OPPO ENCO X रिव्यू: साउंड क्वालिटी और डिजाइन में सुपर से ऊपर

अगर आप एक ट्रूली वायरलेस ईयरफोन की तलाश कर रहे हैं तो आपको 2,000 रुपए की शुरुआती कीमत में कई ब्रांड्स के ईयरफोन मिल जाएंगे। हालांकि, इन ईयरफोन में कुछ फीचर्स को लेकर समझौता करना पड़ सकता है। लेकिन, अगर आप ज्यादा कीमत चुकाने के लिए तैयार हैं तो मार्केट में इस समय कुछ ऐसे ईयरफोन भी मौजूद हैं जो आपको किसी भी तरह से निराश नहीं करेंगे। ऐसे ही एक सुपर वायरलेस ईयरबड्स को पॉपुलर स्मार्टफोन ब्रांड Oppo ने हाल ही में लॉन्च किया है। काफी समय से देखने को मिल रहा है कि OPPO ने ऑडियो सेग्मेंट में भी अपने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं और इसे पसंद भी किया जा रहा है। कंपनी ने हाल ही में Enco सीरीज़ का नया Enco X True Wireless Noise Cancelling ईयरफोन ब्लू कलर वेरिएंट इंडिया में लॉन्च किया था। ओपो ने इस वायरलेस ईयरफोन को Reno 6 सीरीज स्मार्टफोन के साथ मार्केट में उतारा था, जिसमें मौजूद कई खासियतों में से एक है नॉइस कैंसिलेशन। हमारे हिसाब से यह इन बड्स की सबसे बड़ी खूबियों में से एक है। हमने इन ईयरबड्स को कुछ दिन टेस्ट किया और यूज़ के दौरान हमारा अनुभव कैसा रहा, वह एक्सपीरियंस इस आर्टिकल में रिव्यू के तौर पर पेश कर रहे हैं। इसे पढ़कर आप समझ पाएंगे कि OPPO ENCO X खरीदने में नफ़ा है या नुकसान।

Enco X: प्राइस और स्पेसिफिकेशन

Oppo Enco X ब्लू कलर वेरिएंट की कीमत 9,990 रुपये है। इस नए कलर के आने के बाद ओपो ईयरबड्स को Black, Blue और White तीन ऑप्शन्स में खरीदा जा सकता है। Enco X डुअल-कोर चिप के साथ आता है जो शोर को कम करने में सक्षम है। इसमें चार मोड दिए गए हैं – ट्रांसपेरेंसी मोड, टॉगल नॉइज़ मोड, स्ट्रॉन्ग मोड और वीक मोड। आप अपने हिसाब से अलग-अलग मोड में स्विच कर सकते हैं। इसके अलावा ईयरबड्स IP54 वॉटर और डस्ट रेसिस्टेंट रेटिंग के साथ आते हैं। ईयरबड्स में मौजूद बैटरी के बारे में दावा किया जाता है कि यह एक बार चार्ज करने पर 25 घंटे तक चलती है। इसमें सॉन्ग चलाने/रोकने, कॉल का जवाब देने और वॉयस असिस्टेंट को टॉगल करने के लिए टच कंट्रोल दिए गए हैं।

oppo-enco-x-review-new

Enco X: डिजाइन बिल्ड और कम्फर्ट

Oppo Enco X एक प्रीमियम डिजाइन वाले ईयरफोन हैं। इस वायरलेस ईयरफोन का केस अंडाकार शेप का है। वहीं, इस केस में मौजूद ईयरबड्स पहली नजर में आपको Apple के AirPods Pro के समान लगेंगे। दोनों ही ईयरफोन का वजन काफी हल्का है जो 4.8 ग्राम है। बड्स हाई-फाई ऑडियो को सपोर्ट करते हैं और इनमें 11mm ड्राइवर का उपयोग किया गया है। चार्जिंग केस में सामने की तरफ एक एलईडी लाइट दिखाई देती है, जो कनेक्शन की स्थिति दिखाती है और चार्जिंग इंडिकेटर के रूप में दोगुनी हो जाती है। पीछे की ओर, आपको एक एल्यूमीनियम की सीमा के साथ डायनाडियो ब्रांडिंग मिलती है क्योंकि Enco X डेनिश ब्रांड के साथ सह-निर्मित है। हालांकि जब आप केस खोलते हैं तो वह ब्रांडिंग दिखाई नहीं देती है। इसके अलावा केस में नीचे की ओर टाइप-सी चार्जिंग पोर्ट मौजूद है।

