6G Technology के लिए कुछ बड़ा करने की तैयारी में Japan, चीन को पछाड़ने की मुहिम में Nokia से मिलाया हाथ

6G Technology को इतना अधिक पावरफुल बताया जा रहा है कि इसे पाने के लिए विश्व के ताकतवर राष्ट्रों में कुछ इस तरह की होड़ लगी है जैसे कोई Telecom Tech नहीं बल्कि नया Weapon बनाया जा रहा हो।

japan-finland-nokia-deal-for-6g-technology

5G Technology ने Internet और IOT के क्षेत्र में बड़े बदलाव लाए हैं और आने वाले दिनों में इंडियन उपभोक्ता भी इसके साक्षी बनने वाले हैं। 5जी बेशक भारत में थोड़ा देरी से आया हो लेकिन दुनिया के कई देशों में यह तकनीक पुरानी हो चुकी है और अब वह मोबाइल की अगली जेनरेशन की ओर बढ़ चले हैं। इसी कड़ी में 6G Technology के क्षेत्र में Japan ने बड़ा कदम उठाते हुए Finland की कंपनी Nokia के साथ हाथ मिलाया है। इस समझौते के साथ ही जापान ने 6G Standards को चीन से पहले पाने की राह में बड़ी छलांग लगाई है।

सबसे पहले तो आपको बता दें कि 6G टेक्नोलॉजी को इतना अधिक पावरफुल बताया जा रहा है कि इसे पाने के लिए विश्व के ताकतवर राष्ट्रों में कुछ इस तरह की होड़ लगी है जैसे कोई इंटरनेट तकनीक नहीं बल्कि नया हथियार बनाया जा रहा हो। यकिनन 6जी सिर्फ तेज इंटरनेट तक ही सीमित नहीं रहने वाला है बल्कि नेशनल सिक्योरिटी और सेटेलाईट्स कनेक्शन के साथ ही virtual reality (VR) तथा augmented reality (AR) के जरिये होने वाले कार्यो के नए उदाहरण पेश करेगा।

japan-finland-nokia-deal-for-6g-technology

अरबों रुपये की डील

NikkeiAsia की रिपोर्ट के अनुसार 6G network डेवलपमेंट के लिए फिनलैंड की telecom equipment बनाने वाली कंपनी Nokia और जापान के टेलीकॉम ग्रुप्स ने आपस में साझेदारी की है। दोनों देशों का यह संयुक्त प्रयास मुख्य रूप से टेलीकॅम्यूनिकेशन्स टेक्नोलॉजी की छठी जेनरेशन यानी 6G के लिए रिसर्च एंड डेवलेपमेंट का काम करेगा। आपको बता दें कि इससे पहले Japan और US के बीच भी 4.5 बिलियन यूएस डॉलर की बड़ी साझेदारी हो चुकी है जो 6G communication technology की डेवलपमेंट पर काम करेगी। 6G टेक्नोलॉजी को साल 2030 तक कमर्शियलाइज़ करने की किवायद में प्रयास किया जा रहा है। यह भी पढ़ें : शुरू हुई 6G की तैयारी, दुनिया को बदल कर रख देगी इस तकनीक की ताकत

6G की ताकत

6जी सिर्फ तेज इंटरनेट ही नहीं बल्कि इससे बहुत ही ज्यादा व्यापक तकनीक लेकर आएगा। 6G सिर्फ मोबाइल फोंस को नहीं बल्कि आम ज़िंदगी को एडवांस और फास्ट बनाएगा। VR और AR नॉमर्ल दिनचर्या को अहम हिस्सा बनकर सामने आएंगे तथा कम्यूनिकेशन के साथ ही इंटेलिजेंस और IOT यानि इंटरनेट ऑफ थिंग्स के क्षेत्र में बड़ी क्रांति होगी। ऐसा भी माना जा सकता है कि 6G आने के बाद रोबोट्स का चलन भी सार्वजनिक किया जा सकता है। जिस तरीके से आज स्मार्टफोन और स्मार्ट टीवी के अलावा स्मार्ट होम अप्लायंस जैसे फ्रिज, लाईट, फैन्स, सीसीटीवी, स्पीकर इत्यादि घर का हिस्सा बनते जा रहे हैं, इसी तरह 6G तकनीक रोबोट्स को भी नॉमर्ल लाइफ का हिस्सा बना सकती है।

LEAVE A REPLY