इस साल भारतीयों ने खरीदे 50 हजार करोड़ के चाइनीज फोन : रिपोर्ट

vivo-v21-realme-gt-neo-samsung-xiaomi-redmi-smartphone-india-launch-might-delay-postpone-due-to-coronavirus

देश में कहीं न कहीं ऐसा सुनने को मिलता ही रहता है कि चीनी प्रोडक्ट्स का बहिष्कार करना चाहिए। चीन में बने सामान का यूज़ नहीं करना चाहिए, सिर्फ मेड इन इंडिया चीजें ही इस्तेमाल करनी चाहिए। बोलने वाले बेशक कितना ही बोलें लेकिन सच तो यह है कि इंडिया की स्मार्टफोन मार्केट लगातार चीनी प्रोडक्ट्स व चीनी स्मार्टफोंस के लिए बड़ा बाजार बनता जा रहा है। भारत में बिके स्मार्टफोंस से जुड़ी एक ऐसी ही चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है जिसमें बताया है कि इस साल सिर्फ 10 महीनों में ही भारतीयों से 50 हजार करोड़ के चीनी मोबाइल फोन खरीदें हैं।

प्रसिद्ध रिसर्च फर्म काउंटरप्वाइंट ने अपनी रिपोर्ट के इस बात का खुलासा किया है ​साल 2018 में अब तक 50 हजार करोड़ के चीनी मोबाइल फोन इंडियन यूजर्स द्वारा खरीदें जा चुके हैं। रोचक बात यह है कि इस गिनती में साल के ​अंतिम दो महीनों की सेल शामिल नहीं है। यानि कई करोड़ों के इन आंकड़ो में दिवाली व ​क्रिसमस जैसे त्यौहारों पर हुई शॉपिंग नहीं जुड़ी है। अगर पूरे साल में भारत में बिके स्मार्टफोन व फीचर फोन के जोड़ा जाए तो यह आंकड़ा 50 हजार करोड़ से कहीं ज्यादा उपर पहुॅंच जाएगा।

samsung-xiaomi

इंडिया के स्मार्टफोन बाजार पर फैल रही इन चीनी कंपनियों में शाओमी सबसे उपर है। शाओमी के साथ ही ओपो, वीवो और आॅनर ने भी भारतीय बाजार में मजबूत स्थिति बना ली है। रिपोर्ट के मुताबिक साल 2018 में खरीदे गए चीनी स्मार्टफोंस की यह गिनती पिछले साल के मुकाबले दोगुनी है। शाओमी, ओपो, वीवो और आॅनर के साथ ही वनप्लस तथा इनफिनिक्स ने मिलकर भारत के 50 फीसदी मोबाइल बाजार पर कब्जा जमाया है।

4 रियर कैमरे वाला सैमसंग गैलेक्सी ए9 39,000 रुपये में होगा भारत में लॉन्च, 6जीबी रैम के साथ होगी 6.3-इंच की स्क्रीन

लंबे समय तक भारत में नंबर वन रहने वाली कोरियन कपंनी सैमसंग को भी चीनी कंपनियों ने पीछे छोड़ दिया है। इस मुद्दे पर काउंटरप्वाइंट का कहना है कि चीनी ब्रांड्स अपने प्रोडक्ट्स व तकनीक के मामले में इनोवेशन करते रहते हैं। इन कंपनियों के पास रिसर्च और डेवलपमेंट हब के साथ ही सप्लाई चेन और इकोसिस्टम का एक्सेस है जिससे ये स्मार्टफोंस में नई तकनीक जोड़ते रहते हैं। वहीं साथ ही इंडियन मार्केट में हिट होने की सबसे बड़ी यूएसपी ‘कम कीमत’ को ये ब्रांड बखूबी फॉलो कर रहे हैं।

अदृश्य सेल्फी कैमरे और इनविज़िबल फिंगरप्रिंट सेंसर वाला लेनोवो ज़ेड5 प्रो लॉन्च

काउंटरप्वाइंट ने अपनी रिपोर्ट के साथ साथ यह भी माना है कि चीनी कंपनियां भारत में कम कीमत वाले फोन बेच रही है और लो बजट व मिड रेंज में इन कंपनियों ने स्मार्टफोंस की एक बड़ी खेप बाजार में उतारी हुई है। सैमसंग जैसे ब्रांड्स की तुलना में ये चीनी ब्रांड सस्ते में उपलब्ध है जो भारतीय यूजर्स को आकर्षित करते हैं। कम कीमत और अच्छे फीचर्स ही इंडियन स्मार्टफोन यूजर्स को आर्कषित करते हैं और यही वजह है कि आज भारत में स्मार्टफोन बाजार में चीनी ब्रांड्स की तूती बोल रही है।