Facebook पर चलता रहा Banned Content, डिलीट करने में हुई देरी तो सरकार ने लगाया 17 मिलियन का फाइन!

Facebook meta fines RUB 17 Million in Russia Over Moscow deems illegal Banned Content

Facebook कंपनी ने अपना नाम बदलकर Meta रख लिया है। अब सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक के साथ ही WhatsApp और Instagram भी मेटा के तहत आते हैं। कई सालों से इंटरनेट और सोशल मीडिया की दुनिया में राज करने वाली फेसबुक कई तरह के विवादों में भी छाई रही है तथा कंपनी की पॉलिसी से लेकर, प्राइवेसी व सिक्योरिटी तक को लेकर FB पर सवाल उठते रहे हैं। बीते दिनों फेसबुक को भारत सरकार के भी कड़े रवैये का सामना करना पड़ा है वहीं अब रूसी सरकार ने भी फेसबुक की लापरवाही और गलती के चलते कंपनी पर 17 मिलियन रूबल का जुर्माना लगा है।

Facebook पर Fine

मीडिया रिपोर्ट के जरिये सामने आई जानकारी के अनुसार Facebook के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कुछ ऐसे कंटेट को पब्लिश होने दिया था जो मास्को सरकार के हिसाब से गैरकानूनी था। फेसबुक ने ऐसे कंटेंट को अपने चैनल पर पब्लिश होने से भी नहीं रोका और फिर पब्लिश होने के बाद भी उसे डिलीट करने में देरी कर दी है। सरकारी की ओर से दी गई चेतावनी के बाद भी जब कंटेंट को सही समय पर बैन नहीं किया गया तो उसके बाद फेसबुक पर भारी जुर्माना लगाया गया है और अब इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के लिए कंपनी को RUB 17 million यानी तकरीबन 1.7 करोड़ रुपये बतौर जुर्माना देना पड़ेगा। यह भी पढ़ें : WhatsApp ने डेस्कटॉप और वेब यूजर्स के लिए पेश किया नया फीचर्स, बढ़ेगा प्राइवेसी पर कंट्रोल

पहले भी लगा है 520 करोड़ रुपये का जुर्माना

दो महीने पहले अक्टूबर में भी Facebook पर 520 करोड़ रुपये का भारी जुर्माना लग चुका है। यह फाइन ब्रिटेन की कम्पीटिशन एंड मार्केट अथॉरिटी (CMA) की ओर से लगाया गया था। इस अथॉरिटी ने एफबी पर आरोप लगाया था कि अमेरिकी सोशल मीडिया कंपनी ने Giphy की डील में कुछ गड़बड़ी की थी। और इस मामले को लेकर फेसबुक पर 520 करोड़ का जुर्माना कंपनी को जर्मनी में भरना पड़ा था। ब्रिटेन की अथॉरिटी ने दो टूक कहा था कि फेसबुक ने सरकार का मजाक बनाने के साथ ही अपने कानूनी दायित्वों की भी अवहेलना की है।

Facebook meta fines RUB 17 Million in Russia Over Moscow deems illegal Banned Content

सीएमए का कहना है कि जीफी के साथ फेसबुक का जो अनुबंघ हुआ था उसे जुड़ी कुछ अहम जानकारियां फेसबुक की ओर से रेगुलेटरी के समक्ष रखनी थी। लेकिन फेसबुक ने न सिर्फ डिटेल्स को अधूरा रखा बल्कि साथ ही जब संपूर्ण जानकारी देने की चेतावनी दी गई तब कंपनी की ओर से इनकार भी कर दिया गया। बता दें कि फेसबुक पर चैटिंग या कमेंट में आप लोग जो GIF का यूज़ करते है वह जीफी प्लेटफॉर्म की ओर से ही चलाई जाती है।

LEAVE A REPLY