स्मार्टफोन से रात में भी कैसे करें अच्छी फोटोग्राफी? जानें 6 शानदार ट्रिक्स

स्मार्टफोन से रात में भी कैसे करें अच्छी फोटोग्राफी? जानें 6 शानदार ट्रिक्स

आज बाजार में एक से बढ़कर एक स्मार्टफोन हैं और हर ब्रांड आपसे बेस्ट फोटोग्राफी का दावा करते हैं। इसमें कोई दो राय नहीं कि फोन के कैमरे पहले से कहीं बेहतर हो गए हैं दिन में काफी अच्छी पिक्चर क्लिक करते हैं लेकिन लो लाइट फोटोग्राफी में आज भी परेशानी है। रात होते ही पिक्चर्स या तो ब्लर हो जाते हैं या फिर पिक्सलेट होने लगते हैं। हालांकि कुछ ट्रिक्स हैं जिनके माध्यम से आप इन परेशानियों को बहुत हद तक कम कर सकते हैं।

सबसे पहले जानें क्यों होता है ऐसा
dual-camera-1
यदि आपका फोन दिन में अच्छी फोटो लेता है और रात में परेशान करता है तो एक समय के लिए आपके दिमाग में यह बात जरूर आएगी कि आखिर ऐसा क्यों होता है? रात में अक्सर बल्ब और ट्यूब लाइट की अच्छी रोशनी के बावजूद पिक्चर पिक्सलेट क्यों होते हैं? तो आपको बता दूं कि इसका कारण है साइज। आप इसके तकनीकी कारण पर नजर डालेंगे तो पाएंगे कि यह समस्या छोटे साइज की लेंस और कैमरा सेंसर की वजह से आती है। पिक्चर रोशनी से बनती है और रात में कम रोशनी के साथ रोशनी की गति भी धीमी होती है। ज्यादातर मोबाइल में कैमरा सेंसर 15 से लेकर 30 मिलीमीटर तक का होता है। वहीं इसकी तुलना यदि आप डीएसएलआर कैमरे से करते हैं तो उसमें औसतन 800 मिलीमीटर तक का कैमरा सेंसर उपयोग किया जाता है जो कि कैमरा सेंसर से 300 से 400 फीसदी तक ज्यादा है। ऐसे में छोटे कैमरा सेंसर वाला आपका स्मार्टफोन रात में अच्छी रोशनी कैप्चर नहीं कर पाता। इसलिए मोबाइल कैमरे से रात में शूट किए गए फोटो बहुत अच्छे नहीं होते। हालांकि आगे हमने कुछ तरीके बताए हैं जिनके माध्मय से आप फोटो में सुधार ला सकते हैं। एंडरॉयड फोन में स्क्रीन हो रही है ब्लैक, जानें कैसे करें ठीक

1. नाइट मोड का करें उपयोग
how-to-take-good-photograph-in-low-light-in-hindi
आज हर स्मार्टफोन में कैमरे के साथ नाइट मोड का फीचर होता है लेकिन बता दूं कि कम रेंज के फोन में यह बहुत उपयोगी नहीं है। परेशानी बनी ही रहेगी। हां यदि आपके पास कोई अच्छा फोन स्मार्टफोन है जिसका इसका उपयोग कर सकते हैं। नाइट मोड में फोन का कैमरा एक साथ कई पिक्चर क्लिक कर उसे मिलाकर बेस्ट परिणाम आपके सामने पेश करता है जिससे कि फोटो काफी साफ सुथरा दिखाई देता है। वह पिक्सलेट कम होता है। हां इस दौरान सब्जेक्ट को जिसकी आप तस्वीर ले रहे होते हैं वह तथा साथ ही आपका हाथ भी स्टेबल यानि शान्त होना जरूरी है। त्यौहारों में आॅनलाइन खरीदारी से पहले इन 11 बातों का रखें ख्याल, नहीं तो बन जाएंगे उल्लू
2. सेंसिविटी का रखें ध्यान
how-to-take-good-photograph-in-low-light-in-hindi
जब आप स्मार्टफोन से फोटोग्राफी कर रहे हैं तो सेंसिविटी का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। छोटे सेंसर से लो लाइट में ब्राइट पिक्चर लेने के लिए जरूरी है कि आप सेंसिविटी का ध्यान रखें। इसके लिए आप इमेज सेंसर को आईएसओ से एम्लिफाई कर सकते हैं। अक्सर आप फोटोग्राफी आॅटो मोड में करते हैं लेकिन इसके लिए आपको प्रो मोड का सहारा लेना होगा। अपने फोन में प्रो मोड ओपेन करने पर आईएसओ दिखाई देगा आपको उसे बढ़ाना है। हालांकि कोशिश करें कि आईएसओ को 400 तक या इससे नीचे ही रखें। क्योंकि इससे ज्यादा करने से फोटो क्वालिटी खराब हो सकती है। नए एंडरॉयड 9 पाई के टॉप 10 फीचर्स, जानें क्यों है यह ओएस खास

3. अपर्चर खोलें
how-to-take-good-photograph-in-low-light-in-hindi
अपर्चर को आप कैमरे की आंख भी कह सकते हैं। रात में फोटोग्राफी के दौरान यदि पिक्चर ब्लर हो रहा है तो आप अपर्चर को बड़ा करें। अपर्चर जितना खुलेगा उतनी रोशनी कैमरे जाएगी और पिक्चर उतना साफ होगा। प्रो मोड में अपर्चर को अडजस्ट करने का विकल्प दिखाई देगा।

4. शटर स्पीड को करें धीमा
how-to-take-good-photograph-in-low-light-in-hindi
यदि आप कैमरे में प्रो मोड के बारे में जानते हैं तो शटर स्पीड भी देखा होगा। लो लाइट में पिक्चर लेने के दौरान आप शटर स्पीड को भी थोड़ा धीमा कर दें। इससे शटर धीमे बंद होगा तो उसमें रोशनी ज्यादा जाएगी और क्लियर पिक्चर क्लिक कर पाएंगे। परंतु ध्यान रहे कि धीमे शटर स्पीड में आप कैमरा और सब्जेक्ट बिल्कुल हिलना नहीं चाहिए। अगर हिल गया तो फिर ब्लर हो जाएगा।

5. एक्पोजर से करें कंट्रोल
mobile-camera
कई फोन में एक्सपोजर का आॅप्शन होता है। एक्पोजर, शटर स्पीड, अपर्चर और आईएसओ का कॉम्बिलेशन है। ऐसे यदि आपके फोन में एक्सपोजर है तो फिर इसे ही बढ़ाकर आप तीनों चीजों को एक साथ मैनेज कर सकते हैं।

6. एक्सेसरीज
how-to-take-good-photograph-in-low-light-in-hindi
रात में जब भी फोन से फोटोग्राफी कर रहे हैं आपको अतिरिक्त सावधानी बरतनी होगी। सबसे ज्यादा ध्यान रखना है कि यह हिले नहीं। इसलिए हो सके तो छोटे मोटे एक्सेसरीज का उपयोग करें। जैसे स्टैंड या ट्राईपॉड इत्यादि।