गजब, ऐसी टेक्नोलॉजी जो 1 मिनट में 80 प्रतिशत चार्ज करेगी स्मार्टफोन

man died smartphone plugged into charger on bed electrocuted in thailand

आज के समय स्मार्टफोन में कई तरह की टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जा रहा है। लेकिन, सभी तकनीक के बीच हैंडसेट में फास्ट चार्जिंग एक ऐसा फीचर है जो लगभग सबकी जरुरत और पसंद कहा जा सकता है। इस टेक्नोलॉजी की मदद से कम समय में फोन को चार्ज किया जा सकता है। मौजूद समय में शाओमी और वीवो भी अपनी फास्ट चार्जिंग टेक्नॉलजी पर काम कर रही है। वहीं, अब यूनीवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नॉलजी ऑफ चाइना के प्रफेसर हुआंग युनहुई ने एक नई टेक्नॉलजी पेश की है जिससे स्मार्टफोन सिर्फ 1 मिनट में 80 प्रतिशत चार्ज हो जाएगा।

इस टेक्नोलॉजी को प्रफेसर ने पेकिंग यूनिवर्सिटी ग्लोबल अलुमनी फोरम में प्रदर्शित किया है। यह नई टेक्नॉलजी ‘कंस्ट्रक्शन और सिनर्जी मकैनिज्म ऑफ हाई परफॉर्मेंस कंपोजाइट इलेक्ट्रोड मटेरियल्स फॉर एनर्जी स्टोरेज’ प्रजेक्ट का हिस्सा है। रिपोर्ट के मुताबिक हुवावे P30 में इस टेक्नॉलजी का इस्तेमाल किया गया है।

huawei-mate-20-pro-mate-rs-porsche-design-launched-in-india-price-rs-69990-feature-specifications-in-hindi

बता दें कि शाओमी और वीवो भी अपनी फास्ट चार्जिंग टेक्नॉलजी पर काम कर रही है। वीवो का दावा है कि कंपनी 120W फास्ट चार्जिंग (फ्लैश चार्ज) टेक्नॉलजी पर काम कर रही है। वहीं, शाओमी ने भी एक खास टेक्नॉलजी पेश की है। शाओमी की इस टेक्नॉलजी की मदद से 4,000mAh बैटरी वाला स्मार्टफोन सिर्फ 17 मिनट में फुल चार्ज हो जाएगा।

शाओमी अपनी 100 W सुपर चार्ज टर्बो टेक्नॉलजी पर पिछले कुछ समय से काम कर रही है और इस साल की शुरुआत में कंपनी ने इसे लोगों के सामने रखा था। शाओमी ने डिवेलपर कॉन्फ्रेंस में 100 W फास्ट चार्जिंग टेक्नॉलजी को पेश किया था।
Xiaomi 100W Super Charge Turbo charging technology launched will charge 4000mah battery phone in 17 minutes
इसके अलावा Vivo Super FlashCharge 120W टेक्नोलॉजी को पेश कर चुकी है। इस तकनीक की मदद से 4,000एमएएच बैटरी सपोर्ट करने वाले स्मार्टफोन को सिर्फ 5 मिनट में ही 0 से 50 प्रतिशत तक चार्ज किया जा सकता है। इस एडवांस तकनीक की बात करें तो Super FlashCharge नई चार्ज पंप तकनीक के जरिये 120W (20V/6A) तक की स्पीड से फोन चार्ज करती है। यह तकनीक कंपनी के ही एडप्टर और यूएसबी टाईप-सी केबल के साथ काम करती है। वहीं बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम (BMS) चार्जिंग के दौरान बिजली वॉल्ट को कंट्रोल कर बैलेंस करता है।

फास्ट चार्जिंग टेक्नोलॉजी आने वाले समय के साथ और भी बेहतर होती नजर आ रही है। इस समय में फास्ट चार्जिंग को वायरलैस चार्जिंग से ज्यादा बेहतर माना जा रहा है। समय के अभाव के और फोन की जरुरत के कारण फास्ट चार्जिंग टेक्नोलॉजी काफी सफल भी हुई है।

LEAVE A REPLY