जियो को मिली जीत और एयरटेल को लगा झटका, जारी रहेगा जियो का सस्ता आॅफर

जियो यूजर और रिलायंस​ जियो के लिए आज बेहद की खुशी का दिन साबित हुआ। उचित व्यापार नियामक कंपीटिशन कमीशन ऑफ इंडिया (सीसीआई) ने एयरटेल की शिकायत को रद्द कर जियो के पक्ष में आपना फैसला सुनाया है। एयटरेल द्वारा सीसीआई में रिलायंस इं​डस्ट्रीज और रिलायंस जियो के खिलाफ मोबाइल सेवा बाजार में प्रातिस्प्रधा को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगया था जिसे नियामक ने ​अस्वीकर कर दिया है।

भारत में 4जी सर्विस लॉन्च करने के साथ ही मुकेश अंबानी कंपनी रिलायंस जियो ने बेहद ही कम कीमत पर 4जी सर्विस मुहैया कराया। कंपनी द्वारा लागू शुल्क ने दूसरे आॅपरेटर्स के लिए परेशानी खड़ी कर दी और अंतत: भारत की नंबर एक सेवा प्रदाता कंपनी एयरटेल ने मुकेश अंबानी की कंपनी के खिलाफ कंपीटिशन कमीशन ऑफ इंडिया (सीसीआई) में शिकायत कर दी थी। एयरटेल ने रिलायंस जियो के हैप्पी न्यू ईयर ऑफर सहित अन्य प्लान को विरोधाभाषी बताया। एयरटेल द्वारा जियो पर आरोप लगाया गया था कि रिलायंस इंडस्ट्रीज की मदद से जियो अपने एकाधिकारों को बनाने के लिए प्रीडेटरी प्राइसिंग का सहारा ले रही है। इसके साथ ही यह भी आरोप लगाया गया है​ कि जियो की इस आॅफर की वजह से बाजार में प्रातिस्प्रधा को नुकसान हो रहा है।

एक्सक्लूसिव: एयरटेल और आइडिया ने शुरू की आधार वेरिफिकेशन, सभी उपभोक्ताओं के लिए है जरूरी

एयरटेल के शिकायत का जवाब देते हुए सीसीआई ने कहा रिलायंस जियो के खिलाफ यहां कोई भी शिकायत नहीं बनती है और कंपनी ने रिलायंस ​इंडस्ट्रीज को भी इस शिकायत में शामिल किया है जो कि मोबाइल सेवा में है ही नहीं। कोई कंपनी यदि किसी टेलीकॉम कंपनी में निवेश कर रही है तो उसे दोषी नहीं बनाया जा सकता।

एक्सक्लूसिव: दो वेरियंट में लॉन्च होगा जियो का सस्ता 4जी वोएलटीई फोन, वाईफाई और एनएफसी से होगा लैस, जानें कंपनी पूरी तैयारी

वहीं सीसीआई ने जियो के प्रमोशनल आॅफर की तारीफ भी की और कहा कि प्रथम ​दृश्या में कंपनी द्वारा किसी भी प्रातिस्प्रधा को नुकसान पहुंचाने लायक नहीं पाया जाता है। ऐसे में जियो के खिलाफ कोई भी शिकायत नहीं बनती है।

गौरतलब है​ कि एयरटेल द्वारा सीसीआई फरवरी में एक खत लिखकर शिकायत की गई थी कि जिसमें रिलायंस जिओ की फ्री सर्विस आॅफर की वजह से टेलीकॉम सेक्टर की प्रतिस्पर्धा कमजोर होने की बात कही गई थी। कंपनी द्वारा आरोप लगाया गया था कि जियो द्वारा गैर-प्रतिस्पधात्मक रवैया अपनाकर बाजार पर अपना दबदबा बनाने की कोशिश कर रही है।

सीसआई भारत सरकार की संस्था है जो बाजार में प्रतिस्प्रधा को बनाए रखने के लिए कार्य करती है। वहीं यह संस्था यह भी ध्यान देती है कोई भी कंपनी गैर प्रतिस्प्रधा रूख से बाजार को खराब न करे।