राहुल गांधी का ट्विटर के बाद ईमेल सर्वर भी हुआ हैक, कॉन्ग्रेस का ट्विटर अकाउंट भी हैक

Photo: The Quint

कल रात को खबर आई थी कि राहुल गांधी के ट्विटर अकाउंट को हैक कर लिया गया है। इसके बाद राहुल गांधी का बयान भी आया था और आज सुबह एक और खबर से लोगों को चौंका दिया। सुबह-सुबह ही खबर आई की कॉन्ग्रेस पार्टी का अधिकारिक ट्विटर अकाउंट भी हैक कर लिया गया है। साइबर अटैकर्स द्वारा 12 घंटे के अंदर कॉन्ग्रेस पार्टी को दो बार निशाना बनाया गया। हैकर्स ने कांग्रेस और राहुल गांधी दोनों के ट्विटर हैंडल से बेहद आपत्तिजनक ट्वीट किए है जिसके बाद खलबली मच गई।

खबर यहीं नहीं रुकी बल्कि सुबह-सुबह खबर यह भी आई कि राहुल गांधी के ​आॅफिशियल इमेल सर्वर को भी हैक कर लिया गया है। गैजेट्सनाउ पर दी गई खबर के अनुसार राहुल गांधी के अधिकार ट्विटर हैंडल के साथ ईमेल सर्वर को भी हैकर्स ने हैक कर लिया है।

इंडियन नेशनल कांग्रेस का आधिकारिक ट्विटर अकाउंट गुरूवार सुबह में हैक हुआ। इसके बाद कांग्रेस ने भारत में डिजिटल सुरक्षा पर सवाल खड़े किए हैं। राहुल गांधी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट को हैक करने के बाद भी हैकर्स से काफी अपशब्द भरे ट्वीट पोस्ट कर दिए गए थे।
करीब पांच मिनट के अंदर ही उनके ट्विटर हैंडल से कम से कम सात आपत्तिजनक ट्वीट किए गए। हालांकि इसके कुछ ​देर बाद ही राहुल गांधी के कार्यालय ने बायान दिया कि समस्या को दूर कर लिया गया है। वहीं ट्विट भी डिलीट किए गए।

राहुल गांधी का ट्विवटर हैंडल हैक होने के मामले में दिल्ली पुलिस के साइबर सेल में आधिकारिक तौर पर शिकायत दर्ज करायी गई है। वहीं कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने @OfficeOfRG जो​ कि राहुल गांधी का आधिकारिक ट्विटर हैंडल है के हैक होने की पुष्टि की और बयान दिया कि इस तरह की घटिया हरकतों से समझदारी की आवाज को दबाया नहीं जा सकता और ना ही इससे राहुल गांधी को जनता से जुड़े मुद्दे उठाने से रोका जा सकता है। वहीं है के बाद राहुल गांधी के सत्यापित ट्विटर हैंडल का नाम ‘@OfficeOfRG’ को भी बदल दिया गया।

SHARE
Previous articleजियो को लेकर हो सकती है बड़ी घोषणाएं, आप भी देख सकते हैं लाइव
Next articleलॉन्च हुआ स​नी लियॉन ऐप, जानें क्या है इसमें हॉट
टेक्नोलॉजी शौक नहीं इनका जुनून है और इसी जुनून ने इन्हें टेक जगत में आने के लिए प्रेरित किया। मुकेश कुमार सिंह उन चंद लोगों में से हैं जिन्होंने हिंदी में मोबाइल रिव्यू लिखने की शुरूआत की। अपने 15 सालों के प​त्रकारिता के सफर की शुरुआत इन्होंने हिंदी डेली से की और पिछले 13 सालों से ये मोबाइल तकनीकी क्षेत्र में सक्रिय हैं। अब तक ये मॉय मोबाइल मैगजीन और बीजीआर जैसे वेबसाइट के लिए कार्य कर चुके हैं। वहीं जागरण और नवभारत टाइम्स जैसे अखबारों में इनके लेख नियमित रूप से छपते रहते हैं।