oppo-enco-x-review

Enco X TWS इयरफोन को केस से निकालना काफी आसान है। साथ ही केस की तरह, इन बड्स के लिए स्लॉट भी चमकदार हैं, लेकिन आसपास आपको मैट फ़िनिशिंग मिलेगी। यहां बताना जरूरी है कि केस में आपको किसी प्रकार का कोई लेबल नहीं मिलेगा जो आपको बताए कि कौन-सा ईयरबड किस कान के लिए है।

oppo-enco-x-review-1

डिजाइन के अलावा चार्जिंग केस को मजबूत बनाया गया है। इस केस को एक ही हाथ से आसानी से खोला व बंद किया जा सकता है। हाथ में पकड़ने पर ही बिल्ड क्वालिटी सॉलिड लगती है। वहीं, इन ईयरफोन के केस की तरह ही Enco X इयरफ़ोन भी काफी प्रीमियम महसूस होते हैं। हल्का वजन होने के कारण इन्हें लंबे समय तक पहनने में आपको कोई परेशानी नहीं होगा। इनमें दिए गए सिलिकॉन टिप्स अच्छी क्वालिटी के हैं। अगर बात करें केस के अंदर मौजूद ईयरबड्स की तो यह बिल्कुल ग्लॉसी फिनिश के साथ आते हैं। इन ईयरफोन के बॉटम पर आपको ग्लास जैसा कुछ फील होगा जहां ‘L’ और ‘R’ लिखा है। लेकिन इतनी चमक में यह काफी मुश्किल से दिखाई देता है। हमें उम्मीद है कि ओपो आगे चलकर इसमें कुछ बेहतर करेगा।

Enco X: सॉफ्टवेयर और कनेक्टिविटी

Oppo Enco X TWS इयरफोन ब्लूटूथ 5.2 के साथ आते हैं और इनकी रेंज 10 मीटर है। इसके अलावा इन्हें आप आसानी से एंडरॉयड और आईओएस डिवाइस के साथ पेयर कर सकते हैं। हमने अपने रिव्यू के दौरान इन ईयरफोन को OnePlus 8 Pro के साथ पेयर करके इस्तेमाल किया। इस समय हमें कनेक्टिविटी को लेकर किसी भी तरह की कोई समस्या देखने को नहीं मिली। इतना ही नहीं जब कनेक्टेड स्मार्टफोन घर की दूसरी मंजिल पर था तब भी नीचे कमरे में रखे Enco X के टच कंट्रोल और इन-ईयर डिटेक्शन अच्छे से काम कर रहे थे।

oppo-enco-x-tws-1

इसके अलावा आप कंपनी का HeyMelody ऐप डाउनलोड कर इन ईयरबड्स के टच कंट्रोल को बदल सकते हैं। इसके अलावा यह ऐप आपको Enco X के फर्मवेयर को अपग्रेड करने और बड्स की बैटरी लेवल चेक करने का ऑप्शन देता है। हालांकि, हेमेलोडी ऐप केवल एंड्रॉइड पर उपलब्ध है, आईओएस उपयोगकर्ताओं के पास फर्मवेयर को अपग्रेड करने या टच कंट्रोल को कस्टमाइज़ करने का कोई ऑप्शन नहीं है।

