OLA Scooter बुक करने से पहले पढ़ें ये खबर, बच जाएंगे आपके पैसे!

10000 rs discount on ola electric Scooter s1 pro offer range

देश के सबसे चर्चित बैटरी वाली स्कूटी में से एक ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर को खरीदने से पहले बुक करना पड़ता है। लेकिन, अगर आप इस ई-स्कूटर की बुकिंग करने का विचार कर रहे हैं तो यह खबर आपके लिए है क्योंकि हो सकता कि आप जिस वेबसाइट से OLA Scooter की बुकिंग कर रहे हों वह फेक हो और आपका बुकिंग अमाउंट कंपनी के खाते में न जाकर सीधा साइबर अपराधियों के अकाउंट में पहुंच जाए। दरअसल, ओला स्कूटर बुक करने के नाम पर करोड़ों की ठगी करने का मामला सामने आया है। वहीं, साइबर ठगों ने अब तक ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर बुक करने के नाम पर कई ग्राहकों को अपना शिकार भी बनाया।

20 आरोपी गिरफ्तार

जानकारी के मुताबिक सभी आरोपी देश के अलग-अलग राज्यों में बैठकर ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर बेचने के नाम पर ठगी कर रहे थे। मामलों को बढ़ता देख पुलिस ने जब इसकी जांच की तो ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर बेचने के नाम पर ठगी करने वाले 20 Cyber criminals को गिरफ्तार किया गया। इसे भी पढ़ें: Ola Electric Bike की कर लो तैयारी! फुल चार्ज में देगी इतने KM की रेंज

ola-scooter-fraud

1000 लोगों से लूटा करोड़ों रूपये

दिल्ली पुलिस ने ट्विट कर इस बात की जानकारी दी है कि साइबर अपराधियों के एक गैंग ने कम से कम 1,000 लोगों को अपना शिकार बनाया है। जानकारी के मुताबिक बेंगलुरु में रहकर दो आरोपियों ने ओला की एक फेक वेबसाइट डिजाइन की थी, जिसके जरिए वेबसाइट पर विजिट करने वाले लोगों को ठग अपने जाल में फंसा लेते थे। वहीं, दिल्ली पुलिस ने ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर स्कैम करने के आरोप में 20 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

ola-s1-electric-scooter

ऐसे होता था ओला स्कूटर बुकिंग के नाम पर फ्रॉड

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जैसे ही ग्राहक ओला ई-स्कूटी के बारे में जानकारी लेने के लिए गूगल पर सर्च करते थे, तो उन्हें यही फर्जी वेबसाइट दिखती थी। इसके बाद ठग गैंग के सभी शातिर ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर बेचने के नाम पर लोगों से पैसा जमा करवाते थे। इसे भी पढ़ें: OLA की बैटरी वाली स्कूटी को टक्कर देने आया ‘Baaz’, प्राइस सिर्फ 35000 रुपये

101-km-range-ola-s1-air-electric-scooter-launch-in-india

ये था असली खेल

खबरों के अनुसार ग्राहक जैसे ही अपराधियों की फर्जी वेबसाइट को ओपन कर अपनी डिटेल सबमिट करते थे। इसके बाद ग्राहकों को फोन कर 499 रुपये बुकिंग अमाउंट मांगा जाता था। वहीं, जैसे ही 499 रुपये ट्रांसफर हो जाते थे तो उसके बाद ठग स्कूटर के इंश्योरेंस, टैक्स और ट्रांसपोर्टेशन चार्जेस के नाम पर एक ग्राहक से 50,000 से 70,000 रुपये लिए जाते थे।

LEAVE A REPLY