ब्लैकबेरी नहीं करेगा स्मार्टफोन का निर्माण

मोबाईल टेक्नोलॉजी की दुनिया के जाने-माने नाम ब्लैकबेरी ने स्मार्टफोन की दुनिया में अपने चुनिंदा हैंडसेट की निकाले है। इसी साल सितंबर माह में ब्लैकबेरी द्वारा स्मार्टफोन निर्माण छोड़ने की खबर से मोबाईल जगत में जहां खलबली मच गई थी वहीं आज कंपनी की ओर से फोन डिजाइनिंग व निर्माण कार्य बंद करने की आधिकारिक घोषणा कर दी गई है।

ब्लैकबेरी की ओर से जारी आधिकारिक बयान ने मोबाईल जगत के साथ साथ ब्लैकबेरी फैन्स को भी तगड़ा झटका दिया है। ब्लैकबेरी की आॅफिशियल घोषणा में कहा गया है कि अब से ब्लैकबेरी किसी भी फीचर या स्मार्टफोन की डिजाइनिंग और निर्माण नहीं करेगी। ब्लैकबेरी ब्रांड से बनने वाले सभी स्मार्टफोन्स को अब टीसीएल कम्यूनिकेशन्स द्वारा बनाया जाएगा। गौरतलब है कि एल्काटेल ब्रांड के भी सभी स्मार्टफोन्स का निर्माण टीसीएल ही करती है।

blackberry3

टीसीएल और ब्लैकबेरी के इस ​करार के अंतर्गत टीसीएल कंपनी जहां ब्लैकबेरी के हार्डवेयर, डिजाईन समेत ब्रांड प्रोडेक्ट्स की सेल और डिस्ट्रब्यूशन का कार्यभार संभालेगी वहीं ब्रांड के साफ्टवेयर तथा सिक्योरिटी का कंट्रोल ​फिलहाल​ ब्लैकबेरी के ही हाथों में रहेगा।

जानें डिजिटल पेमेंट से कैसे पाएं 1 करोड़ का इनाम

आपको बता दें कि टीसीएल द्वारा निर्मित ब्लैकबेरी के फोन फिलहाल भारत, श्रीलंका, नेपाल, बांग्लादेश और इंडोनेशिया आदि देशो में लॉन्च नहीं होंगे। विश्व मोबाईल बाज़ार में जहां भारत सबसे बड़े मोबाईल उपभोक्ताओं में से एक माना जाता है वहीं टीसीएल का यह कदम हैरान करने वाला है।

blackberry1

गौरतलब है कि चायनिज़ कंपनी टीसीएल उत्तरी अमेरिका की चौथी सबसे बड़ी हैंडसेट निर्माता कंपनी है और ब्लैकबेरी के हालिया रिलीज़ स्मार्टफोन डीटेक50 और डीटेक60 के निर्माण में भी इस कंपनी की भागीदारी रही है।

SHARE
Previous articleक्या लेनोवो के6 नोट से बेहतर है मोटो एम?
Next articleफ्लिपकार्ट से 20,000 रुपये में खरीद सकेंगे वनप्लस 3
मेरे लिखने से आपके पढ़ने तक, सब तकनीक है। Kamal Kant का मानना है कि तकनीक नई हो या पुरानी हर रोज़ कुछ न कुछ नया ​दिखाती है, सिखाती है। टेक्नोलॉजी के प्रति इसी सोच ने कमल को तकनीक जगत में आने के लिए प्रेरित किया। पत्रकारिता के क्षेत्र में अपने 10 साल के अनुभव के दौरान ये विभिन्न प्रतिष्ठित संस्थानों से जुड़ते हुए मीडिया के तीनों मंच - प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक्स और डिजीटल मीडिया पर कार्य चुके हैं।