जानें कब और कहां-कहां हुआ आपके आधार कार्ड का उपयोग

know-how-to-change-update-mobile-number-and-e-mail-id-in-aadhaar-card-uidai-changed-the-process-in-india

मैं पासपोर्ट बनाने के लिए गया तो मुझसे सबसे पहले आधार कार्ड की जानकारी मांगी गई, इसी तरह वोटर आईडी अपडेट के लिए आधार कार्ड देना पड़ा और राशन कार्ड के लिए भी आधार जरूरी है। इतना ही नहीं हॉस्पिटल हो या फिर बच्चों का स्कूल, कोई भी सरकारी काम हो या फिर बैंक हर जगह आज आधार कार्ड की आवश्यकता है। मोबाइल का सिम तक तो आधार कार्ड के ​जरिये ही मिलता है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि फिलहाल 139 सेवाओं को आधार से जोड़ना जरूरी है। कुल मिलाकर कहा जाए तो आधार कार्ड आज भारत में सबसे ज्यादा जरूरत वाला पहचान पत्र बन गया है।

आधार की उपयोगिता को देखते हुए जरूरी है कि इसे संभालकर रखा जाए। परंतु अक्सर सुनने को मिलता है कि कुछ कंपनियां या एजेंसियां आपके आधार का गलत उपयोग कर रही हैं। हाल में एक मामला आया था जिसमें दूसरे के आधार पर सिम एक्टिवेट कर उससे गलत कार्यों को अंजाम दिया गया था। ऐसे में हमेशा आपको अपने आधार को लेकर डर बना रहता है​ कि कहीं कोई गलत उपयोग न कर ले। परंतु सरकार ने आधार सुविधा के साथ ही आधार सुरक्षा को लेकर भी कदम उठाए हैं। आप खुद से चेक कर सकते हैं कि आपके आधार कार्ड का उपयोग कहां-कहां किया जा रहा है। भारत सरकार द्वारा शुरू की गई यह सेवा पूरी तरह से मुफ्त है और आप घर बैठे अपने आधार की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। यदि आपको लगता है कि आधार कार्ड का गलत उपयोग किया जा रहा है तो आप इसकी शिकायत भी कर सकते हैं। यह प्रक्रिया बेहद आसान है और आगे हमने विस्तार से जानकारी दी है। जानें कैसे घर बैठे करें अपने पीएफ अकांउट को आधार कार्ड से लिंक

कुछ जरूरी शर्तें
आधार कार्ड से​ लिंक सेवाओं की जानकारी आप मोबाइल या कंप्यूटर के माध्यम से ले सकते हैं। परंतु इसके लिए जरूरी है कि उन डिवाइस में इंटरनेट सेवा एक्टिव हो। इसके अलावा जिस आधार नंबर के बारे में आप जानकारी लेना चाह रहे हैं उसके साथ मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड होना आवश्यक है और वह मोबाइल आपके पास भी हो। अब

1. सबसे पहले अपने मोबाइल फोन या फिर कंप्यूटर पर जाकर इंटरनेट ब्राउजर ओपेन करें और https://uidai.gov.in/ पर जाएं।
how-to-see-services-link-with-aadhar-card
2. यहां आपको सबसे नीचे में आधार आॅथेंटिकेशन हिस्ट्री की जानकारी मिलेगी। उस पर क्लिक कर दें। या फिर आप सीधे https://resident.uidai.gov.in/notification-aadhaar पर जा सकते हैं।

3. आधार आॅथेंटिकेशन हिस्ट्री में रिक्वेस्ट बॉक्स खुलकर आएगा और यहां आपसे दो जानकारियां मांगी जाएंगी।

4. सबसे पहले आपको अपना 12 अंकों वाला आधार नंबर डालना है।

5. इसके नीचे ही सिक्योरिटी कोड का कॉलम होगा और बगल में ही सिक्योरिटी कोड दिखाई देगा उसे भरें।

6. इसके नीचे ही जेनरेट ओटीपी का आॅप्शन दिखाई देगा उसे क्लिक कर दें।
how-to-see-services-link-with-aadhar-card
7. इसके साथ ही ब्राउजर में एक नया विंडो खुलेगा और आपके मोबाइल पर एक ओटीपी भी आएगा। यह ओटीपी 30 मिनट के लिए ही वैध होता है।

8. यहां आपसे कुछ जानकारियां मांगी जाएंगी। जिसमें सबसे पहले आएगा कि आप किस तरह की जानकारी चाहते हैं। इसमें छह विकल्प हैं। यहां आप आॅल कर दें तो ज्यादा बेहतर है।

9. इसके ​नीचे तारीख का ​आॅप्शन होगा जहां आप तय कर सकते हैं कब से कब तक की जानकारी चाहते हैं। ज्ञात हो कि इसमें आप अधिकतम छह माह तक की ही जानकारी देख सकते हैं।

10. वहीं नीचे आॅप्शन होगा कि कितने रिकॉर्ड आप अपने विंडोज़ पर एक बार में देखना चाहते हैं। वैसे बता दूं कि अधिकतम 50 रिकॉर्ड ही देखे जा सकते हैं।

11. इसी के नीचे ओटीपी का विकल्प आएगा। आपको मोबाइल पर आए ओटीपी को यहां डालना है और नीचे दिए गए स​बमिट बटन पर क्लिक करना है।
how-to-see-services-link-with-aadhar-card
बस आपका काम हो गया विंडोज पर आपके सामने पूरी जानकारी आ जाएगी कि कब-कब और कहां आपके आधार नंबर का उपयोग किया गया है। यहां आप सबकुछ देख सकते हैं। इसमें तारीख के साथ ही समय भी बताया जाएगा। किस समय और किस दिन आपके अधार नंबर का उपयोग किया गया है। होटल या चेंजिंग रूम में लगा है हिडेन कैमरा और माइक तो मोबाइल से कर सकते हैं पता

करें शिकायत
यदि आपको लगता है कि आपके आधार नंबर का उपयोग किसी गलत जगह किया गया है या बिना बताये किसी ने उपयोग किया है तो आप 1945 पर कॉल कर इसकी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

SHARE
Previous articleमंहगा हुआ शाओमी रेडमी 5ए !
Next article4जीबी रैम के साथ लॉन्च हुआ बेज़ल लेस फोन आॅनर 7सी, दाम भी कम
टेक्नोलॉजी शौक नहीं इनका जुनून है और इसी जुनून ने इन्हें टेक जगत में आने के लिए प्रेरित किया। मुकेश कुमार सिंह उन चंद लोगों में से हैं जिन्होंने हिंदी में मोबाइल रिव्यू लिखने की शुरूआत की। अपने 15 सालों के प​त्रकारिता के सफर की शुरुआत इन्होंने हिंदी डेली से की और पिछले 13 सालों से ये मोबाइल तकनीकी क्षेत्र में सक्रिय हैं। अब तक ये मॉय मोबाइल मैगजीन और बीजीआर जैसे वेबसाइट के लिए कार्य कर चुके हैं। वहीं जागरण और नवभारत टाइम्स जैसे अखबारों में इनके लेख नियमित रूप से छपते रहते हैं।