Jio फ्री में आपके नंबर पर दे रहा 498 रुपए रिचार्ज, जानें क्या है इसकी सच्चाई

Exclusive Reliance jio phone 5 project starts costs less than rs 400 india

कोरोना वायरस जैसी महामारी के समय व्हाट्सएप पर एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि Reilance Jio की ओर से 498 रुपए का रिचार्ज फ्री में उपलब्ध कराया जा रहा है। इस मैसेज के साथ ही एक लिंक भी भेजा जा रहा है, जिसे लेकर दावा किया जा रहा है कि इस लिंक पर क्लिक कर यूजर्स 498 रुपए का रिचार्ज फ्री में करा सकते हैं।

मैसेज में क्या लिखा है

व्हाट्सएप और सोशल मीडिया पर जियो के नाम पर जो मैसेज वायरल हो रहा है उस मैसेज में लिखा है, ‘Jio इस कठिन परिस्थिति में दे रहा है सभी इंडियन यूजर को 498 रुपए का फ्री रिचार्ज, तो अभी नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करके अपना फ्री रीचार्ज प्राप्त करें…https:jionewoffer.online..कृपया ध्यान दे: यह ऑफर केवल 31 March तक ही सिमित है!’

मैसेज की सच्चाई

दरअसल, जियो के फ्री रिचार्ज को लेकर इस मैसेज में एक लिंक है, जिसे ओपन करने पर आपसे यह कुछ जानकारी मांगी जाएगी। अगर आप ध्यान दें तो इसके डोमेन नॉर्मल वेबसाइट से काफी अलग है। इसलिए यह साफ है कि इस मैसेज से कोई आपके फोन को हैक करने की कोशिश कर रहा है। इसे भी पढ़ें: Jio ने पेश किया Coronovirus चैक करने का टूल, ऐसे करें चैक

हैकर्स से रहें अलर्ट

आपको बता दें कि इस तरह के मैसेज का इस्तेमाल कोरोना वायरस के समय हैकर्स लोगों के फोन या लैपटॉप को हैक करने के लिए कर रहे हैं। इन लिंक की मदद से आम लोगों की निजी जानकारियों को चुराना काफी आसान हो जाता है। अगर आपके पास भी जियो ऑफर के नाम पर ऐसा मैसेज आ रहा है तो गलकी से भी इस पर क्लिक ना करें और इसे किसी अन्य को फॉरवर्ड भी ना करें। इसे भी पढ़ें: Jio Fiber यूजर्स को मिलेगा दोगुना डाटा, जानें कैसे उठाएं लाभ

इन प्वाइंट्स की मदद से समझें मैसेज है फेक

-सुनिश्चित करें कि आपकी जानकारी किसी विश्वसनीय स्रोत से आ रही है।

-आधिकारिक वेबसाइट के पर जाकर जानकारी के बारे में पढ़ें।

-मैसेज की सत्यता की पुष्टि किए बिना किसी भी संदेश के साथ भेजे गए लिंक पर क्लिक न करें।

-ULRs https: // का अर्थ है कि साइट एन्क्रिप्टेड है, लेकिन यह जरूरी नहीं है कि यह सुरक्षित है। Https://jionewoffer.online इसका एक प्रमुख उदाहरण है। यह अभी भी एक फ़िशिंग लिंक हो सकता है जिसे खोलने से पहले पहले सत्यापित किया जाना चाहिए।

-अज्ञात नंबर से आए हुए ईमेल और एसएमएस के URL लिंक पर क्लिक न करें।

LEAVE A REPLY