पाक की ‘नापाक’ हरकत : फेक आरोग्य सेतु ऐप से लगा रहा भारतीय यूजर्स के डाटा में सेंध, ऐसे करें अपना बचाव

google search assistant maps showing nearest covid-19 testing labs locations

पूरे विश्व के साथ भारत में कोरोना तेजी से पैर फैला रहा है। कुछ महीने पहले भारतीय सरकार द्वारा पेश किया गया आरोग्य सेतु ऐप इंडिया में कोरोना से लड़ाई में दमदार हथियार बनकर उभरा है। इस ऐप की पॉपुलेरिटी का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि लॉन्च होने के 2 महीने में ही इस ऐप के डाउनलोड्स की संख्या 12 करोड़ से ज्यादा हो गई है। इस बात की जानकारी खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी थी। लेकिन, कोरोना जैसी महामारी के लिए बनाए गए इस ऐप का फेक ऐप बनाकर पाकिस्तान ने भारत की जासूसी का नया तरीका निकाला है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ने भारतीयों की जासूसी के लिए फेक Arogya Setu App का निर्माण किया है। ISI की कोशिश है कि वह इस ऐप की मदद से भारतीय ब्यूरोक्रेसी और डिफेंस से जुड़े संस्थानों को हैक कर सके। इतना ही नहीं पाकिस्तान इस ऐप के जरिए भारत के आम नागरिकों के पर्सनल डाटा भी हैक करने की साजिश रच रहा है। यह भी पढ़ें: फोन से चीनी ऐप्स की छुट्टी करने वाली इंडियन App को प्‍ले स्‍टोर ने हटाया, लाखों में थे यूजर्स

महाराष्ट्र पुलिस के आईजी साइबर विभाग, यशस्वी यादव का कहना है कि महाराष्ट्र साइबर विभाग ने बहुत खतरनाक मैलवेयर की पहचान कि है, जिसके माध्यम से हमारे देश के संवेदनशील डाटा चोरी हो सकते हैं। कुछ पाकिस्तान हैकर्स ने हमारे नौकरशाहों और रक्षा कर्मियों के फोन से संवेदनशील जानकारी तक पहुंचने के लिए एक नकली आरोग्य सेतु ऐप डिज़ाइन किया।

Aarogya setu App most important in corona lockdown 4 for travel 100 million download in india feature
ऐसे बचें फेक आरोग्य सेतू ऐप से

    1. आरोग्य सेतू ऐप को गूगल प्ले स्टोर या एप्पल स्टोर से ही डाउनलोड करें।
    2. किसी अनवैरिफाइड सोर्स या लिंक से इस ऐप डाउनलोड न करें।
    3. ध्यान रहे आरोग्य सेतु ऐप की एक्सटेंशन फाइल का नाम gov.in है।
    4. अगर किसी मैसेज द्वारा आपको फर्जी लिंक मिलता है तो जल्द साइबर सेल जानकारी दें।

इस ऐप अपने बल्कि अपने आस-पास मौजूद कोरोना पॉजिटिव लोगों का भी पता लगाया जा सकता है। ऐप की खासियत है कि यह हर वक्त आपकी लोकेशन ट्रेक करती है। आप जहां जहां जाते हैं ये उसका डाटा सेव करती रहती है। ऐसी स्थित में आप कहीं गए हैं और वहां आपके आस पास कोई ऐसा व्यक्ति मौजूद है जिसे बाद में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है, तो ऐप आपको नोटिफिकेशन्स दे देगी कि ‘फलां तारीख को, फलां जगह पर आप गए थे तथा उसी दिन वहां पर मौजूद फलां व्यक्ति को कोरोन हो गया है’। बस इसके लिए जरूरी है कि यह ऐप सभी लोगों के फोन में डाउनलोडेड हो। यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट पहुॅंचा Zoom App का मामला, आप भी करते हैं यूज़ तो हो जाईये सावधान

Aarogya setu App कोरोना वायरस तथा उसके संक्रमण के खतरे व जोखिम का आंकलन करने में लोगों की मदद करता है। हाल ही में केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों के लिए मोबाइल फोन पर आरोग्य सेतु ऐप को डाउनलोड करने का आदेश किया था। वहीं साथ ही यह खबर भी आई है कि सभी नए स्मार्टफोन के लिए आरोग्य सेतु पर पंजीकरण करना अनिवार्य होगा। जानकारी के अनुसार, भारत सरकार मोबाइल कंपनियों को आदेश दे सकती है कि सभी नए स्मार्टफोन्स में इस ऐप को पहले से ही इंस्टॉल करे और फिर सेल करे।

LEAVE A REPLY