क्या अभी नहीं आएगा एप्पल का 5जी फोन, चिपसेट लड़ाई को लेकर फिर कोर्ट पहुंचे एप्पल और क्वालकॉम

after samsung apple sued for defective component iphone 6 battery explosion case

टेक जगत की दिग्गज कंरवी एप्पल और क्वॉलकॉम का विवाद काफी पुराना है। कुछ समय पहले जर्मनी के एक कोर्ट ने एप्पल और चिपसेट बनाने वाली कंपनी क्वॉलकॉम के बीच चल रहे विवाद में फैसला सुनाया था जो कि क्वॉलकॉम के पक्ष में गया था। वहीं, अब खबर सामने आ रही है कि एप्पल अपने नए आईफोन्स में क्वालकॉम के 4जी एलटीई प्रोसेसर का इस्तेमाल करना चाहता है, लेकिन चिपमेकर इसे एप्पल को नहीं बेच रहा।

इस बात का असर एप्पल के 5जी अडोप्शन पर पड़ेगा। अगर ऐसा हुआ तो दूसरी कंपनियों के बाद ही हम एप्पल के 5जी फोन को देख पाएंगे। सीनेट की खबर के अनुसार एप्पल के ऑपरेटिंग चीफ ने सोमवार को दी। क्वालकॉम पुराने आईफोन्स के लिए एप्पल को चिप्स प्रदान कर रहा है, जिसमें आईफोन 7 और 7 प्लस शामिल हैं। एप्पल के सीओओ जेफ विलियम्स ने क्वालकॉम के खिलाफ अमेरिकी संघीय व्यापार आयोग (एफटीसी) के ट्रायल के दौरान सोमवार को यह बात कही है। उन्होंने कहा कि क्वॉलकॉम साल 2018 में आए एप्पल आईफोन्स के लिए प्रोसेसर नहीं दे रहा है।

वीवो और ओपो के बाद एप्पल का फुल-स्क्रीन वाला स्मार्टफोन आया सामने, फोन पेटेंट हुआ फाईल

विलियम्स का मानना है कि एप्पल ने क्वालकॉम पेटेंट का उपयोग करने के लिए भुगतान की जाने वाली रॉयल्टी दर – $ 7.50 प्रति आईफोन बहुत अधिक है।बता दें कि चीन में भी क्वॉलकॉम एप्पल के खिलाफ एक केस जीत चुका है। चीन में दोनों कंपनियों के बीच पेटेंट का विवाद था। क्वॉलकॉम चिप्स का इस्तेमाल एप्पल के आईफोन्स में किया जाता है। 

आईफोन एक्सएस मैक्स में लगी आग, एक बार फिर सवालों के घेरे में घिरा एप्पल

वहीं, अब एफटीसी ने क्वालकॉम पर वायरलेस चिप्स में एकाधिकार का संचालन करने का आरोप लगाया है, जो कि एप्पल जैसे ग्राहकों को इसके साथ काम करने के लिए मजबूर करता है और इसकी तकनीक के लिए अत्यधिक लाइसेंस शुल्क वसूलता है। एफटीसी ने कहा है कि क्वालकॉम ने एप्पल को आईफोन्स में अपने चिप्स का उपयोग करने के बदले में अपनी तकनीक के लिए लाइसेंस शुल्क का भुगतान करने के लिए मजबूर किया।

एफटीसी का ट्रायल सैन जोस, कैलिफोर्निया में अमेरिकी जिला न्यायालय में 4 जनवरी को हुआ। एप्पल अपना खुद का एप्लिकेशन प्रोसेसर बनाता है, लेकिन नेटवर्क कनेक्टिविटी के लिए तीसरे पक्ष के चिप्स पर निर्भर रहना होता है। 2011 में आईफोन 4एस से लेकर आईफोन 6एस और 2015 में 6एस प्लस तक क्वालकॉम चिप का इस्तेमाल करता था। लेकिन, अगली साल से एप्पल ने आईफोन 7 और 7 प्लस के कुछ मॉडल्स के लिए इंटेल के मॉडम का उपयोग किया था।

हमें ट्विटर पर फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें
हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें