Samsung पर हंगामे के बाद अब Xiaomi और Oppo ने ब्रांड स्टोर पर किया Amazon Pay इनेबल

after-samsung-xiaomi-and-oppo-starts-amazon-pay-service-on-offline-brand-store

ऑनलाइन और ऑफलाइन रिटेल के बीच चल रही खींचतान अब बड़े प्रदर्शन का रूप ले रही है। कुछ महीने पहले मोबाइल रिटर्स ने इसे लेकर बड़े तौर पर प्रदर्शन किया था। वहीं हाल में ऑफलाइन रिटेलर्स ने सैमसंग के खिलाफ मोर्चा खोला और तीन दिनों तक Samsung फोन न बेचने की बात कही थी। मामला था Samsung द्वारा ऑफलाइन रिटेल के लिए अमेज़न पे के साथ टाईअप। हालांकि कंपनी जहां इसके माध्यम से मोबाइल खरिदारों को अतिरिक्त डिस्काउंट देने का दावा कर रही थी। वहीं रिटेल स्टोर्स ने डाटा अमेज़न को बेचने का आरोप लगाया। इस हलचल के बाद सैमसंग ने Amazom Pay ऑफर को वापस ले​ लिया और सेल प्रोसेस से बंद कर दिया। वहीं अभी यह मामला थमा भी नहीं था कि Xiaomi और Oppo ने अपने ऑफलाइन ब्रांड स्टोर पर इस Amazom Pay सर्विस को एक्टिव कर दिया। यहां भी लगभग वही प्रोसेस अपनाया जा रहा है जो सैमसंग ने शुरू किया था।

Xiaomi और Oppo द्वारा अपने रिटेल पार्टनर के साथ इस सर्विस को इनेबल नहीं किया गाय है ऐसे में रिटेलर्स द्वारा इसका विराध नहीं किया गया लेकिन अपने ऑफलाइन ब्रांड स्टोर पर अमेजन पे सर्विस को इनेबल कर दिया गाय है और इसमें भी यूजर 5 फीसदी या 500 रुपये का अतिरिक्त कैशबैक दिया जा रहा है। इसी तरह ओपो फोन पर अमेजन पे का उपयोग करने पर 1,000 रुपये तक का कैश बैक दिया जा रहा है। इसे भी पढ़े: Samsung ने वापस लिया Amazon Pay कैशबैक ऑफर, बैकएंड से ही बंद किया प्लान

after-samsung-xiaomi-and-oppo-starts-amazon-pay-service-on-offline-brand-store
हालांकि यह बहुत बड़े तौर रिटेल पार्टनर के साथ नहीं किया जा रहा है ऐसे में इसका विरोध तो नहीं हो रहा है लेकिन डाटा चोरी या डाटा बेचने का खतरा तो इसमें भी बनता ही है। इसे भी पढ़े: Samsung Galaxy S10, S10 Plus और S10e की कीमत 17000 तक हुई कम, जानें क्या है नया प्राइस

वहीं इस बारे में हमने मोबाइल रिटेल ऐसोशिएशन से भी बात की तो उन्होंने इस पर किसी तरह की आपत्ती नहीं जताई। निकुंज पटेल, सेक्रेटरी- गुजरात मोबाइल एसोशियेशन, से इस बारे में हमने बात की तो उन्होंने कहा कि “शाओमी और ओपो का ऑफर सिर्फ उनके ब्रांड स्टोर तक ही सीमित ऐसे में किसी रिटेलर्स का डाटा कंपनी को नहीं जा रहा है तो हमें कोई परेशानी नहीं है।”

यह बात कुछ हद तक सही है कि इसमें रिटेलर्स डाटा कंपनी के साथ शेयर नहीं हो रहा है लेकिन जिन कारणों से सैमसंगा का विरोध किया जा रहा था कि उसमें से एक कारण यह भी था कि कंपनी अमेज़न पे के माध्यम सीसीआई (Competition Commission of India) में अमेजन और फ्लिपकार्ट के खिलाफ चल रहे केस में फायदा पहुंचाने की कोशिश कर रहा है। ऐसे में यदि अब शाओमी और ओपो भले ही ब्रांड स्टोर पर इस सर्विस को शुरू किया है लेकिन ऑफलाइन से ऑनलाइन को फायदा तो पहुंचाया जा ही रहा है।

LEAVE A REPLY