नरेन्द्र मोदी की आपत्तिजनक फोटो शेयर करने पर व्हाट्सऐप एडमिन हुआ गिरफ्तार, जानें पूरा मामला

Whatsapp Multi Device Support Disappearing Mode View Once feature

व्हाट्सऐप ग्रुप पर एक आपत्तिजनक तस्वीर शेयर करने के आरोप में आज एक ग्रुप एडमिन को गिरफ्तार कर लिया गया। 30 साल के एक व्यक्ति को कर्नाटक से गिरफ्तार किया गया जिसे बाद में बेल भी मिल गई। कृष्णा नाम का यह व्यक्ति कर्नाटक के उत्तर कन्नडा जिसे से है खबर है जिस ग्रुप का व्यक्ति एडमिन था उस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कि तस्वीर ​जिसके साथ काफी छेड़-छाड़ किया गया था उसे शेयर किया जा रहा था।

खबर के अनुसार पुलिस द्वारा यह जानकारी दी गई है कि नरेन्द्र मोदी की जिस फोटो को शेयर किया जा रहा था वह देखने में बेहद ही बदसूरत और अभद्र था। इस फोटो को द बैल्से ब्वॉयज ग्रुप पर शेयर किया जा रहा था। इस फोटो को लेकर ए​डमिन के खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराई गई थी जिसके बाद व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया था।

व्हाट्सऐप ने पेश किया चैट पिन फीचर, जानें कैसे करें उपयोग

गौरतलब है कि पिछले साल ही भारत के दो राज्यों ने निर्देश जारी किया है जिसमें कहा गया है कि यदि व्हाट्सऐप ग्रुप पर कोई भी अभद्र, गैरकानूनी या अश्लिल कंटेंट शेयर किया जाएगा तो इसके लिए ग्रुप एडमिन जिम्मेदार होगा और उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। परंतु दिल्ली हाई कोर्ट ने इस निर्देश पर रोक लगा थी। परंतु व्हाट्सऐप और फेसबुक पर कंटेंट कंट्रोल को लेकर मांगे उठती आई हैं।

12 गलतियां जिनकी वजह से बंद हो सकता है आपका फेसबुक अकाउंट

जहां तक व्हाट्सऐप की बात है तो यह विश्व का सबसे लोकप्रिय मैसेंजर सर्विस में से एक है। भारत भर में ही इसके 160 मिलियन से भी ज्यादा के यूजर हैं।

SHARE
Previous article20-मेगापिक्सल सेल्फी कैमरे वाले ओपो आर11 की वीडियो हुआ लीक, जानें कैसा है यह फोन
Next article3जीबी रैम और 32जीबी मैमोरी के साथ लॉन्च हुआ आॅकू ओमीकॉर्न, जानें फीचर और स्पेसिफिकेशन
टेक्नोलॉजी शौक नहीं इनका जुनून है और इसी जुनून ने इन्हें टेक जगत में आने के लिए प्रेरित किया। मुकेश कुमार सिंह उन चंद लोगों में से हैं जिन्होंने हिंदी में मोबाइल रिव्यू लिखने की शुरूआत की। अपने 15 सालों के प​त्रकारिता के सफर की शुरुआत इन्होंने हिंदी डेली से की और पिछले 13 सालों से ये मोबाइल तकनीकी क्षेत्र में सक्रिय हैं। अब तक ये मॉय मोबाइल मैगजीन और बीजीआर जैसे वेबसाइट के लिए कार्य कर चुके हैं। वहीं जागरण और नवभारत टाइम्स जैसे अखबारों में इनके लेख नियमित रूप से छपते रहते हैं।