नए फोन की खरीदारी के समय कभी न करें ये पांच गलतियां

जब आप नए फोन की खरीदारी का प्लान बनाते हैं तो फोन को लेकर कई कल्पनाएं करते हैं। बजट कितना भी हो लेकिन आप बाजार में उपलब्ध सबसे बेहतरीन फोन लेना चाहते हैं। नए फोन लेने के इस उत्साह में अक्सर आप ऐसी गलती कर बैठते हैं जो कि बाद मे आपको भारी पड़ जाती है। आपके हाथों में एक स्टालिश फोन तो होता है लेकिन उसके फीचर्स मामूली होते हैं। इतना ही नहीं नया होने के बावजूद वह पुराना कहा जाता है। आगे हमनें ऐसी ही पांच गलतियों के बारे में बताया है जिन्हें नए फोन लेने के दौरान आपको कभी नहीं करना चाहिए।

1. सिर्फ नाम देखकर करते हैं खरीदारी
कई लोग आज फोन सिर्फ ब्रांड देखकर खरीदारी करते हैं। फलां ब्रांड बहुत बड़ा है इसलिए उसके उसके फोन भी बहुत अच्छे होंगे। जबकि ऐसा नहीं है। बड़े ब्रांड के फोन की कीमत बहुत ज्यादा होती है और उससे बेहद ही कम कीमत में आप दूसरे ब्रांड के फोन खरीद सकते हैं। उदाहरण के लिए कई लोग आईफोन की खरीदारी इसलिए करते हैं कि आईफोन का नाम बड़ा है और उसके दोस्त व बॉस के पास है। जबकि यह नहीं मालूम कि आईफोन से ज्यादा फीचर्स एंडरॉयड के कम रेंज वाले फोन में है। आप आईफोन के उपयोग से भली भांति परिचित हैं, उसके उपयोग को जानते हैं तभी खरीदारी करें। अन्यथा एंडरॉयड शेयरिंग, म्यूजिक वीडियो और सस्ते ऐप के मामले में एंडरॉयड फोन कहीं आगे हैं।

जानें कैसे करें जियो नंबर पर मुफ्त में कॉलर ट्यून सेट, हर मिनट बदल सकते हैं अपना कॉलर ट्यून

2. ज्यादा फीचर के चक्कर में सॉफ्टेवयर को जाते हैं भूल
जब हम फोन लेने जाते हैं तो सारे फीचर्स की जानकारी ले लेते हैं लेकिन सॉफ्टवेयर नहीं पूछते। परंतु आपको मालूम नहीं कि सॉफ्टवेयर ही फीचर का निर्धारण करता है। ​आपका फोन जितना अपडेट रहेगा उसमें उतने फीचर्स होंगे। वहीं इतना ही नहीं आप नए सॉफ्टवेयर के साथ ज्यादा सुरक्षित भी रहेंगे। इसलिए फोन लेने जाते हैं तो आप नया सॉफ्टवेयर लें। क्योंकि पुराने सॉफ्टवेयर के साथ आपका फोन नया होने के बावजूद भी पुराना होगा। इतना ही नहीं सॉफ्टवेयर न तो सिक्योर होगा नहीं आपको नए फीचर्स मिलेंगे।

smartphone

3. कैमरे पिक्सल देखकर फोन की खरीदारी
अक्सर लोग अपने स्मार्टफोन में कैमरे का मेगापिक्सल देखकर खरीदारी करते हैं जबकि आपको मालूम होना चाहिए कि उसमें कैमरा सेंसर ज्यादा महत्वपूर्ण है। इसके अलावा जो अतिरिक्त फीचर्स हैं उन्हें भी बेहतर होना चाहिए।

smartphone-photography

. बड़ी स्क्रीन से बेहतर है बड़ा प्रोसेसर
लोग स्मार्टफोन की खरीदारी बड़ी स्क्रीन और ज्यादा पिक्सल रेजल्यूशन वाला डिसप्ले देखकर करते हैं जब​कि फोन की खरीदारी में डिसप्ले से ज्यादा प्रोसेसर क्लॉक स्पीड, रैम और रोम को देखकर करनी चाहिए।

गूगल तेज़ ऐप से इस तरह आप मुफ्त में कमा सकते हैं पैसे

5. सर्विस की अनदेखी
कभी कभी सस्ते फोन और ज्यादा छूट के चक्कर में आप सर्विस सेंटर और आफ्टर सेल्स सर्विस की अनदेखी कर देते हैं लेकिन ऐसा कर आप बहुत बड़ा जोखिम लेते हैं। फोन के में यदि समस्या हो तो थोड़ा बचाने के चक्कर में आप ज्यादा का नुकसान कर बैठते हैं। इतना ही नहीं आज कल फोन के साथ स्क्रीन रिप्लेसमेंट और डैमेज वारंटी भी आ रही है। नए फोन की खरीदारी के दौरान इन चीजों को भी जरूर देखें।