Amazon पर बिक रहे तिरंगे के डिजाइन वाले प्रोडक्ट, भारतीयों का फूटा गुस्सा, कर डाली बॉयकॉट की अपील

ई-कॉमर्स साइट Amazon India एक बार फिर से बड़ी मुसिबत में फंसता दिखाई दे रहा है। इस बार सोशल मीडिया (Amazon Insults National Flag News) पर लोग लगातार अमेजन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।दरअसल, अमेजन पर कथित तौर पर भारतीय तिरंगे का अपमान करने का आरोप लगा है। अमेजन पर खाने-पीने के पदार्थ सहित कई प्रोडक्ट पर भारतीय तिरंगे की तस्वीरें लगी हैं जिसकी बिक्री को लेकर सोशल मीडिया चैनल ट्विटर पर #Amazon_Insults_National_Flag ट्रेंड कर रहा है।

भारतीयों का फूटा गुस्सा

आपको बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब अमेजन इंडिया पर कथित तौर पर भारतीय तिरंगे (Indian Flag Controversy ) के अपमान को लेकर बवाल मचा हो। इससे पहले कई बार ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, सोशल मीडिया पर कुछ यूजर्स का कहना है कि प्रोडक्ट पर तिरंगे का उपयोग करना भारतीय ध्वज संहिता, 2002 के खिलाफ है। वहीं, एक ओर सोशल मीडिया यूजर्स के एक वर्ग का कहना है कि इस तरह का उपयोग राष्ट्रीय ध्वज का अपमान है।

दर्ज हो FIR

यूजर सोशल मीडिया पर अमेजन बॉयकॉट करने की अपील भी कर रहे हैं। वहीं, इस ट्रेंड को देखते हुए मध्य प्रदेश के गृह मंत्री ने Amazon के खिलाफ मामला दर्ज करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि मैंने डीजीपी को Amazon के अधिकारियों और मालिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि
प्रथम दृष्टया यह मामला ध्वज संहिता का उल्लंघन प्रतीत होता है जो पीड़ाजनक है और राष्ट्र का अपमान किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

अमेजन ने कहा लेगी एक्शन

दूसरी ओर Amazon ने कहा कि वह Non-Compliant प्रोडक्ट्स को लिस्ट करने को लेकर सेलर के खिलाफ जरूरी एक्शन लेगी। कंपनी का कहना है कि Amazon.in एक ऑनलाइन मार्केटप्लेस है जिस पर थर्ड पार्टी सेलर्स सीधे ग्राहकों को प्रोडक्ट्स की बिक्री करते हैं और इसलिए वे इन प्रोडक्ट्स की बिक्री के लिए नियमों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार है।

लेटेस्ट वीडियो

पहले भी अमेजन का हुआ था विरोध

बता दें कि साल 2017 में अमेजन को भारत के कड़े विरोध के बाद अपनी कनाडाई वेबसाइट पर भारतीय ध्वज वाले डोरमैट और शूज जैसे प्रोडक्ट्स को हटाना पड़ा था। इस मामले को उस समय विदेश मंत्री रहीं दिवंगत सुषमा स्वराज ने ट्विट कर अमेजन से अपनी साइट से इन प्रोडक्ट को हटाने की मांग की थी।

LEAVE A REPLY