जानें क्यों हैकर्स से पासवर्ड की खरीदारी करता है फेसबुक

अक्सर आप अपना फेसबुक अकाउंट खोलते हैं तो आपको मैसेज आता है कि अपने फेसबुक पासवर्ड के बारे में फिर से एक बार सोचें अर्थात् रीथिंक का आॅप्शन बाता है। उस वक्त आपको थोड़ी झुंझलाहट होती है। क्योंंकि इस पासवर्ड का उपयोग आप कई वर्षों से कर रहे होते हैं और जब बदलने के लिए कहा जाता है तो आपको थोड़ी नाराजगी होती है। परंतु शायद आप इस बारे में नहीं सोचते की यह आपकी भलाई के लिए ही किया जा रहा है। क्योंकि कंपनी चाहती है कि आपका फेसबुक अकाउंट पूरी तरह से सुरक्षित हो।

इस बारे में फेसबुक के चीफ सिक्योरिटी आॅफिसर ऐलेक्स स्टामॉस का कहना है कि इस बारे में आपको जानकर हैरानी होगी कि हैकर्स द्वारा ब्लैक मार्केट में पासवर्ड बेचा जाता है और फेसबुमक उनसे पासवर्ड की खरीदारी करता है और उनका प्रयोग फेसबुक अकाउंट को क्रॉसचेक कर एनक्रिप्ट करने के लिए किया जाता है। इस खबर को टेक वेबसाइट सीनेट ने रिपोर्ट किया है।

जानें कैसे करें व्हाट्सऐप में टू स्टेप वेरिफिकेशन का उपयोग

इस बारे में स्टॉम ने कहा कि फेसबुक अकाउंट को सेफ रखना और सुरक्षित रखना दो अलग चीजें हैं। ये बातें उन्होंने लिस्बल में आयोजित वेब स​मिट के दौरान कही।

उन्होंने कहा कि किसी को सिक्योर रखने के लिए ऊंची—ऊंची दिवारें बनाई जाती हैं। जिससे कि कोई चोर या बाहरी लोग अंदर ताक—झांक न कर सकें। पंरतु स्टॉर्म के अनुसार सेफ्टी ​का दायरा थोड़ा बड़ा है लोगों को सुरक्षित रखने के लिए हम बेहद मजबूत सॉफ्टवेयर का निर्माण तो कर देते हैं बावजूद इसके अब भी कई लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। उनके पासवर्ड और डाटा चोरी हो जाते हैं।

जियो ने सेट की 30 मिनट कॉल लि​मिट

उन्होंने कहा कि पासवर्ड चोरी होने और उसके ब्लैक मार्केटिंग के पीछे बहुत हद तक लोग खुद भी जिम्मेदार होते हैं। आपने भी गौर किया होगा कि आज ज्यादातर लोग एक जैसे पासवर्ड रखते हैं। कई लोग तो पासवर्ड में लगातार नंबर का उपयोग करते जिसे हैक करना और भी आसान हो जाता है। अक्सर लोग न्यूमेरिकल अंक 123456 को अपना पासवर्ड रख लेते हैं जिसे हैकर्स आसानी से तोड़ सकते हैं।

उन्होंने कहा कि यदि कोई अपना पासवर्ड इस तरह के आसान अंको में रखता है तो अपने आपको पेरशानी में डालता है। खुद ही हैकर्स को निमंत्रण देता है। फेसबुक लोगों को अकाउंट सुरक्षित रखने के कई सिक्योरिटी टूल देता है।