Jio ने की 5जी की घोषणा, Made in india होगा पूरा नेटवर्क

reliance-jio-plan-for-5g-feature-phone-smartphone-make-in-india

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) की 43वीं एजीएम शुरू हो गई है। कोरोना वायरस के कारण रिलायंस इंडस्ट्रीज की एजीएम पहली बार ऑनलाइन हो रही है। एजीएम के दौरान मुकेश अंबानी ने कहा कि अपने डिजिटल प्लेटफॉर्म में दुनिया के दिग्गज निवेशकों की तरफ से भारी निवेश जुटाने में सफल रही है। साथ ही नए निवेशक के रूप में गूगल के नाम पर मोहर लगाई। वहीं, मुकेश अंबानी ने इस बात की जानकारी दी है कि कंपनी Jio 5G नेटवर्क पर काम कर रही है और जल्द ही इसे इंडिया में पेश कर देगी।

मेड इंडिया होगा 5G

मुकेश अंबानी ने 5G को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को समर्पित किया और इस संदर्भ में कहा कि यह आत्मनिर्भर भारत की दिशा में बढ़ाया गया एक अहम कदम है। जियो अपने तैयार 5G नेटवर्क और व्यापक फाइबर एसेट्स के साथ एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाने को तैयार है। रिलायंस प्रमुख मुकेश अंबानी ने कहा कि जियो ने 5जी तकनीक विकसित कर ली है। उन्होंने बताया कि जैसे ही 5जी स्पेक्ट्रम उपलब्ध होंगे, इसके ट्रायल शुरू हो जाएंगे। फील्ड में इस्तेमाल के लिए अगले साल तक यह तकनीक तैयार की जा सकती है। 5G पर आकाश अंबानी ने बताया कि इस टेक्नोलॉजी को रिलायंस कर्मचारियों द्वारा बनाया गया है। इसे भी पढ़ें: Jio 5G हुआ अनाउंस, मुकेश अंबानी ने फिर किया धमाका, रिलायंस जियो को लेकर की ये बड़ी घोषणाएं

jio-5g

अगले साल आ सकता है 5G

AGM के दौरान मुकेश अंबानी ने कहा कि 5जी स्पेक्ट्रम उपलब्ध होते ही भारत में इसकी टेस्टिंग शुरू कर दी जाएगी। वहीं, इसे अगले एक साल जमीनी स्तर पर उतारने के लिए तैयार की जा रही है। उन्होंने कहा कि वह देश में वर्ल्ड क्लास 5G सर्विस ऑफर करने के लिए तैयार हैं।

विश्व स्तर की तकनीकों का किया विकास

मुकेश अंबानी का कहना है कि जियो प्लेटफॉर्म्स ने 20 से ज़्यादा स्टार्टअप्स पार्टनर्स के साथ मिलकर विश्व स्तर की तकनीकों का विकास किया है– चाहे वो 4G हो या 5G, क्लाउड कंप्यूटिंग, डिवाइसेज़, ऑपरेटिंग सिस्टम, बिग डेटा, आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस, एआर/वी आर, ब्लॉकचेन, नेचरल लैंग्वेज अंडरस्टैंडिंग और कंप्यूटर विज़न हो।

Jio Meet का जलवा

इसके अलावा मुकेश अंबानी ने कहा कि लॉन्च के कुछ दिनों बात दी ही Jio Meet 5 मिलियन लोगों द्वारा डाउनलोड किया जा चुका है। यह भारत का पहला क्लाउड बेस्ड वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एप है। वहीं, रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने निवेशकों का स्वागत किया और बताया कि गूगल जियो प्लेटफॉर्म्स में 7.7 फीसदी हिस्सा 33,737 करोड़ रुपए में खरीदेगी। इसे भी पढ़ें: Jio ने बनाया जादू वाला चश्मा, जानें इसमें क्या है खास
jio-5g

गूगल के अलावा जियो में हाल ही में क्वालकॉम ने भी निवेश किया था। इससे पहले फेसुबक, सिल्वर लेक पार्टनर्स (दो निवेश), विस्टा इक्विटी पार्टनर्स, जनरल अटलांटिक, केकेआर, मुबादला, एडीआईए, टीपीजी, एल कैटरटन, पीआईफ और इंटेल कैपिटल कंपनी में निवेश कर चुके हैं।

LEAVE A REPLY