Global chip shortage: बढ़ सकते हैं सभी मोबाइल के दाम, Xiaomi ने भी कर दिया है ऐलान

global-chip-shortage-may-increase-phone-price

अब तक आपने पेट्रॉल और डीजल क्राइसिस का नाम सुना होगा लेकिन अब Global chip shortage यानी कि कमी हो गई है। ऐसे में सभी मोबाइल के दाम बढ़ सकते हैं। इस बारे में शाओमी के प्रेज़िडेंट Wang Xiang ने एक इंटरव्यू के दौरान जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ‘ग्लोबल मार्केट में चिप क्राइसिस की वजह से चिप की कीमत में काफी काफी उछाल आया है और इसकी वजह से फोन के कॉस्ट पर अतिरिक्त भार पड़ रहा है। ऐसे में आने वाले दिनों में Xiaomi फोन की कीमत में इजाफा हो सकता है।’ गौरतलब है कि Xiaomi में विश्व का तीसरा सबसे बड़ा मोबाइल निर्माता कंपनी है जो China और India सहित Europe के बाजार में भी काफी प्रभाव रखता है।

रिपोर्ट के अनुसार चिप शॉर्टेज का असर सिर्फ मोबाइल पर ही नहीं बल्कि गेमिंग कंसोल और ऑटोमोबिल इंडस्ट्रीज पर भी पड़ेगा। हालांकि कार की कीमत पहले ही ज्यादा होती है ऐसे में बहुत ज्यादा असर उस इंडस्ट्रीज में देखने को नहीं मिलेगा परंतु मोबाइल कॉस्ट पर काफी प्रभाव डालेगा। इसे भी पढ़ें: Samsung Galaxy S20 FE 5G फोन इंडिया में लॉन्च, जानें क्या है कीमत और कब से होगी सेल

क्या कहा Xiaomi के प्रजिडेंट ने

Xiaomi फोन के कॉस्ट में इजाफे को लेकर Wang का कहना था कि “हालांकि हमलोग अब भी हार्डवेयर कॉस्ट को आप्टिमाइज करने की कोशिश करेंगे और पहले की ही तरह अपने यूजर्स को इमानदारी के साथ अपनी ओर से बेस्ट ऑफर और बेस्ट प्राइस देने की कोशिश करेंगे। परंतु कभी-कभी नहीं चाहते हुए भी कास्ट बढ़े हुए कॉस्ट का भार कंज्युमर पर डालना पड़ जाता है।”

क्यों हुआ Global chip shortage और क्यों बढ़ेंगे मोबाइल के दाम

global-chip-shortage-may-increase-phone-price

Global chip shortage का कारण है कोरोना वायरस। कोरोना की वजह से वर्क फ्रॉम होम काफी ज्यादा होने लगा और इसकी वजह से होम नेटवर्किंग इक्यूपमेंट और कंज्यूमर इक्यूपमेंट की मांग में काफी उछाल देखा गया। यह डिमांड साधारण मांग से कहीं ज्यादा था। इस वजह होम इक्यूपमेंट निर्माताओं ने प्रोडक्ट्स की काफी बड़ी इन्वेंटरी तैयार कर ली। वहीं हुआवई जैसे बड़े निर्माताओं ने भी अमेरिकी प्रतिबंधों को देखते हुए प्रोडक्ट्स की बहुत बड़ी स्टोरेज कर ली है जिससे कि कोई असर न हो। ऐसे में वैश्विक बाजार में चिप की कमी हो गई है और इसकी वजह से उसके मुल्य में काफी इजाफा देखा गया और अब इसका असर मोबाइल सहित दूसरे इक्यूपमेंट पर होने वाला है। इसे भी पढ़ें: Motorola का एक और सस्ता 5G फोन Moto G50 हुआ लॉन्च, इसमें है 5000mAh बैटरी और 48MP कैमरा

इसके अलावा फरवरी में Texas में काफी बड़ा तुफान आया था और यह भी ग्लोबल चिप शॉर्टेज के लिए काफी जिम्मेदार है। इस तुफान से हालात काफी खराब हो गए थे और इसकी वजह से ऑस्टिन आधारित Samsung के चिप प्रोडक्शन पर भी काफी बुरा असर पड़ा था जो चिप क्राइसिस का कारण बना। इसे भी पढ़ें: OnePlus 9R vs Vivo X60: जानें किफायती दाम में फ्लैगशिप फीचर्स वाला किंग कौन

इन सबकि वजह से क्वॉलकॉम भी चिप की मांग को पूर्ती करने के लिए संघर्ष कर रहा है। बल्कि रिपोर्ट की मानें तो इसका असर अभी से ही सैमसंग के मिड और लो बजट के फोन के पर दिखने लगा है। वहीं कहा जा रहा है कि हाल में लॉन्च Qualcomm Snapdragon 888 चिपसेट की प्रोडक्शन भी प्रभावित हुई है और इसका भी असर मोबाइल बाजार पर पड़ेगा।

LEAVE A REPLY