आज भी हो सकता है रैनसमवेयर अटैक, जानें कैसे रखें अपने मोबाइल और कंप्यूटर को सुरक्षित

indian government issues serious bugs warning for google chrome Mozilla firefox users know how to protect yourself

जैसा कि मालूम है बीते शुक्रवार हैकर्स द्वारा एक बड़े सायबर हमले को अंजाम दिया गया था। इस सायबर अटैक में विश्व भर के 150 से ज्यादा देश प्रभावित हुए और 2 लाख से ज्यादा कंप्यूटर्स इसकी चपेट में आ गए। इसका असर भारत में भी देखने को मिला। यूपी, मध्य प्रदेश और गुजरात सहित कुछ राज्यों से शिकायतें मिली हैं। उत्तर प्रदेश, गोरखपुर के पार्क रोड स्थित यामाह एजेंसी की वेबसाइट हैक कर ली गई। वहीं उत्तर प्रदेश में ही आगरा से सायबर सेल तक दो रैनसमवेयर वायरस के मामले पहुंचें। इसके अलावा महाराष्ट्र के पुलिस विभाग ने भी रैनसमवेयर की बात स्वीकार की है और कहा कि वह इससे आंशिक तौर पर प्रभावित हुआ है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, सिस्टम को ठीक करने के लिए साइबर विशेषज्ञों को काम पर लगाया गया है।

हैकर्स ने मांगी फिरौती
यह हैक इतना खतरनाक था कि इसने पूरी तरह से ​कंप्यूटर सिस्टम पर अपना नियंत्रण कर लिया और फाइल खोलने लगे। इतना ही नहीं इन्होंने स्पष्ट तौर पर फिरौती की मांग की। भारतीय व्यापारियों ने बताया कि हैकर्स ने इसके बदले तीन दिन में 300 डॉलर्स जमा करने को कहा है। वहीं सूचना के अनुसार ब्रिटेन में भी राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवाएं (एनएचएस) ट्रस्ट व स्कॉटलैंड जैसी संस्थाएं प्रभावित हुईं और वहां भी हैकर्स ने भारी फिरौती की मांग की। इन संस्थाओं में रैनसमवेयर द्वारा कंप्यूटरों को नियंत्रण में लेने के बाद हैकर्स द्वारा 300 से 600 डॉलर बिटकॉइन के भुगतान की मांग की गई।

जानें क्यों हैकर्स से पासवर्ड की खरीदारी करता है फेसबुक

आज भी हो सकता है रैनसमवेयर
हालांकि जानकारों की मानें तो अब भी यह खतरा पूरी तरह से टला नहीं है और आज भी हैकर्स अपने कृत्यों को अंजाम दे सकते हैं। बीबीसी द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार ब्रिटेन सुरक्षा में दूसरा हमला आज हो सकता है ऐसे में लोगों को पहले से सतर्क रहने की आवश्यकता है।

सरकार ने​ किया आगाह, जल्द अपने स्मार्टफोन से अनइंस्टॉल करें ये 4 ऐप

कैसे बचें रैनसमवेयर अटैक से
जैसा कि मामूम है विश्व सहित भारत पर भी सायबर अटैक का खतरा है जो बेहद ही खतरनाक है। रैनसमवेयर नाम के इस अटैक से बचने के लिए लिए जरूरी है कि आप पहले से सचेत रहें और सुरक्षा के जरूरी उपाए करें।

वायरस हमेशा इंटरनेट के जरिए आएंगे ऐसे में जरूरी है कि आप किसी भी अनजान वेबसाइट या लिंक पर क्लिक न करें।

वहीं यदि ईमेल पर कोई अनजान ईमेल आईडी से मेल आता है तो उस बिना खोले डिलीट कर दें। य​दि खोल भी लिया है तो डाउनलोड न करें।

किसी भी लॉटरी व गिफ्ट के लालच में किसी लिंक पर क्लिक न करें।

अपनी जानकारी ईमेल व मैसेंजर पर शेयर न करें।

मोबाइल और कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर अपडेट रखें और अपडेटेड एंटी वायरस का प्रयोग करें।