नोट बैन, बैंक बंद लेकिन हर छोटे बड़े लेन-देन के लिए कर सकते हैं यूपीआई से पेमेंट, जानें कैसे

how-to-change-upi-pin-using-paytm-app-in-phone

कालेधन पर रोक लगाने के लिए भारत सरकार द्वारा काल रात से ही 500 रुपये और 1,000 रुपये के नोट के उपयोग पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है। सरकार द्वारा दो दिनों के लिए बैंको और एटीएम को भी बंद करने की घोषणा की गई है। दो दिन बाद बैंक और ए​टीएम खोल दिए जाएंगे जहां से पैसे निकाले जा सकते हैं और अपने 500 और 1,000 रुपये के नोट बदले जा सकते हैं।

परंतु सवाल है कि इन दो दिनों में किस तरह से किसी भी तरह का लेन-देन किया जाए। क्योंकि बैंक और ए​टीएम कार्य नहीं करेंगे, 100 रुपये व उससे नीचे के नोट की संख्या घरों में कम हो गई है तो ऐसे में सवाल है कि किसी भी तरह की खरीदारी के लिए क्या उपाय है। तो आपको बता दें कि सरकार ने आॅनलाइन ट्रांजेक्शन पर किसी भी तरह की रोक नहीं लगाई है। आप वॉलेट, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड और इंटरनेट बैंकिग के माध्यम से पेमेंट कर सकते हैं। पंरतु इससे भी बेहतर तरीका है यूपीआई का। इसके माध्यम से बस एक क्लिक से किसी को भी पेमेंट किया जा सकता है और वह भी मोबाइल के माध्यम से। पर सवाल है कि कैसे करें यूपीआई के माध्यम से पमेंट। चलिए बताते हैं आपको वह स्मार्ट तरीका।

क्या है यूपीआई
यूपीआई का आशय है यूनिफाइड पेमेंट इंटरनेफेस। किसी भी तरह की छोटी मोटी खरीदारी को आसान बनाने के लिए भारत सरकार ने इस सेवा को पेश किया है। यूपीआई के माध्यम से पेमेंट के लिए सरकार ने एक ऐप्लिकेशन बनाया है। इस ऐप्लिकेशन का विकास नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन आॅफ इंडिया (NPCI) द्वारा किया गया है। इसके माध्यम से उपभोक्ता अपने स्मार्टफोन से पेमेंट रिक्वेस्ट कर सकते हैं। इसमें वर्चुअल पेमेंट एड्रेस की सुविधा दी गई है जहां आप फोन से किसी को भी पेमेंट कर सकते हैं और उसे सीधा आॅनलाइन पेमेंट मिल जाएगा। इसमें सुरक्षा का भी ख्याल रखा गया है। पेमेंट के लिए 2 फैक्टर आॅथोंटिकेशन की सुविधा दी गई है जिससे कि कोई इसका गलत उपयोग न कर सके।

1,000 और 500 के नोट हुए बैन, दो दिन बैंक भी होंगे बंद सिर्फ कर सकेंगे आॅनलाइन ट्रांजेक्शन

भारत सरकार द्वारा फिलहाल 21 ​बैंको को यूपीआई सेवा की अनुमति दी गई है। इसके माध्यम से उपभोक्ता किसी भी खरीदारी के लिए सिर्फ एक क्लिक से पेमेंट कर सकते हैं। किसी भी तरह का भुगतान मोबाइल से किया जा सकता है। इससे कैश का बोझ काफी कम होगा।

कैसे करें यूपीआई का उपयोग
यूपीआई सेवा का लाभ लेने के लिए जरूरी है कि आपके पास बैंक अकाउंट हो। इसके साथ ही स्मार्टफोन होना भी आवश्यक है।

1. जिस बैंक के साथ आपका अकाउंट है उसकी साइट पर जाकर आप यूपीआई ऐप्लिकेशन को डाउनलोड कर सकते हैं या ​फिर इसे गूगल प्ले स्टोर से भी डाउनलोड किया जा सकता है।
2. ऐप इंस्टॉल होने के बाद आपको अपना एक यूनीक आईडी बनाना होगा। इसके लिए आपको अपना नाम और उम्र सहित कुछ जानकारियां देनी होगी।
3. आपकी यूनिक आईडी आपके नाम, मोबाइल नंबर और आधार कार्ड नंबर के आधार पर तैयार होगी।
4. प्रोफाइल बनाने के बाद आपको अपने बैंक का नाम, अकाउंट नंबर और आईएफएससी कोड को फोन नंबर के साथ लिंक करना होगा।
5. इसके बाद बैंक अकाउंट का चुनाव कर एम-पिन बनाना होगा।
6. एम-पिन जेनरेट करने के लिए आपको अपने डेबिट कार्ड के अंतिम 6 डिजिट नंबर डालने है और फिर एक्सपाइरी डेट अर्थात् कार्ड समाप्ति की तिथि डालनी है।
7. इस प्रक्रिया को पूरा करने के बाद आपको ओटीपी के लिए रिक्वेस्ट करना है। ओटीपी आपके फोन पर आएगा और फिर अपना गुप्त एम-पिन डालना होगा। इसके साथ ही आपका कार्य पूरा हो गया।
8. अब आप अपनी वर्चुअल आईडी का उपयोग कर यूपीआई के माध्यम से किसी को पैसे भेज सकते हैं या फिर फंड के लिए रिक्वेस्ट कर सकते हैं।

जियो लाएगा 1,000 रुपये में 4जी वोएलटीई फोन, जिसमें मिलेगी फ्री कॉलिंग

इसका सबसे बड़ा फायदा है कि आप इस सेवा का लाभ किसी भी समय ले सकते हैं। हां सिर्फ एनईएफटी और आरटीजीएस के लिए कुछ घंटे निर्धारित होंगे। इसके माध्यम से एक बार में 1 लाख रुपए तक का ट्रांजेक्शन किया जा सकता है और हर ट्रांजेक्शन पर 50 पैसे का शुल्क चुकाना होगा।

यूपीआई ऐप के माध्यम से आप आॅनलाइन किसी भी चीज की खरीदारी कर सकते हैं, किसी भी सौदे के लिए आॅनलाइन भुगतान कर सकते हैं,​ बिल पेमेंट कर सकते हैं, बार कोड आधारित पेमेंट कर सकते हैं, स्कूल फी जमा कर सकते हैं और रेस्टोरेंट में भुगतान सहित कई अन्य प्रकार के लेन-देन कर सकते हैं।