BSNL यूजर्स इस SMS से रहें सावधान, खाली होने से बच जाएगा बैंक अकाउंट

ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले नई-नई तरह की तकनीक का इस्तेमाल कर आम लोगों को ठग रहे हैं। इन्हीं साइबर ठगों से बचने के लिए लोगों को समय-समय पर सरकार और बैंकों की तरफ से चेतावनी भी दी जाती है कि वो कैसे इस तरह के फ्रॉड्स से बच सकते हैं। वहीं, अब इसी बीच साइबर हैकर्स ने अपना निशाना BSNL यूजर्स को बनाया है। सामने आई जानकारी के अनुसारइ, नए बैंकिंग फ्रॉड में सरकारी टेलिकॉम कंपनी BSNL के यूजर्स का बैंक अकाउंट खाली करने की कोशिश में साइबर ठगों ने झाल बुनना शुरू कर दिया है। इसी को देखते हुए सरकारी टेलिकॉम कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड ने यूजर्स को SMS फ्रॉड को लेकर चेतावनी दी है।

कंपनी ने किया अलर्ट

सरकारी स्वामित्व वाली टेलिकॉम कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) ने अपने उपयोगकर्ताओं को SMS फ्रॉड के बारे में चेतावनी देते हुए एक नोटिस जारी किया। बीएसएनएल ने उपयोगकर्ताओं को चेतावनी दी कि वे धोखेबाजों को व्यक्तिगत जानकारी न दें, जो बीएसएनएल कर्मचारियों की आड़ में आपसे जानकारी प्राप्त करने की कोशिश करेंगे।

BSNL offering free sim card know how to avail benefits

मैसेज में क्या है लिखा

आज कल केवाईसी के नाम पर यूजर्स को मैसेज किया जा रहा है, जिसमें उनसे उनकी पर्सनल डिटेल मांगी जा रही है। साथ ही मैसेज में उनसे कहा जा रहा है कि KYC डिटेल्स न होने के चलते उनकी सिम को सस्पेंड हो जाएगा। बीएसएनएल ने यह तब नोट किया कि जालसाज ग्राहक के बैंक खाते से पैसे निकालने के लिए एसएमएस के जरिए केवाईसी मैसेज मिलने की शिकायत सामने आई। इसे भी पढ़ें: Jio, Airtel, Vi और BSNL नंबर पर Do Not Disturb एक्टिवेट करने का सबसे आसान तरीका, चंद सेकेंड का है ये खेल

ऐसे होंगे फ्रॉड SMS

इन स्पैम मैसेज के हेडर ‘CP-SMSFST, AD-VIRINF, CP-BLMKND और BP-ITLINN’ जैसा कुछ लिखा है। इस बात की जानकारी सबसे पहले टेलीकॉम टॉक वेबसाइट ने दी थी।

know how to file online complaint for cyber crime in india step by step process

मैसेज पर न दें ध्यान

कंपनी ने साफ किया है कि ये मैसेज कंपनी की तरफ से नहीं भेजे जा रहे हैं इसलिए इन्हें नजरअंदाज कर दें वरना आपके बैंक अकाउंट से आपका सारा पैसा साइबर ठग द्वारा चुराया जा सकता है। इसे भी पढ़ें: BSNL के इस प्लान में अब मिलेगा 720GB डाटा, क्या दे पाएगा Jio को चुनौती?

बता दें कि पिछले महीने एसएमएस के जरिए हो रही धोखाधड़ी को देखते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने TRAI को TCCCPR को लागू करने का निर्देश दिया था। इसका मतलब टेलिकॉम कमर्शियल कम्यूनिकेशन कस्टमर प्रीपरेंस रेग्यूलेशन है। इसे अनाधिकृत या स्पैम कॉल और मैसेजेज को रोकने के लिए बनाया गया है।

LEAVE A REPLY