बारहवीं के स्टूडेंट को मिली 1.5 करोड़ की नौकरी, गूगल ने नकारा

दो दिनों से सोशल मीडिया पर एक ख़बर बेहद वायरल हो रही है कि कुरुक्षेत्र के रहने वाले एक 16 साल के छात्र को गूगल की ओर से 1.5 करोड़ सालाना पैकेज के साथ नौकरी आॅफर की गई है। लोग इस न्यूज़ को पढ़कर जितने हैरान हो रहे है, उतना ही इस खबर को शेयर और फारवर्ड किया जा रहा है। लेकिन अब गूगल की ओर से इस खबर को फर्जी करार देने के बाद कहानी ने नया मोड़ ले लिया है।

दरअसल इंटरनेट पर यह खबर बड़ी ही तेजी से वायरल हुई है कि कुरुक्षेत्र के रहने वाले 12वीं के स्टूडेंट हर्षित को गूगल की ओर से ग्राफिक डिजाइनिंग के लिए चुना गया है और उसे 12 लाख प्रति माह की सैलरी दी जाएगी। लेकिन आज गूगल की ओर से इस खबर को झूठा बताते हुए स्पष्ट कर दिया गया है कि गूगल ने ऐसी कोई भी नियुक्ति नहीं की है।

Photo Credit : bhaskar.com
Photo Credit : bhaskar.com

इस वायरल खबर में हर्षित की फोटो को भी शेयर किया जा रही है, जिससे रातों रात वह पूरे देश में प्रसिद्ध हो गए। हालांकि यह खबर सामनें आने के बाद से हर्षित व उसके परिवार वालों की तरफ से अभी कोई सफाई नहीं दी गई है।

सेल के लिए उपलब्ध हुआ सैमसंग गैलेक्सी जे7 प्रो

वायरल खबर के अनुसार चंडीगढ़ शिक्षा विभाग ने 29 जुलाई को एक प्रैस रिलीज के माध्यम से यह जानकारी स्वयं मीडिया को दी थी। बकौल शिक्षा विभाग प्रवक्ता राजपाल सिंह उन्हें यह सूचना हर्षित शर्मा के विद्यालय गवर्नमेंट मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल के प्रबंधन ने ही दी थी, जिसके बाद यह खबर आगे संप्रेषित हुई।

सैमसंग गैलेक्सी एस7 और एस7 ऐज़ पर 8,000 की कटौती के साथ मिल रहा है 12,000 का कैशबैक

आपको बता दें कि हर्षित को कुछ समय पहले डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के तहत 7 हजार रुपये का अवॉर्ड भी मिल चुका है। वहीं अभी भी इस 1.5 करोड़ वाली नौ​करी को लेकर सबकुछ पूरी तरह से साफ नहीं हो पाया है। बहरहाल गूगल के इंकार के बाद स्थिति स्पष्ट होने पर एक बार फिर से सोशल मीडिया पर फैलने वाली खबरों व अफवाहों सवालिया निशान खड़ा हो गया है।