इन स्टेप्स को फॉलो कर ऑनलाइन बनवाएं Driving Licence, लंबी लाइन के झंझट से मिलेगा छुटकारा

आज भी ऑनलाइन सरकारी दस्तावेज बनवाना कुछ लोगों को पहाड़ खोदने जैसा कठिन लगता है, लेकिन अगर इसकी सही जानकारी हो तो आप सरकारी दफ्तरों की लंबी लाइनों के झंझट से निकलकर घर बैठे लगभग सभी दस्तावेज बनवा सकते हैं। इसी को देखते हुए हम काफी समय से आपको ऐसे टिप्स एंड ट्रिक्स की जानकारी दे रहे हैं, जिससे आप अपना समय बचाते हुए यह काम कर सकते हैं। आज हम पैन कार्ड, आधार कार्ड और वोटर आईडी कार्ड के बाद आपको ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की पूरी प्रक्रिया से रुबरू कराने वाले हैं। इस तरीके को अपनाकर आप घर बैठे आसानी से ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकते हैं। आइए आगे आपको इसी प्रक्रिया के बारे में स्टेप बाय स्टेप जानकारी देते हैं…

इन दस्तावेज़ों की होगी जरुरत

सबसे पहले आपको बता दें कि ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने पर आपको किन दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी। स्थाई पता (Resident Proof) के लिए आपके पास आधार कार्ड, वोटर कार्ड, बिजली बिल, टेलीफोन बिल, राशन कार्ड, सरकारी कर्मचारियों द्वारा जारी कोई भी आईडी कार्ड, निवास प्रमाण पत्र आदि (स्कैन) होना चाहिए।

dl

इसके बाद Age Proof के लिए आपके पास 10वीं क्लास की मार्कशीट, बर्थ सर्टिफिकेट, पैन कार्ड या फिर एफिडेविट और स्कैन पासपोर्ट साइज फोटो होनी चाहिए।

ऐसे करें लर्निंग लाइसेंस के लिए ऑनलाइन अप्लाई

-सबसे पहले parivahan.gov.in वेबसाइट पर जाएं और ‘Driving license-related services’ पर क्लिक करें।

-इसके बाद अपने राज्य का चुनाव करें लर्निंग लाइसेंस वाले ऑप्शन पर क्लिक करें।

-इसके बाद आपसे कुछ डिटेले मांगी जांएगी।

-इन डिटेल को भरने के बाद आगे एक फॉर्म सामने आएगा।

– फॉर्म भरने के बाद फीस पेमेंट करनी होगी जो कि ऑनलाइन ही की जाएगी।

-इसके बाद अपने डॉक्यूमेंट, फोटो, सिग्नेचर अपलोड करें।

-आखिर में आपको एक स्लॉट बुक करना होगा, जिस डेट पर आप ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस के लिए टेस्ट देना चाहते हैं।

-अगर आप लर्नर लाइसेंस के टेस्ट में पास होते हैं तो 6 महीने वैधता के साथ आपको लर्निंग लाइसेंस दे दिया जाएगा। यदि आप फेल होते हैं तो कुछ फीस देकर एक बार फिर ऑनलाइन टेस्ट देने की प्रक्रिया को दोहरा सकते हैं। इसे भी पढ़ें: चंद मिनटों का खेल है मोबाइल पर Voter id कार्ड डाउनलोड करना, जा‍नें यह आसान तरीका

लर्नर लाइसेंस बनवाने के बाद 6 महीने के अंदर आपको पक्के लाइसेंस के लिए अप्लाई करना होगा। अगली प्रक्रिया के लिए भी आपको ऑनलाइन फॉर्म भरना होगा। इसके बाद आपको ड्राइविंग टेस्ट के लिए बुलावा आएगा। इस ड्राइविंग टेस्ट के लिए आपको अधिकारी के सामने उपलब्ध होना जरूरी है। यहां आपने अगर टू व्हीलर, फोर व्हीलर या जिस भी व्हीकल के लिए अप्लाई किया है। उस गाड़ी को चलाकर अधिकारी को दिखाना होगा। इसके लिए आपके साथ वाहन का होना अनिवार्य है।

road-test

बता दें कि अगर आप टेस्ट में पास हो जाते हैं तो मोटर व्हीकल इंस्पेक्टर आपके आवेदन को पूर्ण स्वीकृति दे दी जाएगी। साथ ही कुछ ही दिनों में आपको ड्राइविंग लाइसेंस दे दिया जाएगा। इसे भी पढ़ें: Aadhaar Card खो जाने या खराब हो जाने पर अब नहीं कोई टेंशन, ऐसे पाएं मुफ्त में आधार कार्ड की नई कॉपी

Note:parivahan.gov.in वेबसाइट के माध्यम से Arunachal Pradesh, Assam, Bihar, Chhattisgarh, Chandigarh, Delhi, Goa, Gujrat, Haryana, Himachal Pradesh, Jammu and Kashmir, Jharkhand, karnataka, Kerala, Ladakh, Maharashtra, Manipur, Meghalaya, Mizoram, Nagaland, Odisha, Pondicherry, Punjab, Rajasthan, Sikkim, Tamilnadu, Tripura, UT of DNH and DD, Uttarakhand, Uttar Pradesh और West Bengal राज्यों के लोग अपने ड्राइविंग लाइसेंस को बनवा सकते हैं।

LEAVE A REPLY