Enco X: परफॉर्मेंस

कंपनी का दावा है कि प्रत्येक बड्स की फ्रीक्वेंसी रेंज 20 हर्ट्ज ~ 20 किलोहर्ट्ज़ है। यह नॉइज़ कैंसलेशन, फ़ीचर टच कंट्रोल और LHDC सपोर्ट से लैस हैं। अब अगर इसकी परफॉर्मेंस की बात करें तो हमें इस सेग्मेंट में यह प्रोडक्ट बेहद पसंद आया। इसमें टच सेंसिटिव जोन काफी अच्छा है। ईयरफोन लगाकर जब हमने फोन में कई वीडियो देखे या फिर गेम खेले तो बाहर की कोई भी आवाज नहीं आती है और हमें जबरदस्त एक्सपीरियंस प्राप्त हुआ। इसके अलावा इन ईयरफोन का सबसे ज्यादा इस्तेमाल हमने साइकलिंग और रनिंग के दौरान किया, जहां इनकी ग्रीप काफी शानदार थी। कान में एक बार अच्छे ट्विस्ट करने के बाद यह आपके कान से तभी निकलेंगे जब आप इन्हें निकालना चाहेंगे। यह IP54 रेटिंग के साथ आता है जिससे यह पानी की बूंदों या वेट वैदर में भी सर्वाइव कर सकता है। हमने इन ईयरबड्स के जरिए कई म्यूजिक ऐप्स को ट्राई किया। सभी में हमें बेहतरीन और जबरदस्त परफॉर्मेंस मिली।

oppo-enco-x-tws-2

अगर बात करें बैटरी लाइफ की तो इस मामले में भी यह अव्वल रहा। हमने इसे एक बार फुल चार्ज किया और यह करीब दो दिन तक चला। यह औसत यूसेज का आंकड़ा है। जब हमने इसे लगातार वीडियो देखकर टेस्ट किया तो फुल चार्ज बैटरी 18 से 20 घंटे तक चली। वहीं, एक बार हमने मात्र 10 मिनट के लिए इसे चार्ज किया और औसत यूज किया तो इसने एक पूरा दिन आराम से निकाल दिया। इस ईयरफोन को हमने एक बार चार्ज कर पूरे 5 दिन भी इस्तेमाल किया। लेकिन इस दौरान हर रोज़ हमने इसे महज 3 से 4 घंटे लगातार यूज किया इस हिसाब से हमने औसत समय 18 घंटे के आस-पास का निकाला है।

हमारा फैसला

Oppo Enco X TWS इयरफोन एक शानदार वायरलेस प्रोडक्ट है। यह उन यूजर्स के लिए बेस्ट है जो हल्के वजन और आरामदायक के साथ एक प्रीमियम डिजाइन वाले TWS की तलाश कर रहे हैँ। इसके अलावा नॉइज़ कैंसलेशन व IP54 रेटिंग इसे और दमदार बना देते हैं। 9,990 रुपए में इस खरीदा जा सकता है। अगर आप इतनी कीमत चुकाएंगे तो हमारी तरफ से आपको इस बात का आश्वासन है कि निराश नहीं होंगे।

SHARE
Previous article5G सर्विस से अभी लोगों को क्यों नहीं है ज्यादा उम्मीद, जानें 5 कारण
Next articleक्या बंद हो गया है Jio Phone 2 ?
अंकित का मानना है कि तकनीक डरने की नहीं सीखने की चीज है। इसके बारे में आप जितना जानेंगे उतनी ललक बढ़ेगी। इसी ललक और सीखने की चाह ने इन्हें तकनीकी जगत से जुड़ने के लिए प्रेरित किया। अंकित दीक्षित ने अपने करियर की शुरुआत न्यूज़ 18 से की थी और वर्ष 2016 में ये बीजीआर इंडिया से जुड़े। इन्हें न सिर्फ टेक न्यूज की अच्छी समझ है बल्कि टिप्स एंड ट्रिक्स और रिव्यू में भी अच्छी जानकारी भी है। अब अंकित 91मोबाइल्स के साथ जुड़े हैं यहां भी कुछ नया करने की सोच के साथ काम कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY