अगले तीन महीनों में 30 फोन लॉन्च करेगा इंटेक्स, एंडरॉयड फोन के अलावा फीचर फोन पर भी होगी नजर

वीवो और ओपो के चमक के आगे आज भारतीय मोबाइल कंपनियों की धाक थोड़ी कम दिखती है। हालांकि इस बीच एक ऐसा भी भारतीय ब्रांड रहा जिसने चीनी कंपनियों कि चुनौती को खुले दिल से स्वीकर किया। यहां हम बात कर रहे हैं मोबाइल निर्माता कंपनी इंटेक्स की। वर्ष 2016 में इंटेक्स सबसे ज्यादा फोन लॉन्च करने वाली कंपनी बनी और इस साल भी अब तक एक के बाद एक कई 4जी फोन लॉन्च कर चुकी है। हालांकि आगे जो खबर है वह और भी चौंकाने वाली है।

अगले तीन महीनों में इंटेक्स कंपनी 30 से ज्यादा प्रोडक्ट लॉन्च करने वाली है। इस बारे में जानकारी देते हुए इंटेक्स टेक्नोलॉजीज के प्रोडक्ट मैनेजर शरद अग्रवाल का कहना है कि ”अगले तीन महीनों में हम लगभग सभी प्लेटफॉर्म जैसे आॅनलाईन और आॅफलाइन पर अपने प्रोडक्ट लॉन्च करने वाले हैं जिसके तहत लगलग 19 एंडरॉयड स्मार्टफोन होंगे।”

उन्होंने आगे बताया कि ”फिलहाल इंटेक्स ब्रांड के तहत लॉन्च किए जाने वाले सभी मोबाइल 4,000 रुपये से लेकर 8,000 रुपये के बीच के होंगे और सभी फोन में 4जी वोएलटीई फीचर से लैस होंगे।”

हालांकि सबसे खास बात यह है कि कंपनी जो भी फोन लॉन्च करेगी वह एंडरॉयड आॅपरेटिंग सिस्टम 7.0 नुगट पर आधारित होंगे। वहीं इन फोंस को आगे ​भी एंडरॉयड आॅपरेटिंग सिस्टम का अपडेट मिलेगा। फिलहाल कम रेंज के फोन में ओएस अपडेट बेहद ही मुश्किल से मिलते हैं।

हालांकि एंडरॉयड फोन की इस होड़ में कपंनी फीचर फोन को भी नहीं भूली हैं। फीचर फोन मार्केट पर इंटेक्स की मजबूत पकड़ है और कंपनी इसे आगे भी बनाए रखना चाहती है। आने वाले तीन महीनों में कंपनी 11 फीचर फोन भी लॉन्च करेगी।

SHARE
Previous articleजानें कितनें ​परीक्षणों से होकर गुजरती है आपके मोबाइल फोन की बैटरी
Next articleशाओमी रेडमी 5 की फोटोज़ आई सामनें
टेक्नोलॉजी शौक नहीं इनका जुनून है और इसी जुनून ने इन्हें टेक जगत में आने के लिए प्रेरित किया। मुकेश कुमार सिंह उन चंद लोगों में से हैं जिन्होंने हिंदी में मोबाइल रिव्यू लिखने की शुरूआत की। अपने 15 सालों के प​त्रकारिता के सफर की शुरुआत इन्होंने हिंदी डेली से की और पिछले 13 सालों से ये मोबाइल तकनीकी क्षेत्र में सक्रिय हैं। अब तक ये मॉय मोबाइल मैगजीन और बीजीआर जैसे वेबसाइट के लिए कार्य कर चुके हैं। वहीं जागरण और नवभारत टाइम्स जैसे अखबारों में इनके लेख नियमित रूप से छपते रहते हैं।