मोबाईल सिम के लिए अब जरूरी नहीं आधार कार्ड : टेलीकॉम सचिव

भारत के नागरिक की डिजिटल पहचान बन चुके आधार कार्ड को आज लगभग हर सरकारी व गैर-सरकारी संगठनों में प्राथमिकता से मांगा जाता है। स्कूल, अस्पताल से लेकर मोबाईल की सिम खरीदने तक के लिए आधार कार्ड को आवश्यक बना दिया गया है। आधार कार्ड की इस जरूरत को लेकर बहुत से मोबाईल उपभोक्ता अभी भी असमंजस की स्थिति में है। लेकिन जो लोग मोबाईल नंबर को आधार कार्ड से लिंक अभी तक नहीं करा पाएं है उनके लिए राहत की खबर आई है। देश के टेलीकॉम सचिव ने कह दिया है कि मोबाईल सिम के लिए अब आधार कार्ड जरूरी नहीं हैं।

टेलीकॉम सचिव अरुण सुंदराजन ने अपने वक्त्वय में कहा है कि मोबाईल सिम लेने के लिए अब आधार कार्ड की जरूरत नहीं होगी। अरुण सुंदराजन ने देश की तमाम टेलीकॉम कंपनियों को तुरंत प्रभाव से नए निर्देशों का पालन करने का आदेश दे दिया है। वहीं मोबाईल नंबर को आधार कार्ड के जोड़ने की प्रक्रिया पर विभाग की ओर से कहा गया है कि मोबाईल नंबर को आधार से लिंक कराना भी अब आवश्यक नहीं है।

how to see services link with aadhar card

सरकार ने मोबाईल आॅपरेटर्स को निर्देश जारी कर कहा है कि नई सिम खरीदने के दौरान ग्राहकों से सिर्फ आधार कार्ड की मांग न की जाए। आधार कार्ड की जगह ग्राहक वोटर आईडी, पासपोर्ट व ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि भी जमा करा सकता है और ये डाक्यूमेंट्स भी वैध मानें जाएंगे।

जियो का धमाल : अब एक ही नंबर को चला सकते हैं दो अलग-अलग सिम में

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट भी मोबाईल नंबर का आधार कार्ड से लिंक कराने की प्रक्रिया पर सवाल उठा चुकी है। लोकनीति फाउंडेशन द्वारा दाखिल जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट यह साफ कर चुका है कि जब तक आम जनता के हित में कोई फैसला नहीं आता तब तक आधार कार्ड को मोबाईल नंबर से लिंक कराना आवश्यक नहीं है।

शाओमी फैन्स को झटका ! रेडमी नोट 5 प्रो हुआ 1,000 रुपये मंहगा, मी एलईडी टीवी 4 (55) का दाम भी 5,000 रुपये बढ़ा

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद टेलीकॉम सचिव के इस कदम से देश के स्थानिय नागरिकों के साथ ही भारत में आने वाले विदेशियों और एनआरआई लोगों को भी राहत मिलेगी। क्यूंकि आधार कार्ड न होने की वजह से ये लोग मोबाईल कंपनियों के सिम कार्ड खरीद नहीं पाते थे।