Jio ने की सस्ती और फास्ट इंटरनेट देने की तैयारी, क्या अब बदलेगा भारत का टेलीकॉम बाजार

मुकेश अंबानी के नेतृत्‍व वाली रिलायंस इंडस्‍ट्रीज (RIL) की टेलीकॉम सब्सिडियरी रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने इंडिया के टेलीकॉम मार्केट को बदलने के लिए एक नया कदम उठाया है। दरअसल, जियो ने यूजर्स की बढ़ती डाटा मांग को पूरा करने के लिए भारत केंद्रित सबसे बड़ी अंतरराष्‍ट्रीय सबमरीन केबल सिस्‍टम का निर्माण करने का फैसला लिया है। खबर के अनुसार रिलायंस जियो अगली पीढ़ी की दो सबमरीन केबल डालेगा। इसे भारत और पूरे भारतीय रीजन की डाटा जरूरतों को ध्यान में रखते हुए बनाया जा रहा है। इसके लिए जियो ने विश्व कई प्रमुख वैश्विक साझेदारों और विश्व स्तरीय सबमरीन केबल सप्लायर सबकॉम के साथ हाथ मिलाया है।

Jio की फास्ट इंटरनेट सर्विस

रिपोर्ट के अनुसार अंतरराष्‍ट्रीय सबमरीन केबल सिस्‍टम का निर्माण भारत-एशिया-एक्सप्रेस (आईएएक्स) सिस्टम भारत को पूर्व की ओर सिंगापुर और उससे आगे कनेक्ट करेगा। वहीं, भारत-यूरोप-एक्सप्रेस (आईईएक्स) सिस्टम भारत को पश्चिम की ओर मध्य पूर्व और यूरोप से जोड़ेगा। IAX और IEX भारत में और भारत से बाहर डाटा और क्लाउड सेवाओं को पहुंचाने में मदद करेगा। इसे भी पढ़ें: फ्री मिल सकता है Jio का 5G Phone, जानें क्या है कंपनी का प्लान

रिलायंस जियो के प्रेसिडेंट मैथ्यू ओमन ने कहा “भारत में डिजिटल सेवाओं और डेटा खपत के मामले में रिलायंस जियो नेटवर्क सबसे आगे है। स्ट्रीमिंग वीडियो, रिमोट वर्कफोर्स, 5G, IoT जैसी मांगों को पूरा करने के लिए, इस अपनी तरह के पहले भारत-केंद्रित IAX और IEX सिस्टम बनाने का नेतृत्व जियो कर रहा है। वैश्विक महामारी के बीच इस महत्वपूर्ण काम को अंजाम तक पहुंचाना एक चुनौती है किंतु इस महामारी ने डिजिटल सेवाओं के लिए उच्च-स्तरीय कनेक्टिविटी की आवश्यकता को भी रेखांकित किया है।”

इंडिया में बढ़ेगी डाटा की मांग

2016 में जियो के इंडियन टेलीकॉम मार्केट में आने के बाद से ही डाटा की मांग में उछाल देखने को मिला है। डाटा खपत में आए इस उछाल की वजह से भारत आज अंतर्राष्ट्रीय डाटा नेटवर्क मैप पर भी दिखाई दे रहा है। यह हाई स्पीड सिस्टम करीब 16,000 किलोमीटर की दूरी तक 200Tbps से अधिक की क्षमता प्रदान करेगा। इसे भी पढ़ें: Jio का नया धमाका: एक Recharge पर दूसरा रिचार्ज मिलेगा बिल्कुल फ्री

उम्मीद की जा रही है कि IAX के 2023 के मध्य में सर्विस के लिए तैयार हो जाएगा। वहीं IEX 2024 की शुरुआत में सेवा के लिए तैयार हो जाएगा। IAX और IEX सिस्टमस रिलायंस जियो के ग्लोबल फाइबर नेटवर्क से भी जुड़ती हैं।

LEAVE A REPLY