय विमानन नियामक अमेरिका में 5जी इंटरनेट सेवा के कारण पैदा स्थिति से उबरने के लिए हमारी विमानन कंपनियों के साथ काम कर रहा है। वहीं, कुल तीन विमान सेवाएं अमेरिकन एयरलाइंस, डेल्टा एयरलाइंस और एयर इंडिया वर्तमान में भारत और अमेरिका के बीच सीधी उड़ानें संचालित करती हैं। इसे भी पढ़ें: 6G के क्षेत्र में Jio की जबरदस्त छलांग, Airtel और Vodafone रह गए बहुत पीछे!

लेटेस्ट वीडियो

हाल ही में एयर इंडिया ने ट्वीट कर कहा था कि वह अमेरिका में 5जी संचार सेवा शुरू होने के कारण भारत-अमेरिका के बीच आठ उड़ानें संचालित नहीं करेगी। एयर इंडिया की इन आठ उड़ानों में दिल्ली-न्यूयॉर्क, न्यूयॉर्क-दिल्ली, दिल्ली-शिकॉगो, शिकॉगो-दिल्ली, दिल्ली-सैन फ्रांसिस्को, सैन फ्रांसिस्को-दिल्ली, दिल्ली-नेवार्क और नेवार्क-दिल्ली शामिल हैं।

LEAVE A REPLY