रांची के शख्स ने बनाया देसी रोबोट जो भोजपुरी और मराठी में भी करता है बात, इसे देखकर चीन और अमेरिका हुए हैरान

तकनीक के मामले में भारतीय किसी से कम नहीं यह बात तो पूरी दुनिया मानती है। विश्व की बड़ी-बड़ी कंपनियों में भारतीय मूल के लोग बड़े-बड़े पदों पर बैठे हैं। भारतीयों का यह टैलेंट नामी कंपनियों में ही नहीं बल्कि शहर की गलियों में भी बसता है। रांची के रहने वाले एक शख्स ने ऐसा ही कारनामा कर दिखाया है जिसके बाद अमेरिका और चीन भी हैरान है। 38 साल के रंजीत ने देसी रोबोट बनाया है जिसे देखकर दुनिया भर के बड़े वैज्ञानिक भी चौंक गए हैं।

रंजीत श्रीवास्तव ने अपना टेलेंट दिखाते हुए देसी रोबोट बनाया है। इस रोबोट का नाम ‘रश्मि’ रखा गया है। रश्मि विश्व प्रसिद्ध रोबोट ‘सोफिया’ का देसी संस्करण है। सोफिया के लिए आपको बता दें कि यह दुनिया की पहली ऐसी रोबोट है जिसे किसी आम आदमी की तरह देश की नागरिकता प्राप्त हुई है। सोफिया को सयुंक्त अरब अमीरात की सरकार द्वारा देश का नागरिक करार दे दिया गया है। रंजीत ने सोफिया से ही प्रेरित होकर रश्मि का निर्माण किया है।

रश्मि यूं तो कई खूबियों से लैस है लेकिन इसकी सबसे खास बात यह है कि यह रोबोट होकर भी हिंदी व अंग्रेजी के साथ-साथ भोजपुरी व मराठी में भी बात कर सकती है। 38 वर्षीय रांची के रहने वाले रंजीत ने लिंग्विस्टिक इंटरप्रीटेशन, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, फेशियल रिकग्निशन सिस्टम और विजुअल डाटा जैसे फीचर्स का मिश्रण कर रशिम का निर्माण किया है। रश्मि ऐसे सॉफ्टवेयर पर काम करता है जिसका निमार्ण स्वंय रंजीत ने ही किया है।

गूगल ने एंडरॉयड पी के नाम का किया खुलासा, नए ओएस का नाम होगा एंडरॉयड 9 पाई

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार रंजीत की रश्मि लिंग्विस्टिक इंटेलिजेंस के जरिये किसी बातचीत की भावनाओं को समझती है तथा एआई तकनीक के चलते उन बातों को डीकोड व एनालिसिस कर उनका रिस्पांस देती है। आपको बता दें कि रंजीत के पास एमबीए की डिग्री है और वह पिछले 15 साल से सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट का काम कर रहे हैं। रंजीत ने 2 साल के समय में सिर्फ 50 हजार रुपये लागत से रशिम को तैयार किया है।

rashmi-robot-1

इंसानों की तरह बोलने वाले इस रोबोट पर रंजीत अभी भी काम कर रहे हैं और इनका कहना है कि वह रश्मि को पूरी तरह से किसी इंसान की तरह हाई इंटेलिजेंस रोबोट बनाने में अभी कुछ समय और लगेगा। रंजीत की रश्मि को यूएई की सोफिया का देसी अवतार कहा जा रहा है। सोफिया का निर्माण हैन्सन रोबोटिक्स फर्म द्वारा किया गया है। यह रोबोट किसी खूबसूरत महिला जैसी दिखती है और सोफिया की इंटेलिजेंस, स्किल्स और सोशल प्रेजेंस के चलते इतना काबिल माना गया है कि उसे इंसानों की तरह वहां का नागरिक घोषित कर दिया गया है।

अभी करें अपने फोन में एंडरॉयड 9 पाई को डाउनलोड, जानें तरीका

सोफिया न सिर्फ बेहद ही स्मार्ट और इंटेलिजेंट है बल्कि इसके हाव भाव, चेहरे के रिएक्शन, बात करने का तरीका इत्यादि इंसानों जैसा है। सोफिया किसी आम इंसान की तरह हस सकती है, गुस्सा दिखाती है, उदास होती है तथा हैरान होकर भी दिखाती है। अनेंको सवालों के जवाब अपनी मैमोरी में सेफ रखने वाली सोफिया वैज्ञानिक व सामाजिक मुद्दों पर न सिर्फ अपनी राय देती है बल्कि समस्याओं का हल भी बताती है