एंडरॉयड ‘पी’ सिक्योरिटी होगी और भी सख्त, चोर ऐप्स की नहीं होगी खैर

android p to prevent camera and microphone accessing from malicious apps
Photo: gottabemobile.com

विश्व भर में सबसे ज्यादा लोग एंडरॉयड फोन का उपयोग करते हैं। ओपेन प्लेटफॉर्म, आसान उपयोग और कम कीमत की वजह से लोग इसे काफी पंसद करते हैं। परंतु एंडरॉयड स्मार्टफोन में सिक्योरिटी हमेशा से ही यूजर्स के लिए बहुत बड़ा सिर दर्द रहा है। ऐप्स ​निर्माता यूजर्स के फोटो और आॅडियो सहित दूसरे डाटा को एक्सेस कर लेते है। एंडरॉयड ओएस पर उठ रहे इन सावालों को देखते हुए गूगल ने अब सिकंजा कसने की कोशिश की है। खबर के अनुसार नए एंडरॉयड आॅपरेटिंग सिस्टम ‘पी’ में कंपनी सिक्योरिटी को और पुख्ता करने वाली है। क्या है 2.5डी कर्व्ड ग्लास और क्या हैं इसके फायदे व नुकसान?

एक्सडीए डेवलपर्स के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार एंडरॉयड ‘पी’ में ऐप्लिकेशंस को कैमरा और माइक्रोफोन ऐक्सेस का अधिकार नहीं होगा। बैकग्राउंड में चल रहे ऐप बिना आपकी अनुमती के कैमरा और माइक्रोफोन को ऐक्सेस नहीं कर पाएंगे। 4जी स्पीड के मामले में पाकिस्तान और श्रीलंका से भी पीछे है भारत

इस ​फीचर को खास कर उन ऐप्स के लिए तैयार किया जा रहा है जो चुपके से आपके फोन से डाटा चोरी करने का काम करते हैं। रिपोर्ट के अनुसार कुछ मालवेयर ऐप्स यूजर्स को काफी परेशान करता है। हाल में ही घोस्टकंट्रोल नाम का एंडरॉयड मालवेयर चुपके से वाइस रिकॉर्डिंग और वीडियो चुराते पाया गया था। इन्हीं घटनाओं को देखते हुए गूगल एंडरॉयड पी में सिक्योरिटी को पुख्ता करने की सोच रहा है।

जैसा ​कि मालूम है हर साल गूगल एंडरॉयड आॅपरेटिंग सिस्टम का अपडेट लाता है जो अल्फाबेट के अनुसार होता है और इसे किसी मिठाई के नाम पर रखा जाता है। पिछले साल कंपनी ने एंडरॉयड एन को पेश किया था जिसे बाद में 8.0 नुगट का नाम दिया गया। वहीं अब एंडरॉयड पी आने वाला है। हालांकि अब एंडरॉयड पी के नाम का खुलासा नहीं किया गया है।