20 साल का हो गया है गूगल, जानें इंटरनेट की दुनिया बदलने वाले इस दिग्गज़ का सफर

google service down worldwide gmail youtube maps drive not working

कोई भी शंका हो या किसी भी सवाल का हल जानना हो, जो सबसे पहले गूगल का सहारा ही लिया जाता है। दुनिया जहान की सारी जानकारी और खबरें सिर्फ एक क्लिक पर ही गूगल के जरिये चुटकियों में मिल जाती है। मोहल्ले की दुकान से लेकर अंर्तराष्ट्रीय संस्थाओं तक का ब्यौरा गूगल में समाया है। सबसे बड़े सर्च इंजन की पदवी हासिल कर चुके गूगल ने आज यानि 4 सितंबर अपने 20 साल पूरे कर लिए है। जी हां, आज गूगल का जन्मदिन है और गूगल को ​अस्तित्व में आए आज पूरे 20 साल हो गए हैं। आइयें आपको बताते हैं गूगल से जुड़े कुछ रोचक किस्से:

गूगल आज 4 सितंबर को अपना 20वां जन्मदिन मना रहा है। गूगल सिर्फ विश्व का सबसे बड़ा सर्च इंजन ही नहीं बल्कि सबसे अधिक भरोसेमंद ब्राउजर भी है। आज से 20 साल पहले 4 सितंबर 1998 को लैरी पेज और सेर्जेई ​​ब्रिन नाम के दो दोस्तों ने गूगल की शुरूआत की थी।

google

ये दोनों ही युवक कैलिफॉनिया स्थित स्टैंडफॉर्ड यूनिवर्सिटी में पीएचडी के छात्र थे। इन दोनों दोस्तों ने शुरूआत में गूगल को सिर्फ एक वेबपेज के रूप में पेश किया था जिसे स्टैंडफॉर्ड यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर अपलोड किया गया था।

गूगल का शुरूआती नाम ‘बैकरब’ रखा गया था। गूगल का अपना खुद का डॉमिन ‘गूगल डॉट कॉम’ 15 सितंबर 1997 को ​रजिस्ट्रर्ड हुआ था लेकिन इस डॉमिन को खरीदने के बाद इस पर काम 1998 में शुरू हुआ था। आपको जानकर हैरानी होगी कि अब पूरे विश्व से गूगल पर हर एक सेकेंड में 40,000 से भी ज्यादा सर्च किए जाते हैं।

आ गया ऐसा अनूठा फोन जो घड़ी की तरह बंधेगा आपकी कलाई पर

बताया जाता है कि इस सर्च इंजन का नाम गूगल गणित के एक शब्द ‘Googol’ से प्रेरित होकर रखा गया था, जिसका मतलब है 1 के बाद 100 जीरो। गूगल की सबसे क्रिएटिव गतिविधियों में से एक ‘गूगल डूडल’ की शुरूआत भी 1998 में ही हुई थी और पहला गूगल डूडल ‘​बर्निंग फेस्टिवल’ पर बनाया गया था।

क्या आपको पता है कि गूगल भी किसी कंपनी की ही एक ईकाई है। Alphabate Inc. गूगल की पैरेंट कंपनी है जिसने साल 2015 में गूगल पर अपना स्वामित्व अधिकार जमाया। इस अमेरिकी कंपनी का हेडक्वॉटर कैलिफॉर्निया के माउंटेन व्यू में स्थित है।

google-india

एक रिपोर्ट के अनुसार गूगल ने अब तक लगभग 200 कंपनियां खरीदी हैं। कहा जाता है कि साल 2010 के बाद से गूगल हर माह किसी न किसी नई कंपनी को खरीद रही है। मार्च 2018 तक गूगल में तकरीबन 85,050 आम्प्लॉइए जोड़े गए थे।

गूगल के पास 850 बिलियन यूएस डॉलर से भी ज्यादा का मार्केट कैपिटलिज़ेशन है। यानि 6,07,45,67,50,00,000 रुपये से भी ज्यादा। ​अगर यह पूंजी गिन पाए तो कमेंट जरूर करें।

सबसे कम कीमत के 6जीबी रैम के साथ 7 दमदार फोन, जो बन सकते हैं आपकी पसंद

गूगल द्वारा संचालित यूट्यूब आज विश्व के सबसे बड़े वीडिया स्ट्रीमिंग प्लेटफार्म में से एक है। विश्व का वीडियो कंटेट यहां कई लाखों की गिनती में भरा पड़ा है।

इसी तरह साल 2005 में कंपनी ने गूगल मैप और गूगल अर्थ को जारी कर नेविगेशन की शक्ल ही बदल दी। आज हर व्यक्ति अपने फोन के किसी भी जगह के नक्शे को देख सकता है।

google-crome

गूगल स्मार्टफोंस की दुनिया को बदलते हुए एंडरॉयड आॅपरेटिंग सिस्टम लेकर आया। गूगल का पहला ओएस यूं तो 23 सितंबर 2008 को आया था लेकिन एंडरॉयड ‘सी’ कपकेक को सही मायने में एंडरॉयड की शुरूआत माना जा​ता है।

स्मार्टफोन ब्रांड्स को एंडरॉयड ओएस देने के बाद गूगल ने अपना खुद का स्मार्टफोन गूगल पिक्सल भी पेश कर दिया है। कंपनी अपने स्मार्टफोन की दो जेनरेशन ला चुकी है तथा तीसरी जेनरेशन अक्टूबर महीने में लॉन्च ​की जाएगी। माना जा रहा है कि पिक्सल 3 को गूगल ने खुद डिजाईन किया है।

9 अक्टूबर को लॉन्च हो सकते हैं गूगल पिक्सल 3 और पिक्सल 3एक्सएल, एफसीसी पर हुए लिस्ट

गूगल के निर्माताओं की बात करें तो लैरी पेज और सर्जेई ब्रिन के लिए नासा के हेडक्वॉटर में खासतौर पर एक रनवे बनाया गया है जहां सिर्फ उन्हीं के प्लेन या हैलीकॉप्टर उतरते है। इस रनवे पर किसी दूसरे प्लेन को लैंड कराने की इज़ाजत नहीं है।

वैसे आपको बता दें कि गूगल 27 सितंबर को ही अपना आॅफिशियल जन्मदिन मनाती है।