Jio का बड़ा बयान, कहा-इंडिया में 5G आने से पहले 100-150 मिलियन होंगे 5G स्मार्टफोन यूजर्स

भारत में बाजार हिस्सेदारी के मामले में रिलायंस जियो नंबर वन दूरसंचार कंपनी ने देश में भविष्य के 5जी परिचालन को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। कंपनी के अनुसार (ET Telecom के माध्यम से), आधिकारिक 5G लॉन्च से पहले ही बाजार में कम से कम 100 मिलियन से 150 मिलियन 5G स्मार्टफोन यूजर्स होंगे। जियो के प्रेसिडेंट डिवाइसेज मोबिलिटी एंड मोबिलिटी सुनील दत्त के मुताबिक, जब तक 5जी नेटवर्क लाइव होगा तब तक भारत के पास बाजार में 5जी हैंडसेट का एक बड़ा यूजर बेस स्थापित हो चुका होगा।

5G

बता दें कि पहले जब भी कोई नई नेटवर्क तकनीक जारी की जाती थी, ग्राहक तुरंत उस नेटवर्क तकनीक से संबंधित मोबाइल फोन और अन्य गैजेट खरीदना शुरू कर देते थे। लेकिन, पहली बार भारत में 5G नेटवर्क जारी होने से पहले ही 5G से लैस डिवाइस को ग्राहकों द्वारा खरीदा जा रहा है। देश भर में मोबाइल फोन खरीदार पहले से ही हर दिन नए 5G स्मार्टफोन खरीद रहे हैं। यहां तक कि स्मार्टफोन निर्माता भी हर महीने भारत में नए 5G डिवाइस लॉन्च कर रहे हैं। लेकिन इस रिपोर्ट के साथ, हम यह मान सकते हैं कि भले ही भारत में हर कोई 5G का उपयोग कर सकता है फिर भी 5G स्मार्टफ़ोन की बिक्री में और उछाल आने की उम्मीद है। इसे भी पढ़ें: Free में कराएं Jio में अपना मोबाइल नंबर पोर्ट, ये रहे 2 सबसे सिंपल तरीके

reliance jio 5gi technology jiophone next 5g phone details
Jio 5G

Jio 5G

मुकेश अंबानी ने हाल ही में India Mobile Congress 2021 (IMC 2021) के दौरान कहा कि सरकारी यूनिवर्सल सर्विस ऑब्लिगेशन फंड का इस्तेमाल देश में मोबाइल सब्सिडी देने के लिए करने की पैरवी की है। मुकेश अंबानी का मानना है कि अगर देश के हाशिए पर रहने वाले लोगों को देश की डिजिटल ग्रोथ का हिस्सा बनना है तो उसे किफायती कीमतों पर सर्विस और डिवाइस मुहैया कराए जाने चाहिए। इसे भी पढ़ें: Jio का सबसे सस्ता मंथली रिचार्ज प्लान, मिलेगा 2GB डाटा और अनलिमिटेड फ्री कॉल

लेटेस्ट वीडियो

इसके अलावा उन्होंने कहा कि भारत को 2जी से 4जी और फिर 5जी में माइग्रेशन जल्द से जल्द पूरा करना चाहिए। लाखों भारतीयों को सामाजिक-आर्थिक पिरामिड में सबसे नीचे 2जी तक सीमित रखना उन्हें डिजिटल क्रांति के लाभों से वंचित करना है। क्योंकि कोविड में हमने देखा जब सबकुछ बंद था तब इंटरनेट और मोबाइल ने ही हमें जीवित रखा। तकनीक हमारे जीवन और रोजगार के लिए सहारा बनी।

SHARE
Previous articleSamsung Galaxy M33 5G स्मार्टफोन 6000mAh बैटरी के साथ होगा लॉन्च
Next articleOla S1 या Simple One: जानें कौनसा Electric Scooter आपके लिए है बेस्ट?
अंकित का मानना है कि तकनीक डरने की नहीं सीखने की चीज है। इसके बारे में आप जितना जानेंगे उतनी ललक बढ़ेगी। इसी ललक और सीखने की चाह ने इन्हें तकनीकी जगत से जुड़ने के लिए प्रेरित किया। अंकित दीक्षित ने अपने करियर की शुरुआत न्यूज़ 18 से की थी और वर्ष 2016 में ये बीजीआर इंडिया से जुड़े। इन्हें न सिर्फ टेक न्यूज की अच्छी समझ है बल्कि टिप्स एंड ट्रिक्स और रिव्यू में भी अच्छी जानकारी भी है। अब अंकित 91मोबाइल्स के साथ जुड़े हैं यहां भी कुछ नया करने की सोच के साथ काम कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY