सरकार ने​ किया आगाह, जल्द अपने स्मार्टफोन से अनइंस्टॉल करें ये 4 ऐप

सायबर क्राइम को लेकर सरकार द्वारा अक्सर कुछ दिशा-निर्देश जारी किए जाते हैं। वहीं हाल में बेहद ही संगीन मामला सामने आया है। केंद्र सरकार ने मोबाईल ऐप के जरिये पाकिस्तानी एजेंसियों द्वारा जासूसी किए जाने की जानकारी दी है और इस बाबत गृह मंत्रालय द्वारा चार ऐप की सूची जारी की गई और उसे ​तुरंत फोन से हटाने के लिए कहा गया है। मंत्रालय ने कहा है कि इन ऐप के द्वारा पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियां वायरस भेजकर देश में जासूसी कर रही है तथा वायरस के जरिये फोन उपभोक्ता की निजी जानकारियां ऐक्सेस कर रही हैं। यह देश की सुरक्षा के साथ-साथ लोगों की निजता के लिए भी खतरनाक है।

मंत्रालय ने एक अलर्ट जारी कर मोबाईल बैंकिंग का प्रयोग करने वाले लोगों को भी चेताया है। सरकार का कहना है कि गेमिंग ऐप टॉप गन, म्यूजिक ऐप एमपीजुंक, वीडियो ऐप बीडीजुंकी और एंटरटेनमेंट ऐप टॉकिंग फ्रॉग को अपने फोन में इंस्टाल न करें तथा इंस्टालड ऐप को तुरंत डिलीट करें। क्योंकि इन ऐप्स के जरिये पाकिस्तानी एजेंसियां में मालवेयर वायरस भेजकर जासूसी कर रही हैं।

mobile-shoping

एबीपी न्यूज द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार गृह मंत्रालय देश के सभी सुरक्षा बलों के साथ-साथ राज्यों की खुफिया एजेसियों को इन ऐप्स को ब्लॉक करने के निर्देश दे दिए हैं। आपको बता दें कि पूर्व सैनिकों को नौकरी दिलाने तथा उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान करने के नाम पर जासूसी के प्रयास में फंसाया जा रहा है तथा पिछले दिनों में देशभर से इसके सात मामले भी सामने आ चुके हैं। इस संदर्भ में भी सरकार की ओर से सर्तक रहने की हिदायत दी गई है।

इस हैकर्स ग्रुप ने मोदी और राहुल गांधी के बारे में किया बड़ा खुलासा

इससे पहले भी पाकिस्तान पर ऐप के जरिय जासूसी के आरोप लगे हैं। कुछ दिन पहले ही खबर आई थी कि एक फर्जी ऐप के जरिए पाकिस्तान सेना की जासूसी कर रहा है।