Airtel सिस्टम में आई खराबी, अपने आप सेंड हो रहे हैं SMS, किसी बड़े Data Scam का है डर

Airtel India 28 Days Validity Prepaid Plan Tariff

इंटरनेट मार्केट और टेक्नोलॉजी ने पिछले कुछ सालों में काफी तरक्की की है। डिजिटल होती दुनिया में अनेंको काम घर बैठे-बैठे मोबाइल से ही हो जाते हैं। इंटरनेट की बढ़ती पहुंच के साथ-साथ आम जनता की प्राइवेसी और पर्सनल डाटा पर भी सेंध लगने लगी है। बीतें कुछ दिनों में भी डाटा चोरी के कई मामले सामने आए हैं। इस कड़ी में अब भारतीय टेलीकॉम कंपनी Airtel का नाम भी जुड़ता नज़र आ रहा है। भारती एयरटेल कंपनी के सिस्टम में एक बड़ी खामी उजागर हुई है जिसके चलते एयरटेल यूजर्स के डाटा पर भी चोरी का खतरा मंडराता नज़र आ रहा है।

कंपनी के कंट्रोल में नहीं रहे SMS

Airtel सिस्टम में आई यह खामी तब उजागर हुई जब देश में एयरटेल मोबाइल यूजर्स को अपने नंबर पर एक एसएमएस प्राप्त हुआ है। यह एसएमएस एयरटेल द्वारा AD-TEST1 हैडर के साथ आया था, जिसमें ‘रिचार्ज’ से संबंधित कुछ बातें कही गई थी, जिन्हें आप नीचे दी गई फोटो में भी देख सकते हैं। इस एसएमएस में एयरटेल यूजर्स का पसर्नल मोबाइल नंबर भी लिखा गया था। मैसेज कंटेंट से ज्यादा मैसेज एड्रेस ने ही उपभोक्ताओं के मन में संदेह पैदा कर दिया था, क्योंकि यह एक टेस्टिंग मैसेज था।

Bharti Airtel Users Privacy Data Security Risk in India due to system error

पाठकों को बता दें कि अमूमन जब भी कोई टेस्टिंग मेल या मैसेज भेजा जाता है तो आमतौर पर उसका टाईटल TEST1, TEST2, TEST3 और इसी क्रम में बढ़ता रहता है। इस मैसेज के रिसीव होने पर समझा जा रहा था कि शायद एयरटेल कंपनी किसी सर्विस की टेस्टिंग कर रही है और इसके लिए कुछ चुनिंदा यूजर्स को यह टेस्ट एसएमएस भेज रही है। लेकिन आगे जो हुआ उसने पूरे किस्से को ही बदल कर रख दिया।

एयरटेल ने कबूला सिस्टम में हुई गड़बड़ी

TEST1 वाले एसएमएस के तकरीबन 3 घंटे बाद Airtel की ओर से एक ओर मैसेज यूजर्स को प्राप्त हुआ जो AD-Airtel हैडर के साथ आया था। इस एसएमएस में एयरटेल ने पिछले मैसेज को चिन्हित करते हुए कहा कि ‘हो सकता है आज बहुत से उपभोक्ताओं को टेस्ट1 की तरफ से कोई मैसेज मिला हो, वह एसएमएस सिस्टम एरर की वजह से सेंड हुआ है।’ इस नए एसएमएस में एयरटेल ने System Error की बात को कबूलते हुए उपभोक्ताओं से अपील की है कि वह पुराने एसएमएस को इग्नोर कर दें।

Bharti Airtel Users Privacy Data Security Risk in India due to system error

कंपनी का जवाब

Airtel की सिस्टम में आई खराबी और इसकी वजह से यूजर्स के पसर्नल मोबाइल नंबर पर रिसीव हुए एसएमएस के बारे में जब कंपनी के कस्टमर केयर विभाग में बात की गई, तो वहां से जानकारी मिली कि यह एसएमएस किसी एक सर्किल में नहीं बल्कि पूरे भारत देश में एयरटेल यूजर्स के नंबर पर रिसीव हुआ है। कंपनी ने माना है कि उनके सिस्टम में कुछ गड़बड़ी हुई है और इस वजह से Airtel Postpaid और Airtel Prepaid दोनों तरह से यूजर्स को इस तरह के मैसेज प्राप्त हुए हैं। यह भी पढ़ें : Android स्मार्टफोन यूजर्स पर फिर छाये संकट के बादल, अकाउंट-पासवर्ड चुराने के लिए आ रहे ये SMS

डाटा लीक का डर

एयरटेल के सिस्टम में क्या गड़बड़ी हुई है इस बात को कंपनी की ओर से सार्वजनिक नहीं किया गया है। खबर लिखे जाने तक Airtel ने अपने किसी भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म या फिर प्रैस विज्ञप्ति के माध्यम से इस मामले की कोई जानकारी नहीं दी है। सिस्टम में आई खामी से आम मोबाइल उपभोक्ताओं व एयरटेल यूजर्स के डाटा पर क्या प्रभाव पड़ा है और उनकी निजी जानकारी Airtel कंपनी के पास कितनी सुरक्षित है, यह बात भी अभी पर्दे के पीछे ही है।

Bharti Airtel Users Privacy Data Security Risk in India due to system error

बहरहाल आम जनता में डर है कि सिस्टम एरर की वजह से अगर पसर्नल मोबाइल नंबर को कंपनी द्वारा बेवजह यूज़ किया जा सकता है तो उपभोक्ताओं की जानकारी के बिन उस मोबाइल नंबर का इस्तेमाल कहीं और भी किया जा सकता है। आज के वक्त में जब बड़ी-बड़ी बैंक ट्रांजेक्शन, KYC, Aadhaar Card और PAN Card लिंक सब एक मोबाइल नंबर के जरिये ही चल रही है, ऐसे में टेलीकॉम कंपनी द्वारा पसर्नल मोबाइल नंबर का अवांछित उपयोग गलत साबित होता है। यह भी पढ़ें : Jio Prepaid SIM को पोस्टपेड में ऐसे बदलें, जानें घर बैठे पोर्ट करने का सबसे आसान तरीका

BSNL ने भी किया था अलर्ट जारी

कुछ ही दिन हुए हैं जब सरकारी टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल ने भी अलर्ट जारी करते हुए कुछ एसएमएस के हैडर्स और एड्रेस भी शेयर किए थे। कंपनी की लिस्ट में मौजूद एसएमएस में CP-SMSFST, AD-VIRINF, CP-BLMKND और BP-ITLINN शामिल थे, जिन्हें फर्जी करार दिया गया था। भारत संचार निगम लिमिटेड ने साफ कहा था कि इन हैडर्स के साथ आने वाले एसएमएस कंपनी की तरह से नहीं भेजे जा रहे हैं, लिहाजा इन मैसेज में मौजूद किसी भी लिंक को क्लिक न करें और न ही इनका कोई जवाब दें।

LEAVE A REPLY