देखें India की पहली Electric Car, 1993 में हुई थी लॉन्च और नाम था Lovebird, भारतीय कंपनी ने ही किया था निर्माण

भारतीय लोग अभी तक Electric Vehicle की वैल्यू को समझने में लगे हैं वहीं तकरीबन तीन दशक पहले तो लोगों के लिए बिजली से चलने वाली कार खरीदने की कोई वजह ही नहीं थी।

indias first electric car lovebird

EV यानी Electric Vehicle, यह शब्द आजकल आम जनता का ध्यान अपनी ओर खींच रहा है। इंडिया के लोग इलेक्ट्रिक व्हीकल के बारे में जानने और समझने में तत्परता दिखा रहे हैं और Electric Car, Electric Bike और Electric Scooter की डिमांड भी भारतीय बाजार में तेजी से बढ़ रही है। दिनों-दिन बढ़ रहे पेट्रोल-डीजल के दामों ने भी इलेक्ट्रिक वाहनों में लोगों की रूचि बढ़ाई है। इन दिनों कई देसी और विदेशी कंपनियां भारतीय बाजार में अपने इलेक्ट्रिक व्हीकल लेकर आ रही है लेकिन क्या आप जानते हैं कि इंडिया की सबसे पहली इलेक्ट्रिक कार कौन-सी थी और कब बनी थी? आज के आर्टिकल में हमनें India’s First Electric Car की जानकारी दी है और उससे जुड़े इतिहास को बताने का प्रयास किया है। पूरी जानकारी से पढ़ने से पहले यह जरूर जान लीजिए कि भारत में बनी इस पहले इलेक्ट्रिक कार का नाम था Lovebird

India’s First Electric Car Lovebird

भारत की सबसे पहले इलेक्ट्रिक कार का नाम लवबर्ड रखा गया था। नाम जितना रोमांटिक है इस कार का डिजाईन भी उतना ही लाजवाब बनाया गया था। फोटोज़ में आप देख सकते हैं कि यह गाड़ी दो दरवाजों वाली थी जिसमें दो सीट दी गई है। इस two-seater car में सीट्स के पीछे हल्का स्पेस दिया गया था जो सामान रखने के लिए डिग्गी का काम करता था। लवबर्ड वज़न में हल्की कार थी जो high-tensile steel chassis और fiberglass वाली polyester body पर बनाई गई थी।

indias first electric car lovebird

सिंगल चार्ज में यह कार 60 किलोमीटर तक चल सकती थी। वहीं गाड़ी की बैटरी को फुल चार्ज करने में 6 से 8 घंटे का समय लगता था। इस Electric Vehicle में lead acid battery का इस्तेमाल किया गया था। बता दें कि यह वो समय था जब किसी ने Lithium-ion battery का नाम भी ठीक से नहीं सुना था। लगे हाथ यह भी जान लीजिए कि पहली कमर्शियन Li-ion battery 1991 में Sony और Asahi Kasei टीम द्वारा लाई गई थी।

indias first electric car lovebird

फीचर्स थे बेहद एडवांस

Lovebird का कमर्शियल प्रोडक्शन साल 1993 में शुरू हुआ था और इस गाड़ी के बाजार में आने के बाद ही Mahindra ने अपनी Reva Electric Car को पेश किया था। इंडिया की इस पहली इलेक्ट्रिक कार के कुछ और फीचर्स की बात करें तो इस गाड़ी की लंबाई 2120mm, चौड़ाई 1460mm और उंचाई 1340mm थी। वहीं कार का wheelbase 1595mm था। इसमें DC electric motor और electronic chopper controller जैसे फीचर्स भी मौजूद थे।

indias first electric car lovebird

अगर कहा जाए कि यह इलेक्ट्रिक कार अपने समय से काफी पहले ही मार्केट में आ गई थी, तो गलत नहीं होगा। भारतीय लोग अभी तक Electric Vehicle की वैल्यू को समझने में लगे हैं वहीं तकरीबन तीन दशक पहले तो लोगों के लिए बिजली से चलने वाली कार खरीदने की कोई वजह ही नहीं थी। नई दिल्ली में आयोजित हुए Auto Expo में भी LOVE BIRD को प्रदर्शित किया गया था जहां इस Electric Car ने कई अवॉर्ड्स जीते थे। Lovebird का कॉन्सेप्ट उस वक्त के हिसाब से बेहद एडवांस था और शायद यही वजह रही कि इंडिया की इस पहली इलेक्ट्रिक कार को वह प्रसिद्धि नहीं मिल पाई जिसके लिए यह मार्केट में आई थी।

किसने बनाई थी इंडिया की पहली Electric Car

Lovebird का निर्माण भारतीय कंपनी Eddy Current Controls India Ltd द्वारा किया गया था। यह इंडियन कंपनी तमिलनाडु और केरल से ऑपरेट करती है और अभी भी इंजीनियरिंग के क्षेत्र में सफलता के साथ काम कर रही हैं। इस कंपनी का निर्माण साल 1971 में हुआ था जिन्होंने जापानी कंपनी के साथ मिलकर कई बड़ी योजनाओं को अंजाम दिया है। यह कंपनी सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि अफ्रीका व यूरोप समेत खाड़ी देशों में भी सक्रियता के साथ कई प्रोडक्ट्स पर काम कर रही है।

LEAVE A REPLY