व्हाट्सऐप के हैक, अफवाह और स्कैम जिससे सतर्क रहना है जरूरी

पिछले कुछ दिनों से व्हाट्सऐप पर कई तरह के वायरस के चर्चे हो रहे हैं। खबर की सत्यता को मानें तो इससे सेना को भी अगाह किया गया है। पंरतु ऐसा नहीं है कि व्हाट्सऐप पर यह वायरस नया है। इससे पहले भी कई तरह के हैक्स, अफवाह और वायरस व्हाट्सऐप को जरिया बनाकर उपभोक्ताओं को नुकसान पहुंचाते रहे हैं।

व्हाट्सऐप में आपको कुछ इस तरह का मैसेज दिया जाता है जिससे आप उसे चाहते हुए खोलने पर मजबूर हो जाते हैं। जबकि ये वायरस होते हैं। जैसे दस लोगों को मैसेज फॉर्वड करें या अपना चैट सिक्योर करें इत्यादि। जब​कि आप नहीं जानते कि व्हाट्सऐप पर इस तरह के मैसेज देकर आपको गुमराह किया जाता है। इतना ही नहीं ये मैसेज आपके व्हाट्सऐप हैकिंग का एक तरीका हो सकते हैं। इसलिए इनसे सावधान रहने की आवश्यकता है। आगे हमनें व्हाट्सऐप से ऐसे ही कुछ अफवाह, हैक्स और स्कैम की जानकारी दी है।

जानें कैसे रखें अपने एंडरॉयड फोन को सुरक्षित

स्कैम: व्हाट्सऐप गोल्ड
email
कुछ दिन पहले यह स्कैम व्हाट्सऐप पर बेहद वायरल हो रहा था। इसमें कुछ पैसे देकर व्हाट्सऐप को प्रीमियम संस्करण में बदलने का आॅफर दिया जा रहा था। इस सर्विस का नाम व्हाट्सऐप गोल्ड दिया गया था। खास बात यह कही जा सकती है कि व्हाट्सऐप गोल्ड में आपको आॅफर की जानकारी भी दी जाती थी। जैसे 100 फोटो मुफ्त, एक हजार ईमेज भेज सकते हैं और हजार लोगों का ग्रुप बना सकते हैं आदि। जबकि यह पूरी तरह से बकवास था। व्हाट्सऐप का कोई भी प्रीमियम संस्करण नहीं है। इसके माध्यम से आपके फोन में वायरस भेजा जाता है। यदि आपके पास भी इस तरह का मैसेज आए तो तुरंत डिलीट करें।

हैक: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दे रहे 500 का मुफ्त रिचार्ज
money
पिछले कुछ दिनों से व्हाट्सऐप पर यह अफवाह है कि डिजिटल इंडिया के तहत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 500 रुपये का रिचार्ज दे रहे हैं। इसके साथ ‘भारत बदल रहा है’ का मैसेज भी दिया जाता है और मैसेज में एक लिंक पर क्लिक करने के लिए आपको प्रेरित किया जाएगा। परंतु आपको मालूम नहीं कि यह एक अफवाह है। यदि आपको भी ऐसे मैसेज मिले तो तुरंत डिलीट करें। इसे रोकने के लिए सरकार द्वारा कई कदम उठाए जा रहे हैं। यह हैक भी हो सकता है क्योंकि इस मैसेज में क्लिक करने के बाद यूजर से काफी निजी जानकारियां मांगी जाती हैं।

इस जादुई कोड से आप जान सकते हैं अपने फोन बैटरी के बारे में सबकुछ

वायरस: व्हाट्सऐप मिस कॉल

Image courtesy : ibtimes.co.in
Image courtesy : ibtimes.co.in

फोन में वायरस भेजने का यह तरीका बिल्कुल नया है। इमसें आपको कोई व्हाट्सऐप नहीं आएगा बल्कि आपके फोन में एक ईमेज या साधारण मैसेज आता है कि आपके व्हाट्सऐप पर एक मिस कॉल आया है इसे दिखने के लिए लिंक पर क्लिक करें। इस पर क्लिक करते ही आप फंस जाते हैं। इसके साथ ही फोन में वायरस डाउनलोड होना शुरू हो जाता है।

अफवाह: दस लोगों को मैसेज फॉरवर्ड करें
whatsapp-3 91Mobiles
अक्सर आपको मैसेज मिलते हैं जिसमें लिखा होता है कि इस मैसेज को 10 लोगों भेजें नहीं तो सर्विस बंद हो जाएगी। यह अफवाह है और वायरस भी। इसे जितने लोगों को आप भेजते हैं उतने लोगों को वायरस जाता है। इतना ही नहीं कई लोगों को यह मैसेज आता है कि यदि आप व्हाट्सऐप का उपयोग नहीं कर रहे हैं तो आपका अकाउंट बंद कर दिया जाएगा। ये सारी अफवाहे हैं।

SHARE
Previous articleअब लेईको ला रहा है बेहद कम कीमत में डुअल कैमरे वाला फोन
Next articleजानें एयरटेल के फ्री 3जीबी डाटा प्लान के बारे में सबकुछ
टेक्नोलॉजी शौक नहीं इनका जुनून है और इसी जुनून ने इन्हें टेक जगत में आने के लिए प्रेरित किया। मुकेश कुमार सिंह उन चंद लोगों में से हैं जिन्होंने हिंदी में मोबाइल रिव्यू लिखने की शुरूआत की। अपने 15 सालों के प​त्रकारिता के सफर की शुरुआत इन्होंने हिंदी डेली से की और पिछले 13 सालों से ये मोबाइल तकनीकी क्षेत्र में सक्रिय हैं। अब तक ये मॉय मोबाइल मैगजीन और बीजीआर जैसे वेबसाइट के लिए कार्य कर चुके हैं। वहीं जागरण और नवभारत टाइम्स जैसे अखबारों में इनके लेख नियमित रूप से छपते रहते हैं।