Airtel 5G in India : एयरटेल का दावा, 5G नेटवर्क के सबसे बेस्ट स्पेक्ट्रम किए हासिल

एयरटेल का कहना है कि उसने इस स्पेक्ट्रम नीलामी के लिए सरकार के पास कुल 43,084 करोड़ रुपये के जमा किए हैं।

Airtel 5G details know all about this plan in just 5 points before its Launch

देश की प्रमुख टेलीकॉम कंपनी एयरटेल ने ऑफिशियली कंफर्म कर दिया है कि वह भारत की 5G क्रांति को लीड करने के लिए तैयार किया है। एयरटेल ने बताया कि उसने ऑल इंडिया के लिए 19,800 MHz स्पेक्ट्रम के 3.5Gz और 26Gz बैंड हासिल किए हैं। इसके साथ ही कंपनी मिड बैंड स्पेक्ट्रम को मजूबत करने के लिए काम कर रहा है। एयरटेल का कहना है कि उसने इस स्पेक्ट्रम नीलामी के लिए सरकार के पास कुल 43,084 करोड़ रुपये के जमा किए हैं। एयरटेल ने इस नीलामी में 5G स्पेक्ट्रिम 20 साल के लिए हासिल किए हैं। स्पेक्ट्रम की इस विशाल मात्रा से इंडस्ट्री के सब अच्छे मौजूदा स्पेक्ट्रम पूल के अधिग्रहण का मतलब होगा कि कंपनी आने वाले कई वर्षों तक स्पेक्ट्रम के लिए बिलकुल भी रुपये खर्च नहीं करना होगा।

Airtel का 5G इकोसिस्टम है तैयार

एयरटेल के पास अब देश भर में सबसे ज़्यादा मोबाइल ब्रॉडबैंड स्पेट्रम है, जो कंपनी को भारत में 5G क्रांति को शुरु करने के लिए सबसे बेहतरीन दावेदार बनाता है। कंपनी का कहना है कि वह पिछले कई सालों से टेलीकॉम इंडस्ट्री को लीड कर रहा है। इसके साथ ही एयरटेल भारत में अपने कई पार्टनर्स के साथ मिल कर 5G टेक्नोलॉजी को टेस्ट भी कर चुका है।

एयरटेल हैदराबाद में अपने 4G नेटवर्क पर भारत के पहले 5G एक्सपीरियंस को टेस्ट कर चुका है। इसेक साथ ही ग्रामीण क्षेत्र में भारत में पहला 5G ट्रायल भी कंपनी कर चुकी है। इसके साथ ही कंपनी 5G क्लाउड गेमिंग एक्सपीरियंस भी टेस्ट कर रही है। इसके साथ ही एयर अपने 5G इकोसिस्टम पर भी काम कर रहा है। एयरटेल नेक्स्ट जेनेरेशन नेटवर्क टेक्नोलॉजी को तेज़ी से अपनाने के लिए जोरशोर से काम कर रहा है।

airtel 5g launch date and airtel 5g plan price in India, airtel 5g sim price check full details

एयरटेल की रणनीति कितनी कारगर

एयरटेल का कहना है कि उसने बड़ी लंबी प्लानिंग और रिसर्च के साथ स्पेक्ट्रम का अधिग्रहण किया है। उसके पास लो और मिड बैंड स्पेक्ट्रम (Sub Ghz/1800/2100/2300 Band) का एक बड़ा पूल है, जिसका उपयोग कर वह अपने ग्राहकों को सबसे बेस्ट 5G कवरेज ऑफ़र करेगा। इसके साथ ही 3.5 GHz और 26 GHz बैंड एयरटेल को कम लागत में 100 गुना बेहतर कवरेज के लिए मददगार होगा। यह भी पढ़ें : 5G Spectrum: 5जी में Jio ने गाड़े झंडे, अंबानी ने बहाया पानी की तरह पैसा

एयरटेल अपनी इस रणनीति के ज़रिए महंगे Ghz बैंड को ख़रीदने से बचा है, जिससे उसने अपने करोड़ों रुपये की बचत की है। एयरटेल का कहना है कि वह अपने स्पेक्ट्रम के ज़रिए यूज़र्स को 100X कैपेसिटी के साथ बेहतरीन 5G एक्सपीरियंस ऑफ़र करेगा। इसके साथ ही एयरटेल का कहना है कि कम क़ीमत में 5G स्पेक्ट्रिम की ख़रीद भविष्य में उसे प्रतिस्पर्धात्मक रूप से लाभ देगा। यानी एयरटेल 5G की प्राइसिंग कम रखने की प्लानिंग पर काम कर रहा है।

 

LEAVE A REPLY