Nokia के फोन में हुआ ब्लास्ट, आप बिल्कुल न करें ये गलती

मोबाइल फोन्स हमारे जीवनशैली में इस तरह से शामिल हो गए हैं कि हम उनके बिना एक कदम नहीं चल सकते। इतना ही नहीं सोते समय भी हम अपने फोन के पास में रखते हैं। लेकिन, जब भी स्मार्टफोन में आग लगने की कोई घटना होती है हम सहम से जाते हैं। क्योंकि फोन हमारे सबसे नजदीक होता है और इसमें सबसे ज्यादा शारीरिक नुकसान होने का डर होता है। आज एक बार फिर से मोबाइल फोन ब्लास्ट की घटना की जानकारी सामने आई है। केरल के चंद्रा बाबू नामक एक 53 वर्षीय व्यक्ति के साथ यह धटना घटित हुई है, जिसमें उन्हें छोट भी पहुंची है।

मनोरमा की एक रिपोर्ट के अनुसार यह घटना उस समय हुई जब पेशे से ऑटो रिक्शा ड्राइवर चंद्रा बाबू फोन को अपने तकिए के नीचे रख कर आराम कर रहे थे। सोमवार सुबह केरल के कोल्लम में ओचिरा के रहने वाले चंद्रा बाबू जब सो रहे थे, तभी उनकी तकिये के नीचे रखा नोकिया का मोबाइल फट गया जिससे वे जख्मी हो गए।

चंद्र बाबू ने टीएनएम से कहा कि मैं एक यात्री के साथ त्रिवेंद्रम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक लंबी सवारी के बाद घर वापस आया था। चूँकि मैं बहुत थका हुआ था, मुझे नींद आ गई थी। मेरे कंधे में दर्द का दर्द महसूस होते ही मैं जाग गया। जब मैंने बिस्तर पर देखा, तो तकिया का किनारा जहां फोन रखा था, जल गया था और फोन से चिंगारियां आ रही थीं। इसे भी पढ़ें: Nokia लाया एक और सस्ता 4G स्मार्टफोन, कीमत सिर्फ 6,500 रुपये के करीब

nokia-phone-burned

बाबू ने कहा कि उन्हें अभी भी समझ नहीं आया कि फोन में आग कैसे लगी। रिपोर्ट के अनुसार वह अकेला था और जब घटना हुई तो उसने शर्ट नहीं पहनी थी। जलन का अहसास होने पर उसने फोन को जमीन पर फेंक दिया और तुरंत इलाज कराने के लिए अस्पताल पहुंच गया। इसे भी पढ़ें: Nokia C3 रिव्यू: स्मार्ट OS के साथ नोकिया का अहसास, लेकिन फीचर्स में थोड़ा पीछे

भूलकर भी न करें ये गलती फट सकता है फोन

हममें से ज्यादातर लोग सोते समय फोन का इस्तेमाल करते हैं और उसे अपने पास रख कर ही सोते हैं. ऐसा करने से आपकी मुसीबत बढ़ सकती है। बता दें कई डॉक्टरों का मानना है कि मोबाइल से निकलने वाला रेडिएशन आपके दिमाग पर असर डालता है। इसलिए हो सके तो आप सोते समय फोन को दूर रख कर सोएं इससे ब्लास्ट होने की घटनाएं भी नहीं होंगी।

VIA: The News Minute

SHARE
Previous articleSamsung Galaxy Note 10 की कीमत हुई 27,000 रुपए कम, खरीदने का है बेस्ट मौका
Next articleOnePlus 9 सीरीज पर हो रहा काम, सामने आई अहम जानकारी
अंकित का मानना है कि तकनीक डरने की नहीं सीखने की चीज है। इसके बारे में आप जितना जानेंगे उतनी ललक बढ़ेगी। इसी ललक और सीखने की चाह ने इन्हें तकनीकी जगत से जुड़ने के लिए प्रेरित किया। अंकित दीक्षित ने अपने करियर की शुरुआत न्यूज़ 18 से की थी और वर्ष 2016 में ये बीजीआर इंडिया से जुड़े। इन्हें न सिर्फ टेक न्यूज की अच्छी समझ है बल्कि टिप्स एंड ट्रिक्स और रिव्यू में भी अच्छी जानकारी भी है। अब अंकित 91मोबाइल्स के साथ जुड़े हैं यहां भी कुछ नया करने की सोच के साथ काम कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY