सिर्फ 6 महीनों में इंडिया में दर्ज हुई हैं 6.07 लाख Cyber Security वारदातें, जानें कैसे करें बचाव और शिकायत

हम इंडियन्स की एक कड़वी सच्चाई है कि हम लोग कभी भी डाटा सिक्योरिटी को गंभीरता से नहीं लेते हैं। हमें फर्क पड़ता है तो सिर्फ इस बात से कि हमारे बैंक से पैसे न कट जाए। बाकी इसके अलावा बहुत कम ही भारतीय हैं जो नाम, मेल, आईडी और पासवर्ड जैसी अन्य डिटेल्स और डाटा की सेफ्टी और सिक्योरिटी की चिंता करते हैं। भारत सरकार ने इंडिया में ​Cyber Security incidents के नए आंकड़ें पेश किए हैं जिनके अनुसार साल 2021 के शुरूआती 6 महीनों में 6.07 लाख साइबर सिक्योरिटी की वारदातें हुई हैं।

Minister of State for Electronics and IT की ओर से Rajeev Chandrasekhar ने लोकसभा में बताया है कि साल 2021 की पहली छमाही यानी जनवरी से जून महीने तक पूरे भारत में 6,07,220 साइबर सिक्योरिटी इन्सिडेन्ट्स दर्ज किए गए हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि ये आकंडे सिर्फ 6 महीने के हैं और साल 2021 का अंत होते होते यह गिनती 12 लाख को भी पार कर सकती है। भारत सरकार के तहत Indian Computer Emergency Response Team यानी CERT-In इस तरह की वारदातों को ट्रैक और मॉनिटर करती है।

more then 6 lakh cyber security incidents reported in India during first half of 2021

Security of National Cyberspace

CERT-In के अनुसार साल 2021 के 6 महीनों में जहां 6 लाख से भी अधिक साइबर सिक्योरिटी से जुड़े गंभीर मामले सामने आए हैं वहीं पिछले साल यानी 2020 में ये आंकड़ें 11,58,208 रहे थे। इसी तरह वर्ष 2019 में इंडियन कम्प्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम ने 3,94,499 साइबर सिक्योरिटी इन्सिडेन्ट्स को दर्ज किया थे। पाठकों को बता दें कि security of national cyberspace के लिए सरकार की ओर National Cyber Security Strategy 2021 (NCSS2021) इस तरह से मामलों पर अपनी पैनी नज़र बनाए रखती है। यह भी पढ़ें : OnePlus Nord 2 में हुआ भयंकर ब्लास्ट, डिस्प्ले से लेकर रियर पैनल तक के उड़े परखच्चे

ऐसे करें ऑनलाइन शिकायत

1. सबसे पहले राष्ट्रीय साइबर अपराध रिपोर्टिंग पोर्टल की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं, जो हिन्दी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में हैं। इसके लिए cybercrime.gov.in पर क्लिक करें।

2. यहां पोर्टल संबंधित जानकारी के साथ ही यूजर से स्वीकर्ति मांगी जाएगी, कि उसके द्वारा शामिल की जाने वाली सभी डिटेल्स सही हो। इसे ‘स्वीकार कर’ आगे बढ़ें।

3. यहां Report Cyber Crime Related to Women/Child और Report Other Cyber Crime के दो अलग अलग सेग्मेंट बनाए गए हैं। आप जिस संदर्भ में शिकायत करना चाहते हैं, उसपर क्लिक करें।

4. जालसाजी, फिशिंग, हैकिंग व फ्रॉड जैसे मुद्दें ‘अदर साइबर क्राइम’ के तहत आते हैं। इसे क्लिक करने पर मोबाइल नंबर सहित ​अन्य डिटेल्स मांगी जाएगी, जिन्हें भरना है।

यह भी पढ़ें : ऑनलाइन गेम में 40,000 रुपये गंवाने पर 13 साल के बच्चे ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट पर लिखा ‘Sorry Mummy’

5. इसी तरह दूसरी ओर ‘साइबर क्राइम रिलेटेड टू वूमेन/चिल्ड्रेन’ में पोर्नोग्राफी, ऑनलाइन बुलिंग और Sexually Explicit कंटेंट आते हैं, जिनकी शिकायत इस सेग्मेंट के तहत ​दर्ज की जा सकती है।

6. यहां Report Anonymously और Report And Track दो ऑप्शन दिए गए हैं। जिनमें अपनी पहचान गुप्त रखते हुए भी साइबर क्राइम में शिकायत दर्ज की जा सकती है। जरूरत के अनुसार यूजर्स कोई भी ऑप्शन चुन सकते हैं।

7. क्राइम कैटेगरी को सलेक्ट करने के बाद आरोपी का नाम, जगह और सबूतों को मांगा जाएगा। सभी तरह की जरूरी जानकारी भरने के बाद शिकायत को सबमिट कर दें।

8. साइबर क्राइम रिपोर्ट करने के बाद एक यूनिक नंबर के रूप में कम्प्लेन्ट आईडी प्रदान की जाएगी। इस नंबर के जरिये ही बाद में अपनी कम्प्लेन्ट को ट्रैक किया जा सकेगा।

LEAVE A REPLY