42 चीनी एप्लीकेशन्स को लेकर खुफिया एंजेसियों ने जारी की चेतावनी, भारतीय जवानों को दिया जल्द ​​डिलीट करने का आदेश

Sansad TV YouTube Channel hacked named Ethereum

यह खबर सच में बेहद चौंकाने वाली है। चीन को लेकर भारतीय सीमा पर तनतनी तो बनी ही रहती है लेकिन अब चीन का खतरा सरहद के अंदर तक आ पहॅुंचा है। भारतीय खुफिया एंजेसियों ने चीनी ऐप्लीकेशन्स को लेकर एक चेतावनी जारी की है जिसमें 42 ऐसी ऐप्स का जिक्र किया है जो बेहद ही सवेंदनशील है। एजेंसियों ने सुरक्षा बलों के जवानों और अधिकारियों को इन ऐप को जल्द से जल्द फोन से डिलीट करने का आदेश देते हुए इन्हें किसी भी भारतीय के फोन में इंस्टाल करने से मना किया है।

मीडिया रिर्पोट्स में बताया गया है कि चीन द्वारा निर्मित 42 ऐसी ऐप्लीकेशन्स है कि जो इन दिनों भारत में जासूसी का काम कर रही है। यह जानकारी एक खुफिया दस्तावेज़ के लीक हो जाने पर सामनें आई है। यह दस्तावेज भारत के सुरक्षा विभाग से जुड़ा हुआ है और इसमें ऐप्लीकेशन्स से संबधित बात की गई है। इस दस्तावेज में आर्मी तथा विशेषकर चीनी सीमा ड्यूटी कर रहे जवानों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि वह बिना देर किए अपने फोन से वह ऐप्लीकेशन्स डिलीट करें और अपने फोन को पूरी तरह से फार्मेट करें।

बताया गया है कि राष्ट्रीय सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए एक एडवाइजरी जारी की गई है जिसमें इन एप्लीकेशंस को कभी भी इस्तेमाल में न लाए जाने के लिए कहा गया है। रिपोर्ट के अनुसार ये ऐप्स भारतीयों की निजी जानकारी के साथ ही शहरों के नक्शे तथा लोकेशन्स को ट्रैक कर चीनी सर्वर को भेज रही है, और इससे चीन भारत के आंतरिक इलाकों पर नज़र रख जासूसी कर रहा है।

शाओमी रेडमी 5ए और माइक्रोमैक्स भारत 5 में जानें कौन है बेस्ट च्वॉइस

दस्तावेज में लिखी गई 42 मोबाइल ऐप्लीकेशन राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताई गई हैं। इसमें लिखा गया है कि चीनी डेवलपर्स द्वारा बनाई गई कुछ ऐप्स के तार चीनी सर्वर से जुड़े हैं और इनसे आर्मी जवानों की जासूसी किए जाने की आशंका है। आपको जानकार हैरानी होगी कि इस ​सूची में शेयरइट व ट्रू-कॉलर जैसी कई ऐप्लीकेशन्स हैं जिनका यूज़ भारत में बेहद ज्यादा किया जाता है।

indian-troops-banned-apps