Facebook ने निकाला Apple पर गुस्सा, हटा दिया ‘ब्लू टिक’ पेज वेरिफिकेशन, जानें क्या है पूरा मामला

apple facebook page blue tick verification remove

Facebook और Apple ये दोनों टेक जगत और इनोवेशन के बड़े नाम हैं। फेसबुक के मालिक मार्क जुकरबर्ग और एप्पल के सीईओ टिम कुक दोनों का नाम इंडिया में हर कोई जानता है। लेकिन आजकल ये दोनों बड़ी हस्ती एक-दूसरे के आमने-सामने खड़ी है। बात कुछ ऐसी है कि एप्पल और फेसबुक दोनों ही अपनी बातों पर अड़े हैं। दोनों की लड़ाई इस हद तक पहुॅंच चुकी है कि फेसबुक ने एप्पल पर अपनी खुंदक निकालते हुए कंपनी के FB Page से वेरिफिकेशन वाला ब्लू टिक तक हटा लिया है।

सबसे पहले ब्लू टिक की बात करें तो लगभग सभी सोशल मीडिया यूजर्स को पता होगा कि facebook, Instagram और Twitter जैसे प्लेटफाॅर्म पर बड़ी सेलिब्रेटी, कंपनी, ब्रांड व ऑर्गेनाइजेशन इत्यादि को ब्लू टिक दिया जाता है। यह ब्लू टिक उनकी सत्यता का प्रमाण होता है जिससे पता चलता है कि वह अकाउंट असली और ऑरिजनल है। Apple को भी ऐसा ही ब्लू टिक कई साल पहले से मिला हुआ था। लेकिन फेसबुक ने एप्पल के साथ हो रही खींचतान की खीज एप्पल के एफबी अकाउंट पर निकाली है और Apple Facebook Page पर से ब्लू टिक हटा दिया है।

apple facebook page blue tick verification remove

यह है पूरा मामला

फेसबुक और एप्पल के इस झगड़े की वजह है एप्पल द्वारा लागू की गई नई प्राइवेसी पाॅलिसी। एप्पल ने इसे “प्राइवेसी न्यूट्रिशन लेबल” का नाम दिया है। इस नई पाॅलिसी के तहत एप्पल ऐप स्टोर पर मौजूद सभी तरह की ऐप्स को पब्लिश करने से पहले उनके डेवलपर्स को यह क्लियर करना होगा कि वह फोन में किस तरह की और कौन-कौन सी एक्सेस परमिशन मांगेगे। यानि ऐप फोन में मौजूद किस सर्विस का यूज़ करेगी और कौन-सा डाटा कलेक्ट करेगी, ये सभी जानकारी पहले से ही बतानी होगी। यह भी पढ़ें: JioPhone के बाद अंबानी का नया दांव, आ रहा है एक और 4G फीचर फोन, कीमत होगी 1,000 से कम

इस नई पाॅलिसी से ऐप को डाउनलोड करने से पहले ही यूसर को पता लग जाएगी कि वह ऐप फोन में डाउनलोड होने के बाद कौन सा डाटा यूज़ करने वाली है और यूज़ करने की वजह क्या होगी। लेकिन इस पाॅलिसी से व्हाट्सऐप को थोड़ी परेशानी हो रही है। व्हाट्सऐप का मालिकाना हक फेसबुक के पास ही है। कंपनी का कहना है कि यह नियम एप्पल ने जानबूझकर ऐप स्टोर पर मौजूद थर्ड पार्टी ऐप्स के लिए बनाया है, जब्कि एप्पल अपनी खुद की ऐप्स पर यह नियम नहीं लगा रहा है।

apple facebook page blue tick verification remove

फेसबुक की ओर से उठे इस सवाल पर हालांकि एप्पल ने साफ कर दिया है कि यह पाॅलिसी ऐप स्टोर पर मौजूद सभी ऐप्स के लिए लागू होगी फिर वह स्वयं एप्पल की ऐप हो या थर्ड पार्टी ऐप। एप्पल द्वारा दिए गए जवाब के बाद भी व्हाट्सऐप और फेसबुक को तसल्ली नहीं हो रही है। और इसी बात की झल्लाहट एफबी ने एप्पल के फेसबुक पेज से ब्लू टिक को हटाकर प्रकट की है। यह भी पढ़ें: बॉक्स से iPhone निकालकर रखते थे ईंट और साबुन, एक-एक करके उड़ा दिए 1 करोड़ के 78 फोन

यहां हम साफ कर दें कि 91मोबाइल्स एप्पल के एफबी पेज पर ब्लू टिक न होने की वजह की पुष्टि नहीं करता है और न ही फेसबुक तथा एप्पल के बीच चल रहे विवाद पर किसी तरह का पक्ष लेता है।

LEAVE A REPLY